Home » Budget 2018 » Taxationटैक्‍स फ्री इनकम के लिए कहां करें निवेश/5 investments with tax free income

जेटली ने आपके मुनाफे पर भी लगा दिया है टैक्‍स, पैसा बचाना है तो यहां लगाएं पैसा

जेटली ने आपके मुनाफे पर भी लगा दिया टैक्‍स, पैसा बचाना है तो इन 5 जगहों पर लगाएं पैसा

1 of

नई दिल्‍ली. बजट में वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने लॉन्‍ग टर्म कैपिटेल गेन लागने का प्रस्‍वताव किया है। इसके चलते अब अब म्‍युचुअल फंड या एसआईपी अब फायदे का सौदा नहीं रहा है। अगर आप म्‍युयुअल फंड के जरिए 1 साल से ज्‍यादा की लंबी अव‍धि में 1 लाख या इससे ज्‍यादा का रिटर्न हासिल करते हैं तो आपको सीधा 10 फीसदी का टैक्‍स देना होगा। अभी तक यह रिटर्न पूरी तरह से टैक्‍स फ्री था। 

 

हालांकि म्‍यूचुअल फंड का ऑप्‍शन खत्‍म होने के बाद भी कुछ ऐसे इन्‍वेस्‍टमेंट ऑप्‍शन अब भी मार्केट में मौजूद हैं, जहां आपको मिलने वाले रिटर्न पर किसी तरह का टैक्‍स नहीं देना होता है। आइए जानते हैं कुछ ऐसे ही ऑप्‍शन के बारे में.... 

 

 

सुकन्‍या समृद्धि योजना

सुकन्‍या समृद्धि योजना में इस वक्‍त टैक्‍स बचाने के साथ-साथ सबसे ज्‍यादा ब्‍याज मिल रहा है। इस वक्‍त इस योजना में 8.1 फीसदी ब्‍याज मिल रहा है। इस योजना के पूरी होने पर मिलने वाला पैसा पूरी तरह से टैक्‍स फ्री होता है। इस योजना में 1.5 लाख रुपए तक साल में जमा करके इनकम टैक्‍स भी बचाया जा सकता है। यह खाता किसी भी 10 साल से छोटी लड़की के नाम पर खोला जा सकता है। इसमें हर वर्ष न्‍यूनतम 1000 रुपए जमा करना जरूरी है। अधि‍कतम 1.5 लाख रुपए जमा कर इनकम टैक्‍स की छूट ली जा सकती है। यह खाता खुलने की तरीख से 21 साल तक चलाया जा सकता है। लेकिन अगर लड़की की शादी पर पैसे की जरूरत हो तो लड़की के 18 साल का होने पर भी पैसा निकाला जा सकता है।
 
 

पब्लिक प्रॉविडेंट फंड
पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (पीपीएफ) में निवेश पर मिलने वाला रिटर्न पूर तरह से टैक्‍स फ्री होता है। इस वक्‍त इस योजना में 7.6 फीसदी ब्‍याज मिल रहा है। यहां पर इन्‍वेस्‍टमेंट 15 साल के लिए करना होता है। सरकार समय-समय ब्‍याज दरों की घोषणा करती है। 15 साल के बाद मिला पूरा पैसा टैक्‍स फ्री होता है। पीपीएफ अकाउंट में साल में 1.5 लाख रुपए तक जमा करके इनकम टैक्‍स बचाया जा सकता है। 15 साल तक चलने वाले इस खाते में हर साल कम से कम 500 रुपए जमा कराना जरूरी होता है। 15 साल के बाद अगर आप चाहें तो इसे 5 साल के लिए बढ़ा भी सकते हैं। अगर जरूरत पड़े तो पीपीएफ से कुछ पैसों का विद्ड्राल कुछ समय बाद किया जा सकता है।
 
 

टैक्‍स फ्री बॉन्‍ड 
इस तरह के बॉन्‍ड सरकार जारी करती है। खासकर किसी योजना के लिए पैसा जुटाने के लिए इस तरह के बॉन्‍ड लेकर सरकार आती है। इसमें एक निश्चित रिटर्न का वादा तो होता ही है, साथ ही जो मच्‍यौरिटी के बाद जो रिटर्न मिलता है वह पूरी तरह टैक्‍स फ्री होता है। सरकार इन्‍हें टैक्‍स फ्री  बॉन्‍ड के नाम से ही जारी करती है। कुछ साल पहले सरकार ने इंफ्रा बांड जारी किया था, जो पूरी तरह से टैक्‍स फ्री था। इसे ऑमिर खान, करीना कपूर जैसे सेलिब्रिटी ने भी पैसा लगाया था। 

 

 

टैक्‍स फ्री एफडी 
कई बैंक ग्राहकों को टैक्‍स फ्री एफडी भी ऑफर कर‍ते हैं। इसके तरह की एफडी पर आपको जो रिटर्न मिलता है उसपर किसी तरह का टैक्‍स नहीं लगता है। हालांकि याद रखें कि हर एफडी पर मिलने वाला रिटर्न टैक्फ्री नहीं होता है। आमतौर पर टैक्‍स फ्री एफडी पर 6 फीसदी के आसपास रिटर्न मिलता है। इसकी लॉकइन अवधि 5 साल होती है। बीच में आप इस पैसे को नहीं लिकाल सकते हैं।    


 

NPS 
अगर आप बुढ़ापे की पेंशन के लिए इस सोशल सिक्‍यूरिटी स्‍कीम में पैसा लगाते हैं तो आप यहां भी रिटर्न पर एक हद तक टैक्‍स बचा सकते हैं। पहले एनपीएस के मन्‍योर होने पर मिलने वाले रिटर्न पर टैक्‍स देना होता था। लेकिन 2016-17 के बजट में सरकार ने आम लोगों को राहत देते हुए मच्‍यौर होने के बाद एनपीएस की 40 फीसदी की रकम निकासी पर टैक्‍स छूट दे दी है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट