बिज़नेस न्यूज़ » Budget 2018 » State/Election Statesबजट 2018: कांग्रेस बोली फैन्‍सी स्‍कीम वाला, बीजेपी ने कहा हर तबके का रखा ध्‍यान

बजट 2018: कांग्रेस बोली फैन्‍सी स्‍कीम वाला, बीजेपी ने कहा हर तबके का रखा ध्‍यान

इस बजट को कांग्रेस ने बेकार और फैन्‍सी स्‍कीम वाला बताया

1 of

नई दिल्‍ली. वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने देश का आम बजट 2018 पेश क‍र दिया है। इस बजट को जहां कांग्रेस ने बेकार और फैन्‍सी स्‍कीम वाला बताया, वहीं बीजेपी ने इसे इकोनॉमी को बूस्‍ट देने वाला और हर तबके का ध्‍यान रखने वाला बजट करार दिया। बजट पर पीएम मोदी ने बजट 2018 को देश की नींव मजबूत करने वाला करार दिया। उन्‍होंने कहा कि यह बजट किसान, आम आदमी, कारोबार और विकास के हित में काम करने वाला है। बजट में हर सेक्‍टर पर ध्‍यान दिया गया है और इससे इकोनॉमिक ग्रोथ में तेजी आएगी।

 

क्‍या कहा राहुल गांधी ने 

वहीं बजट पर आलोचना व्‍यक्‍त करते हुए कांग्रेस प्रेसिडेंट राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी सरकार को 4 साल हो गए हैं। अभी तक किसानों के लिए फसल के उचित दाम के वादे किए जा रहे हैं, फैन्‍सी स्‍कीम लाई जा रही हैं जिनका बजट उनसे मैच नहीं करता, युवाओं के लिए नौकरियां नहीं हैं। उन्‍होंने यह भी कहा कि शुक्र है कि अब इस सरकार का केवल 1 साल ही बचा है। वहीं कांग्रेस केनेशनल स्‍पोक्‍सपर्सन मनीष तिवारी ने टिप्‍पणी की कि 4 सालों तक पूंजीपतियों, अमीरों और खास आदमी की सेवा करने के बाद अचानक से चुनावी साल में सरकार को महसूस हुआ कि वह किसानों, श्रमिकों, छोटे कारीगरों और सैलरी क्‍लास को बेवकूफ बना सकती है कि वह उनकी भी परवाह करती है।

 

चिदंबरम ने उठाए सवाल 

पूर्व वित्‍त मंत्री और कांग्रेसी नेता पी चिदंबरम ने टिप्‍पणी की कि कृषि क्षेत्र की चिंता अभी भी बनी हुई है। मेडिकल हेल्‍थकेयर एक बड़ा जुमला है और प्राइवेट इन्‍वेस्‍टमेंट बढ़ाने के लिए बजट में कुछ नहीं है। एवरेज टैक्‍सपेयर के लिए कोई राहत नहीं है। उन्‍होंने सवाल किया कि क्‍या वाकई वित्‍त मंत्री इन मुद्दों पर गंभीर हैं?

 

केजरीवाल ने कहा- फिर हुआ सौतेला व्‍यवहार, ममता बनर्जी ने कहा- नहीं है जन हितैषी 

कांग्रेस के अलावा अन्‍य विपक्षी दल भी बजट से नाखुश दिखे। राजधानी दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वित्‍त मंत्री पर दिल्‍ली के साथ सौतेला व्‍यवहार करने का आरोप लगाया। उन्‍होंने कहा कि मैंने राजधानी दिल्‍ली में महत्‍वपूर्ण इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर प्रोजेक्‍ट्स के लिए वित्‍तीय सहायता की उम्‍मीद की थी। लेकिन पेश किए गए बजट से मैं निराश हूं। केन्‍द्र ने फिर से दिल्‍ली के साथ सौतेला व्‍यवहार किया है। पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि बजट में कुछ भी नया नहीं था। यह जन हितैषी बजट नहीं है। वित्‍त मंत्री ने बेरोजगारी पर कुछ नहीं कहा। आगे कहा कि मीडियम और स्‍मॉल स्‍केल सेक्‍टर अभी भी दिक्‍कतों का सामना कर रहे हैं। यह शर्मनाक है कि बजट में केवल 1 फीसदी एजुकेशन सेस की पेशकश की गई।

 

दिखा दिया केवल पूंजीपतियों के पक्ष में है बीजेपी- अखिलेश यादव 

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने बयान दिया कि चुनाव से पहले अपने अंतिम बजट में बीजेपी ने दिखा दिया कि वह केवल पूंजीपतियों के पक्ष में है। यह बजट ट्रेडर्स, महिला, वर्किंग क्‍लास और आम आदमी के मुंह पर तमाचा है। गरीब, किसान और श्रमिक निराश हैं। इसमें नागरिकों की परेशानियों को दरकिनार किया गया है। पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने बजट में किसानों और ग्रामीणों के लिए किए गए उपायों को नाकाफी बताया। उन्‍होंने कहा कि वित्‍त मंत्री ने किसानों के लिए बेहतर करने की कोशिश की है लेकिन किसानों और ग्रामीणों की समस्‍याएं बहुत अधिक हैं। 

 

भारत निर्माण वाला बजट- धर्मेन्‍द्र प्रधान 

विपक्षी दलों के विपरीत बीजेपी के सभी नेता बजट से सहमत दिखे। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने इसे एक मजबूत बजट बताते हुए कहा कि यह बजट एक नए भारत के निर्माण के लिए है। यह देश के युवा, महिलाओं, किसानों, ग्रामीण भारत और शहरों में रहने वाले गरीब लोगों के लिए है। मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कृषि देश की लाइफलाइन है। मैं रबी फसलों की लागत का 1.5 गुना मिनिमम सपोर्ट प्राइस देने के सरकार के फैसले का स्‍वागत करता हूं। यह कदम किसानों की आय बढ़ाने में मदद करेगा।

 

इकोनॉमी को मिलेगा बूस्‍ट 

केन्‍द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि यह एक विशाल बजट है। गरीबों, किसानों और आदिवासियों के लिए बहुत सी घोषणाएं की गईं। यह बजट भारत को एक ग्‍लोबल इकोनॉमिक पावर के रूप में मजबूती भी प्रदान करेगा। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इसे एक बैलेंस्‍ड बजट करार देते हुए कहा कि इस बजट में हर तबके का ध्‍यान रखा गया है। इसका फोकस मुख्‍य रूप से किसानों और गरीबों की हेल्‍थ सर्विसेज पर है। देश की इकोनॉमी को भी इससे बूस्‍ट मिलेगा।

 

10 करोड़ परिवारों के लिए 5 लाख रु. का मेडिकल इंश्‍योरेंस बड़ा कदम

केन्‍द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बजट को ऐतिहासिक बताया। उन्‍होंने कहा कि 10 करोड़ परिवारों के लिए 5 लाख रुपए का मेडिकल इंश्‍योरेंस एक बड़ा कदम है। बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने भी इस मेडिकल इंश्‍योरेंस को एक बड़ी पहल बताया। केन्‍द्रीय वस्‍त्र, सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्‍मृति ईरानी ने कहा कि यह बजट गरीबों, किसानों के विकास और उनकी आय बढ़ाने, बुजुर्गों और महिलाओं के लिए है। वहीं उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने भी बजट में बेहतरीन योजनाएं पेश करने के लिए प्रधानमंत्री और वित्‍त मंत्री को बधाई दी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट