विज्ञापन
Home » Business Help » Global Trade » Global InvestmentThe jet-buying spree includes professors, service agents and software bosses to the company

रोचक / जेट को खरीदने की होड़ में प्रोफेसर, सर्विस एजेंट और साफ्टेवयर कंपनी के बॉस तक शामिल

बड़ी कंपनियों के बीच बिन बुलाए मेहमान की तरह कई लोगों ने बैंको को दिया है ऑफर

The jet-buying spree includes professors, service agents and software bosses to the company

नई दिल्ली. कभी हिंदुजा ग्रुप तो कभी एतिहाद या टाटा। न जाने कितनी कंपनियों के नाम जेट एयरवेज को खरीदने के लिए सामने आ चुके हैं। लेकिन सबसे रोचक है प्रोफेसर, सर्विस एजेंट और सॉफ्टवेयर कंपनी के पूर्व  बॉस जैसे बिन बुलाए मेहमान। इन सभी ने भी जेट को खरीदने के लिए बैंकों को ऑफर दिए हैं। दरअसल, यह सभी निवेशक अनसॉलिसिटेड बिडर्स हैं। यानी की ऐसे निवेशक जिन्हें बैंकों ने आमंत्रित नहीं किया है। वे अपनी मर्जी से निवेश करना चाहते हैं। अब जेट को कर्ज देने वाले बैंकों को तय करना है कि वे इनमें से कौन सा निवेशक बोली लगाने की स्थिति में नहीं है। 

 

बैंकों के ऐलान के बाद आई ऐसी बोलियां 


कुछ दिन पहले ही बैंकों ने ऐलान किया था कि वे कुछ अनसॉलिसिटेड बिडर्स से बात करेंगे, ताकि यह पता चल सके कि जेट एयरवेज की रिकवरी के लिए उनके पास क्या प्लान है। इसी के बाद से बैंकों के नए ऑफर्स आ गए हैं। 

यह भी पढ़ें : पर्यावरण संरक्षण के लिए आइडिया दो और पाओ 7 लाख रुपए

 


फ्लोरिडा में कॉलेज प्रोफेसर हैं शंकरन

 

जेट एयरवेज बोली के दौरान फ्लोरिडा के कॅालेज प्रोफेसर शंकरन रघुनाथन के नेतृत्व वाला समूह इसकी हिस्सेदारी खरीदने में लगा है। दरअसल वे कंपनी के माइनॉरिटी स्टेहोल्डर्स का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। जो कि काफी बड़ी राशि जुटाने में लगे हैं। शंकरन और उनका समूह 21,500 करोड़ रुपए जुटाने में लगा है। इसके अलावा कई छोटे और बड़े समूह इस कंपनी में भागादारी करना चाहते हैं।कुछ अन्य समूह और लोग हैं जो कि इसमें निवेश के इच्छुक हैं। उनमें आईटी फर्म सोनाटा सॉफ्टवेयर के चीफ एग्जिक्यूटिव रहे संजय विश्वनाथन भी शामिल हैं। हांलाकि वे अब स्वयं का व्यवसाय प्रारंभ कर चुके हैं और एडि पार्टनर्स के नाम से उनकी कंपनी व्यवसाय कर रही है। यह कंपनी भी जेट में भागीदारी की खरीद करने में दिलचस्पी ले रही है।

यह भी पढ़ें : पाकिस्तान के बुरे दिन, रमजान में दूध 190, सेब 400 और मटन 1100 रुपए किलो बिक रहा, हो रहे हैं प्रदर्शन

 

यह भी दौड़ में 


निवेशकों की सूची में जेसन अन्सवर्थ का नाम भी शामिल है। वे जेट एयरवेज में निवेश करने वाले पहले निवेशक हैं। हांलाकि उन्होंने अनुभवी कंसल्टेंट्स का नेटवर्क तैयार किया हुआ है साथ ही एयरलाइन प्रोफेशनल्स की एक स्टार्टअप टीम बनाई है जो कि नई एयरलाइन तक लांच कर सकती है। दूसरी ओर डारविन ग्रुप द्वारा कंपनी में 14,000 करोड़ रुपए निवेश करने का ऑफर दिया गया है। गौरतलब है कि एतिहाद एयरवेज की जेट में 24 प्रतिशत की भागीदारी है। वह भी जेट की बाकी हिस्सेदारी खरीदने का प्रयास कर रहा है। 

यह भी पढ़ें : सबसे स्वच्छ शहर में देश का पहला स्मार्ट पोलिंग बूथ, 12 प्रकार की सुविधाएं मिल रही हैं वोटर्स को

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss