विज्ञापन
Home » Business » Export-ImportYour hair can make you rich, it's worth is in crores

2000 रुपए किलो बिकते हैं आपके झड़े-कटे बाल, खुद भी कर सकते हैं कारोबार

दुनियाभर में इसका सालाना कारोबार 5800 करोड़ रुपए का है

1 of

नई दिल्ली.

जिन टूटे-झड़े हुए बालों को आप कूड़े के ढेर में फेंक देते हैं, अगर उनकी कीमत जान जाएंगे तो आपकी हैरानी का ठिकाना नहीं रहेगा। इन्हीं बालों काे बाजार में 1200 से 2000 रुपए किलो के दाम में बेचा जाता है। इनका इस्तेमाल विग और हेयर ऐसेसरीज बनाने में किया जाता है। दुनियाभर में इसका सालाना कारोबार 5800 करोड़ रुपए का है। भारत और पाकिस्तान दुनिया में बालों के प्रमुख निर्यातक हैं। पाकिस्तान ने तो पिछले पांच साल में बालों को बेचकर 11.43 करोड़ रुपए कमाए हैं।

 

5800 करोड़ रुपए का है वैश्विक कारोबार

कटे, टूटे और झड़े बालों के सबसे बड़े खरीदार यूएस और जापान हैं। यहां की एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में इन बालों का इस्तेमाल होता है। चीन में भी बालों की मांग तेजी से बढ़ रही है। यह तीनों देश पाकिस्तान से प्रीमियम क्वालिटी के बाल इंपोर्ट करते हैं। वर्ष 2017 के दौरान दुनिया भर में मानव बाल के निर्यात का कुल कारोबार तकरीबन 5800 करोड़ रुपये रहा था।

 

कटे बालों से झड़े बालों की मांग ज्यादा

आप सोचते होंगे कि सलीके से काटे गए बालों की कीमत झड़े हुए बालों से ज्यादा होती होगी, लेकिन ऐसा नहीं है। झड़े हुए बालों की लंबाई ज्यादा होने के चलते इनकी मांग और कीमत ज्यादा रहती है। यही वजह है कि पिछले पांच साल में देश में सैलून में कटे हुए बालों के साथ-साथ कंघी से झड़े हुए बालों की बिक्री भी बढ़ी है। कंघी से झड़े बालों को ट्रांसप्लांट करना और इससे विग बनाना आसान होता है। इन टूटे और झड़े बालों को साफ करके एक तरह के कैमिकल में रखा जाता है। फिर इसे सीधा कर अलग-अलग डिजाइन के विग बनाने के लिए उपयोग में लाया जाता है।

 

 

भारत में 3000 करोड़ का कारोबार

देश में भी बालों से कमाई का कारोबार तेजी से बढ़ रहा है। इन बालों की मांग सबसे ज्यादा कोलकाता और चेन्नई में है, जहां इनका ट्रीटमेंट कर इन्हें चीन भेजा जाता है। तिरुपति बालाजी के मंदिर में तो लोग बालों का दान करते हैं। 2014 में यहां बालों की बिक्री से 229 करोड़ रुपए की आय हुई। व्यपारियों के मुताबिक इन बालाें का कारोबार तकरीबन तीन करोड़ रुपए का हो चुका है। सिर्फ मध्य प्रदेश में ही सालाना 100 करोड़ रुपए के बात बिकते हैं। हालांकि मध्य प्रदेश के बालों की क्वालिटी काफी रुखी होती है। सबसे अच्छे और चमकदार बाल गुजरात से आते हैं। दिल्ली-एनसीआर के कई विमेंस सैलून और पार्लर भी अपने काटे जाने वाले बाल 500 से 1000 रुपए किलो में बेचते हैं। कोलकाता में तो एक किलो बालों की कीमत 800 से 1200 रुपए तक है। इन बालों की डिमांड होली के दौरान बढ़ जाती है क्योंकि होली पर लाेग रंगीन विग पहनना पसंद करते हैं। ऐसे में बालों की कीमत इस समय 2000 रुपए प्रति किलो तक पहुंच जाती है।

 

 

आप भी कर सकते हैं कारोबार

ज्यादातर इलाकों में फेरीवाले घर-घर जाकर लोगों से झड़े हुए बाल खरीदते हैं। इसे वे स्थानीय व्यापरियों को बेच देते हैं। ये व्यापारी इन बालों को कोलकाता, चेन्नई और आंध्र प्रदेश में बेचते हैं। इन शहरों में विदेशी व्यापारी आते हैं, जो इन बालों को खरीदते हैं। कोलकाता से 90 फीसदी बालों को चीन भेजा जाता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन