बिज़नेस न्यूज़ » Budget 2018 » Railway/Infraबजट 2018 : 3 हजार रेलवे स्‍टेशनों पर लग सकते हैं एस्‍कलेटर, 1 हजार में लिफ्ट

बजट 2018 : 3 हजार रेलवे स्‍टेशनों पर लग सकते हैं एस्‍कलेटर, 1 हजार में लिफ्ट

रेल यात्रियों की सुविधाओं पर इस बजट में खासा ध्‍यान दिया जा सकता है।

1 of

नई दिल्‍ली. रेल यात्रियों की सुविधाओं पर इस बजट में खासा ध्‍यान दिया जा सकता है। उम्‍मीद है कि इस बजट-2018 में 3400 करोड़ रुपए से देशभर के प्रमुख स्‍टेशनों पर एस्कलेटर और लिफ्ट की सुविधा उपलब्‍ध कराई जाए। इसके तहत करीब 3000 एक्‍सलेटर और 1000 लिफ्ट लगाई जाएंगी। इसके बाद दिव्‍यांग लोगों सहित अन्‍य यात्रियों को स्‍टेशन पर आने जाने में किसी भी कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा। 

आम बजट 2018 - बजट से पहले आज 80 प्रोडक्ट पर घट सकता है GST रेट

 

मुंबई के स्‍टेशनों पर लगे एक्‍सलेटर

मुंबई के स्‍टेशनों पर 372 एस्‍कलेटर लगाए जा चुके हैं। इसके अलावा 2589 और एस्‍कलेटर लगाने की याेजना है जिससे ज्‍यादातर महत्‍वपूर्ण स्‍टेशन कवर हो जाएंगे। रेलवे मिनिस्‍ट्री के एक अधिकारी के अनुसार इतनी ज्‍यादा संख्‍या में स्‍कलेटर और लिफ्ट लगाने से इनकी लागत में कमी आ रही है। इस वक्‍त एक एस्‍कलेटर करीब 1 करोड़ रुपए और एक लिफ्ट करीब 40 लाख रुपए में लग रही है। 

 

Live Budget 2018 News - आम बजट 2018 से जुड़ी हर खबर

 

रेलवे ने स्‍कलेटर लगाने का फार्म्‍यूला किया आसान 

रेलवे ने स्‍कलेटर लगाने के लिए फार्म्‍यूलेे में बदलाव किया है। बदले मानकों से ज्‍यादा शहरी और सेमी शहरी स्‍टेशनों पर एस्‍कलेटर लगाए जा सकेंगे। रेलवे स्‍टेशनों की आय और यात्रियों की संख्‍या के हिसाब से एस्‍कलेटर लगाने का फैसला करती है।

 

जानिये आम बजट से उम्मीदें की ताज़ा खबर

 

अब ये हैं मानक

अगर किसी स्‍टेशन पर 25 हजार यात्री साल में आते हैं, तो वहां पर एस्‍कलेटर लगाया जा सकता है। लेकिन शहरी क्षेत्र में इन स्‍टेशनों की आय सालाना 8 करोड़ रुपए और सेमी शहरी क्षेत्र में 6 करोड़ रुपए सालाना होनी चाहिए। 


 

रेल बजट 2018 में सुरक्षा और यात्री सुविधाओं पर रह सकता है फोकस 

इस अधिकारी के अनुसार इस बार रेल बजट 2018 में सुरक्षा और यात्री सुविधाओं पर फोकस रह सकता है। इसके तहत ही स्‍टेशनों पर एस्‍कलेटर और लिफ्ट सहित अन्‍य सुविधाओं के लिए आवंटन बढ़ाया जा सकता है। रेल बजट 2018 आम बजट 2018 के साथ ही 1 फरवरी को पेश होगा। 

 

Latest Update On - Union Budget 2018 in Hindi

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट