Home » Business » IT/StartupsWomen Entrepreneurs hardly get venture capital funding, but are more reliable borrowers

दुनिया का 66 फीसदी काम करती हैं महिलाएं, फिर भी सिर्फ 10 फीसदी आय ही आती है हिस्से में

Women’s Entrepreneurship Day: ऋण लेकर चुकाने के मामले में अधिक भरोसेमंद हैं महिला उद्यमी

1 of

नई दिल्ली. दुनियाभर में कुल कंज्यूमर पर्चेज में महिलाओं की हिस्सेदारी 85 फीसदी है। ग्लोबल खर्चों में 20 लाख करोड़ डॉलर यानी 1437 लाख करोड़ रुपए पर महिलाओं का नियंत्रण है। महिलाएं दुनिया का 66 फीसदी काम करती हैंइसमें पेड और अनपेड दोनों तरह के काम शामिल हैंइसके बावजूद उन्हें कुल वैश्विक आय में से सिर्फ 10 फीसदी ही मिलती है। विकसित और विकासशील देशों में महिलाएं लोकल और ग्लोबल इकोनॉमी में सक्रियता से भागीदारी कर रही हैं।

 

दो विपरीत हालात

Women’s Entrepreneurship Day की आधारिक वेबसाइट पर साझा की गई जानकारी के मुताबिक अमेरिका में तकरीबन एक करोड़ बिजनेस ऐसे हैं जिनपर मालिकाना हक महिलाओं का है। इससे लगभग 93.44 लाख करोड़ रुपए का रेवेन्यु आता है और 78 लाख लोगों को नौकरी मिलती है। अगले पांच में इस संख्या में 90 फीसदी की बढोतरी हो सकती है। सिर्फ अमेरिका में ही हर साल पांच लाख नए व्यापार शुरू हो सकते हैं। इसके बावजूद अमेरिका में हर तीन में से एक महिला गरीबी में जी रही है। वैश्विक स्तर पर अत्यधिक गरीबी में जीने वाले 13 लाख लोगों में से 70 फीसदी महिलाएं और लड़कियां हैं।

 

आगे भी पढ़ें- 

 

 

महिलाओं के बिजनेस को नहीं मिलती फंडिंग

अमेरिका में नए बिजनेस में से 38 फीसदी की स्थापना महिलाएं करती हैंलेकिन इनमें से सिर्फ 2-6 फीसदी को ही वेंचर कैपीटल फंड मिल पाता है। महिलाओं द्वारा स्थापित किए गए 350 टेक स्टार्टअप पर हुए एक हालिया सर्वे के मुताबिक 80 फीसदी महिलाओं ने अपनी सेविंग्स का इस्तेमाल करके अपना बिजनेस लॉन्च किया।

 

आगे भी पढ़ें- 

 

 

भरोसेमंद हैं महिलाएं

सर्वे के मुताबिक ऋण लेकर समय से लौटाने के मामले में महिलाएं भरोसेमंद हैं। महिलाएं 97 फीसदी रेट ऑफ रिटर्न के साथ माइक्रोलोन चुकाती हैं। महिलाएं जो कमाती हैंउसमें से 90 फीसदी अपने बच्चों की पढ़ाई और परिवार की जरूरतों में खर्च करती हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट