बिज़नेस न्यूज़ » Auto » Industry/ TrendsBullet बेचकर Tesla को छोड़ा पीछे, 7 साल में 10 हजार बन गए 2.5 लाख

Bullet बेचकर Tesla को छोड़ा पीछे, 7 साल में 10 हजार बन गए 2.5 लाख

आयशर मोटर्स को भारत के अलावा वि‍देशों में खासतौर से मोटरसाइकि‍ल्‍स ब्रांड रॉयल एनफील्‍ड के लि‍ए जाना जाता है।

1 of

नई दि‍ल्‍ली। आज लगभग हर देश में इलेक्‍ट्रि‍क कारों को बनाने पर जोर दि‍या जा रहा है। लेकि‍न अमेरि‍का की कंपनी टेस्‍ला ने इस बात को कई साल पहले ही भांप लि‍या था। टेस्‍ला को आज इलेक्‍ट्रि‍क कारों की दौड़ में सबसे आगे माना जाता है। शायद यही वजह है कि‍ इलॉन मस्‍क की कंपनी टेस्‍ला को वॉल स्‍ट्रीट पर चाहने वालों की संख्‍या बढ़ रही है। हालांकि‍, जहां टेस्‍ला के शेयर्स वॉल स्‍ट्रीट के इन्‍वेस्‍टर्स को फायदा पहुंचा रहे हैं वही भारत की एक कंपनी इन्‍वेस्‍टर्स को रि‍टर्न देने के मामले इससे भी आगे नि‍कल गई है। यहां हम आयशर मोटर्स की बात कर रहे हैं। आयशर मोटर्स को भारत के अलावा वि‍देशों में खासतौर से मोटरसाइकि‍ल्‍स ब्रांड रॉयल एनफील्‍ड के लि‍ए जाना जाता है। 

 

कि‍तना दि‍या रि‍टर्न

 

साल 2010 के मध्‍य में वॉल स्‍ट्रीट पर टेस्‍ला को लि‍स्‍ट कि‍या गया। इसके बाद, टेस्‍ला इन्‍वेस्‍टर्स की फेरवेट कंपनी बन गई। टेस्‍ला ने लि‍स्‍ट होने के बाद से अब तक करीब 1,533 फीसदी का रि‍टर्न दि‍या। हालांकि‍, वहीं आयशर मोटर्स भी अपने इन्‍वेस्‍टर्स को कमाई करा रही थी और रि‍टर्न के मामले में वह टेस्‍ला से आगे नि‍कल गई। बीते कुछ सालों में रॉयल एनफील्‍ड की सेल्‍स बढ़ने की वजह से आयशर मोटर्स इसी अवधि‍ में 3,270 फीसदी का रि‍टर्न दि‍या।

 

आगे पढ़ें... 

 

रि‍टर्न को इस तरह से समझें

 

यदि‍ हम 19 नवंबर की तारीख बेस मानें तो 19 नवंबर 2010 यानी 7 साल पहले आयशर मोटर्स के एक शेयर की कीमत 1212 रुपए थी जोकि‍ आज खबर लि‍खने तक 30,500 रुपए हो गई है। इस हि‍साब से अगर कि‍सी व्‍यक्‍ति‍ ने 7 साल पहले 10 हजार रुपए का इन्‍वेस्‍टमेंट कि‍या होता तो आज उसका यह इन्‍वेस्‍टमेंट 2.5 लाख रुपए तक हो जाता।  

 

आगे पढ़ें...

 

बढ़ रही है एनफील्‍ड की सेल्‍स

 

आयशर मोटर्स के टू-व्‍हीलर डि‍वि‍जन रॉयल एनफील्‍ड की सेल्‍स अक्‍टूबर 2017 में 69,492 यूनि‍ट्स रही जबकि‍ पि‍छले साल की इसी अवधि‍ में यह आंकड़ा 59,127 यूनि‍ट्स का था। इसकी सेल्‍स में 18 फीसदी की ग्रोथ रही। इसके अलावा, अप्रैल-अक्टूबर 2017-18 रॉयल एनफील्‍ड की सेल्‍स 22 फीसदी बढ़कर 4,46,318 यूनि‍ट्स रही। 


आगे पढ़ें...

 

रॉयल एनफील्‍ड ने बदला तरीका

 

रॉयल एनफील्‍ड ने कई प्रमुख स्‍तरों पर बदलाव कि‍ए हैं। इसमें लंबे समय से प्रोडक्‍ट फॉल्‍ट जैसे ऑयल लीकेज और आफटर सेल्‍स एक्‍सपीरि‍यंस में सुधार करना है। रॉयल एनफील्‍ड ने 2015 में रि‍टेल स्‍टोर्स को पूरी तरह बदला और ब्रैंडेड अपैरल, एक्‍सेसरीज और राइडिंग गि‍यर की पूरी रेंज पेश की। इसके अलावा, अपने एक्‍सक्‍लूजि‍व स्‍टोर्स को 13 से ज्‍यादा देशों में खोल कर इंटरनेशनल मार्केट में अपनी उपस्‍थि‍ति‍ मजबूत की। वहीं, रॉयल एनफील्‍ड ने Interceptor 650 और Continental GT 650 को भी पेश कि‍या।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट