Advertisement
Home » Business » TradeStock market may remain in panic for 2-3 days

चुनावी नतीजे बदल देंगे स्टॉक मार्केट की चाल, दो दिन बाद निवेश का सही समय

अगर परिणाम 'एग्जिट पोल' जैसे निकले तो अभी फिलहाल बाजार में गिरावट बढ़ने की आशंका है।

1 of

नई दिल्ली.

आज पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के नतीजे आ रहे हैं। ऐसे में शेयर बाजार में हलचल होना स्वाभाविक है। Globe Capital Market Ltd के वाइस प्रेसीडेंट मनीष कुमार के मुताबिक जिस तरह के रुझान देखने को मिल रहे हैं उससे आज यानी मंगलवार को मार्केट डाउन है। सेंसेक्स 300 प्वाइंट नीचे आ गया है। अगर चुनाव के परिणाम 'एग्जिट पोल' जैसे निकले तो अभी फिलहाल बाजार में गिरावट के और भी बढ़ने की आशंका है। लेकिन विपरीत स्थिती में अगर सब कुछ उम्मीद के मुताबिक रहा तो अच्छी तेज़ी के लिए भी तमाम अवसर मौजूद हैं। उनके मुताबिक बाजार में अभी अनिश्चतता का माहौल होने से कम से कम दो दिन हलचल बनी रहेगी। इसके बाद फ्रंटलाइन के शेयर्स में निवेश करने का बेहतरीन समय होगा। इसमें Nifty-50 की कंपनियां शामिल हैं। इन कंपनियों में TCS, RIL, SBI, Vedanta जैसी कंपनियां शामिल हैं।

 

दो दिन न करें कोई भी इंवेस्टमेंट

मनीष कुमार ने बताया कि दो दिन आप सिर्फ मार्केट को वॉच करें। अभी मार्केट में पैसा लगाना सही नहीं है। इस हफ्ते के अंत तक या अगले हफ्ते की शुरुआत में मार्केट में ग्रोथ का ट्रेंड शुरू होगा। ऐसे में यह निवेश का अच्छा समय होगा। लेकिन निवेश सिर्फ Nifty-50 कंपनियों में करने से ही फायदा होगा। इसके अलावा और कहीं निवेश अभी न करें। जब Nifty-50 कंपनियों में मूवमेंट आता है तभी मार्केट मूव करता है।

 

लोन लेके स्टॉक उठाया है तो हो सकता है नुकसान

मनीष कुमार ने बताया कि जब मार्केट में पैनिक का माहौल बनता है तो ब्रोकर अपने क्लाइंट पर स्टॉक बेचने का दबाव बनाते हैं। ऐसे में अधिकतर स्टॉक्स कम कीमत पर बेचने पड़ते हैं। अगर किसी ने लोन लेकर या मार्जिन पर स्टॉक उठाया हुआ है तो उसे नुकसान हो सकता है। लेकिन जिन लोगों ने अपना ही पैसा इंवेस्ट किया है उनके पैसे डूबने का कोई खतरा नहीं है। इन लोगों के लिए विन-विन वाली स्थिति है क्योंकि अब मार्केट अपवर्ड ग्रोथ का ट्रेंड आएगा।

 

आगे पढ़ें- इंट्रा-डे ट्रेडिंग करते हैं तो आज है अच्छा दिन

 

 

इंट्रा-डे ट्रेडिंग करते हैं तो आज है अच्छा दिन

मनीष कुमार ने बताया कि जब भी कोई इवेंट होता हैतो मार्केट के जानकार लोग अच्छी कमाई कर सकते हैं। डे-ट्रेडर्स के लिए इवेंट मार्केट अच्छा कहलाता है। इंवेस्टर्स को किसी बड़े इवेंट वाले दिन मार्केट से दूर रहना चाहिए। जो डे-ट्रेडर्स मार्केट को वॉच कर रहे हैं वे मार्केट डाउन होने पर स्टॉक खरीद-बेचकर अपना मुनाफा कर लेते हैं। वे मंदी के मार्केट में भी कमा सकते हैं। लेकिन डे-ट्रेडिंग रिस्क वाला काम है। ऐसे में लोगों को अगर इसकी अच्छी जानकारी हो तभी उन्हें इवेंट वाले दिनों में मार्केट में ट्रेडिंग करनी चाहिए।

 

आगे पढ़ें- उर्जित पटेल के इस्तीफे से निवेशकों में डर

 

 

 

उर्जित पटेल के इस्तीफे से निवेशकों में डर

आज वैश्विक स्तर पर क्रूड में गिरावट आने के बाद और अच्छी जीडीपी ग्रोथ के आंकड़े की वजह से भारत कि स्थिती निवेश के लिहाज से पूरी दुनिया में काफी अच्छी हो गई है लेकिन रिज़र्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल जी के इस्तीफे के बाद निवेशकों के मन में डर का माहौल भी बन सकता है जिसे देखना है कि समय रहते सरकार कैसे दूर करती है। सरकार की ओर से नए 'गवर्नरका चयन भी बाजार की चाल को काफी प्रभावित करेगा। जब रघुराम राजन का चुनाव हुआ था तब उनके पहले भाषण के बाद ही बाजार में एक तरह की जबरदस्त मजबूती देखी गई थी। उनके पहले भाषण के बाद रुपया भी निरंतर मजबूत होता चला गया और फिर दोबारा उस गिरावट वाले स्तर को नहीं छुआ।

 

 

इन क्षेत्रों में निवेश रहेगा सही

मनीष कुमार के मुताबिक जब तक सब कुछ स्पस्ट नहीं हो जाता तब तक काफी संभलकर कोई निवेश या ट्रेडिंग करें। चूंकि मौजूदा परिस्थितियों में डॉलर के मुकाबले रुपये के और कमजोर होने की आशंका है। ऐसी स्थिती में फार्मा, 'सॉफ्टवेयरऔर 'आईटी कंपनियोंका चयन एक अच्छा विकल्प हो सकता है ट्रेडिंग की लिहाज से।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement
Don't Miss