बिज़नेस न्यूज़ » Auto » Industry/ Trendsये हैं नैनो से भी फ्लॉप कारें, फिर भी बंद करने को राजी नहीं कंपनियां

ये हैं नैनो से भी फ्लॉप कारें, फिर भी बंद करने को राजी नहीं कंपनियां

नैनो देश की अकेली ऐसी कार नहीं है, जिसके बुरी तरह फ्लाप होने के बाद भी कंपनी उसे बंद करने को राजी नहीं है

1 of

नई दिल्‍ली. ऑटो बॉडी सियाम के मुताबिक, टाटा नैनो की बिक्री अपने रिकॉर्ड लो लेवल पर पहुंच गई है। देश भर में कारों की अक्‍टूबर की टोटल बिक्री पर नजर डालें तो टाटा की फ्लैगशिप कार को देशभर में खरीददार नहीं मिल रहे हैं। श्रीलंका और बांग्‍लादेश जैसे पड़ोसी देशों में कभी धूम मचाने वाली इस कार का एक्‍सपोर्ट भी अब जीरे के लेवल पर पहुंच गई है। हालांकि इसके बाद भी कंपनी नैनो का प्रोडक्‍शन बंद नहीं कर रही है।   

 

लिस्‍ट में अकेली नहीं है नैनो 
हालांकि सियाम के डाटा पर नजर डालें तो नैनो देश की अकेली ऐसी कार नहीं है, जिसके बुरी तरह फ्लाप होने के बाद भी कंपनी उसे बंद करने को राजी नहीं है। महिंद्रा  और फोर्ड जैसी कंप‍नियों के कई मॉडल्‍स को भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। इन कारों की बिक्री भी 100 यूनिट प्रतिमाह से नीचे पहुंच गई है। आइए जानते हैं कुछ ऐसी ही कंपनियों के बारे में, सुपर फ्लाप होने के बाद भी जिनका प्रोडक्‍शन ऑटो कंपनियां बंद करने को राजी नहीं हैं। 

 

नोट: खबर में दी गई कारों की सेल्‍स का आंकड़ा अक्‍टूबर 2017 का है और इसे इंडस्‍ट्री बॉडी सियाम ने जारी किया है..  

 

आगे पढ़ें- पहली कार के बारे में.... 

मॉडल- नैनो 
कंपनी- टाटा मोटर्स 
अक्‍टूबर की सेल्‍स- 57 यू‍निट 
एक्‍सपोर्ट- 0 

मॉडल:  वाइब 
कंपनी: महिंद्रा एंड महिंद्रा 

सेल्‍स- 0   यू‍निट

एक्‍सपोर्ट:

 

नोट: पिछले 6 महीने में कंपनी इस कार की सिर्फ 1 यूनिट ही बेच सकी है।  

मॉडल: पल्‍स 
ब्रांड: रेनो 
 सेल्‍स: 0 यूनिट 
एक्‍स्‍पोर्ट: 0 

 

नोट: कंपनी ने पिछले साल अक्‍टूबर में पल्‍स की 9 यूनिट बेची थीं 

मॉडल: वेरिटो 
कंपनी: महिंद्रा एंड महिंद्रा 
सेल्‍स: 33 यूनिट
एक्‍स्‍पोर्ट: 0  

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट