चैनल्स पर अब रोबोट पढ़ेंगे न्यूज, शुरू हुआ ट्रायल रन

में कई कदम आगे निकल गया है। हाल ही में चीनी सरकार की Xinhua News Agency पर पहली बार रोबोट एंकर ने न्यूज पढ़ी। यह दुनिया का सबसे पहला आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस संचालित न्यूज एंकर है। चीन के जेझियांग प्रांत में चल रही पांचवीं World Internet Conference में इसे पेश किया गया। इसे न्यूज एजेंसी और चीनी सर्च इंजन कंपनी Sogou.com ने मिलकर तैयार किया है और इसे Xinhua की आधिकारिक रिपोर्टिंग टीम में शामिल किया गया है।

Money Bhaskar

Nov 10,2018 02:43:00 PM IST

नई दिल्ली। अब तक सिर्फ फैक्ट्रियों में ही रोबोट से काम लिया जाता था, लेकिन चीन इस मामले में कई कदम आगे निकल गया है। हाल ही में चीनी सरकार की Xinhua News Agency पर पहली बार रोबोट एंकर ने न्यूज पढ़ी। यह दुनिया का सबसे पहला आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस संचालित न्यूज एंकर है। चीन के जेझियांग प्रांत में चल रही पांचवीं World Internet Conference में इसे पेश किया गया। इसे न्यूज एजेंसी और चीनी सर्च इंजन कंपनी Sogou.com ने मिलकर तैयार किया है और इसे Xinhua की आधिकारिक रिपोर्टिंग टीम में शामिल किया गया है।

आप नहीं कर पाएंगे असली और नकली का फर्क

यह रोबोट एंड्रॉयड्स या ह्यूमैनॉइड्स की श्रेणी में आता है। यह ऐसे रोबोट होते हैं जो इंसानों जैसे दिखते हैं। हालांकि यह इस श्रेणी का सबसे उन्नत किस्म का रोबोट है। इसे एजेंसी में काम कर रहे एक पुरुष एंकर की शक्ल और आवाज दी गई है। इसीलिए इसके फेशियल एक्सप्रेशंस और एक्शन किसी असली इंसान जैसे ही हैं। किसी भी मशीन लर्निंग तकनीक के जरिए यह एआई एंकर लाइव ब्रॉडकास्टिंग वीडियो से लगातार जानकारी बटोर सकता है और लिखे हुए शब्दों को ठीक किसी प्रोफेशनल एंकर की तरह पढ़ सकता है।

बदल जाएगी न्यूजरूम की शक्ल

xinhuanet.com पर छपी रिपोर्ट के मुताबिक यह AI anchor पूरे दिन एजेंसी की ऑनलाइन वेबसाइट और कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर काम कर सकता है। इससे न सिर्फ न्यूज प्रोडक्शन कॉस्ट कम होगा बल्कि एजेंसी की कुशलता में भी इजाफा होगा।

आगे भी पढ़ें-

इंसानी चेहरे वाली पहली इंटेलीजेंट मशीन

कई आईटी कंपनियों ने एआई संचालित वर्चुअल असिसटेंट मार्केट में उतारे हैं इनमें Apple Siri, Google Assistant, Samsung Bixby and Microsoft Cortana शामिल हैं। यह सभी AI मशीनें चीनी न्यूज एजेंसी के AI एंकर जितनी ही इंटेलीजेंट हैंबस उनके पास इंसानी चेहरा नहीं है। यहां तक कि IBM का एआई सिस्टम Project Debater जिसने 18 जून को पहली बार एक ईवेंट में इंसानों के साथ डिबेट में भाग लिया थावह भी बिना चेहरे वाली एआई मशीन है।

 

गे भी पढ़ें-

 

 

फिल्मों में पॉपुलर है ह्यूमैनॉइड्स का कॉन्सेप्ट

Star WarsA.I. Artificial Intelligenceऔर Surrogates जैसे हॉलीवुड फिल्मों ने Androids या humanoids के कॉन्सेप्ट काे खूब लोकप्रियता दी है। Bicentennial Man फिल्म में तो कोर्ट एक ह्यूमैनॉइड को इंसानी स्टेटस दे देता है। यह एक तरीके से एच भी हो रहा है। सऊदी अरब में ह्यूमैनॉइड सोफिया को नागरिकता दी गई है।

X
COMMENT

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.