Home » Bazaar » Bullion MarketQ3 अर्निंग पर मार्केट की निगाहें, रियल्टी-ऑटो सहित ये सेक्टर दिखा सकते हैं 18% तक ग्रोथ

Q3 अर्निंग पर मार्केट की निगाहें, रियल्टी-ऑटो सहित ये सेक्टर दिखा सकते हैं 18% तक ग्रोथ

Q3 अर्निंग पर मार्केट की निगाहें, रियल्टी-ऑटो सहित ये सेक्टर दिखा सकते हैं 18% तक ग्रोथ Q3 अर्निंग पर मार्केट की निगाहें

Q3 अर्निंग पर मार्केट की निगाहें, रियल्टी-ऑटो सहित ये सेक्टर दिखा सकते हैं 18% तक ग्रोथ
नई दिल्ली. तीसरी तिमाही के लिए कंपनियों के नतीजे आने शुरू हो गए हैं। पहली और दूसरी तिमाही में कॉरपोरेट अर्निंग कमजोर रहने के बाद तीसरी तिमाही में इसके सुधरने का अनुमान है। मार्केट एक्सपर्ट्स का कहना है कि नोटबंदी का असर कम हो चुका है, जीएसटी से जो सेक्टर प्रभावित थे, उनमें तीसरी तिमाही के दौरान ही रिवाइवल दिखने लगा था। वहीं जीडीपी नंबर सुधरने का फायदा मिलेगा। फिलहाल रियल्टी, फर्टिलाइजर, प्राइवेट बैंक, मेटल और एफएमसीजी सेक्टर में 15 से 18 फीसदी तक ग्रोथ दिख सकती है। इन वजहों से बेहतर नतीजों का अनुमान एपिक रिसर्च के सीईओ मुस्तफा नदीम का कहना है कि अर्निंग के लिहाज से तीसरी तिमाही के नतीजे बेहतर रहने का अनुमान है। इसके पीछे कई वजह हैं। उन्होंने बताया कि नोटबंदी का असर अब कम हो चुका है। वहीं, जो सेक्टर जीएसटी से प्रभावित थे उनमें तीसरी तिमाही से ही रिवाइवल दिख रहा है। डिमांड पटरी पर आ चुकी है। ऐसे में उन सेक्टर्स से तीसरी तिमाही के लिए पॉजिटिव नंबर आने की उम्मीद है। ये सेक्टर दिखा सकते हैं 15-18% ग्रोथ कॉरपोरेट स्कैन डॉट कॉम के सीईओ विवेक मित्तल ने बताया कि प्राइवेट बैंक और मेटल के अलावा लॉजिसिटक सेक्टर से बेहतर नतीजे आने की उम्मीद है। वहीं, मुस्तफा नदीम का कहना है कि तीसरी तिमाही में रियल्टी, फर्टिलाइजर, एफएमसीजी और ऑटो मोबाइल सेक्टर से अच्छे नतीजे दिख सकते हैं। इनमें 15 से 18 फीसदी ग्रोथ की उम्मीद है। उन्हें सबसे ज्यादा उम्मीद रियल्टी सेक्टर से है। इन सेक्टर में मिक्स्ड नतीजे विवेक मित्तल के अनुसार जहां कुछ सेक्टर के नजीते बेहतर रहने की उम्मीद है, वहीं, आईटी और फार्मा सेक्टर में मिक्स्ड नतीजे देखने को मिल सकते हैं। इसके अलावा पीएसयू बैंकों में भी चुनिंदा बैंकों में ही बेहतर अर्निंग दिखने की उम्मीद है। रियल्टी में आगे भी अच्छी उम्मीद मुस्तफा नदीम का कहना है कि रियल्टी सेक्टर पिछले कुछ महीनों से बेहतर कर रहा है। आगे भी इस सेक्टर में तेजी बनी रहने की उम्मीद है। रेरा के प्रभाव में आने, प्रधानमंत्री आवास योजना, इंफ्रा में रिवाइवल और डिमांड फिर से पिक करने की वजह से सेक्टर का आउटलुक बेहतर हुआ है।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss