• Home
  • Foreign car brands huge investment in Indian auto sector amidst economic slowdown

ऑटो /विदेशी कार ब्रांड का भारत में जोरदार निवेश, रिटर्न में आ रही भारी डिमांड

  • देशी कार मैन्युफैक्चरिंग आर्थिक सुस्ती के चलते निवेश करने से बच रही हैं।

Moneybhaskar.com

Jan 13,2020 12:31:32 PM IST

नई दिल्ली. देशी कार मैन्युफैक्चरिंग कंपनियां जहां एक तरफ आर्थिक सुस्ती के चलते निवेश करने से बच रही हैं। वहीं दूसरी तरफ विदेशी कार मैन्युफैक्चरिंग प्लांट आर्थिक सुस्ती के बीच भारत में जोरदार निवेश कर रही हैं। साथ ही उन्हें निवेश का रिटर्न जोरदार कार बिक्री के तौर पर हासिल हो रहा है। आलम यह है कि कार एमजी मोटर्स, किआ जैसे कंपनियां कार की डिमांड को पूरा नहीं कर पा रही हैं, जिसके चलते यह कंपनियां नए मैन्युफैक्चरिंग प्लांट खोलने पर विचार कर रही हैं।

जल्द भारत आएंगी ग्रेट वॉल और पीएसए समूह

किआ मोटर्स और एमजी मोटर्स के अलावा साल 2020 में फ्रांस कार मैन्युफैक्चरिंग समूह पीएसए भारत में एंट्री करने जा रही है। पीएसए समूह इस साल अपनी कार C5 एयर क्रॉस एसयूवी लॉन्च करने जा रहा है। साथ ही चीन की एक अन्य कार निर्माता कंपनी ग्रेट वॉल भी भारत में निवेश करने का ऐलान किया है। ग्रेट वॉल महाराष्ट्र और तेलंगाना स्थित जनरल मोटर्स के प्लांट को खरीदने को लेकर बातचीत के दौर में है। बता दें कि एमजी मोटर्स की हेक्टर कार की भारत में जोरदार डिमांड देखी जा रही है। इसके चलते कंपनी भारत में दूसरा मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट खोलने पर विचार कर रही है। एमजी मोटर्स इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर राजीव चाबा ने ऐलान किया कि प्लांट को इस साल के अंत तक शुरू किया जा सकता है। एमजी मोटर्स ने साल 2021 तक भारत में करीब 5000 करोड़ रुपए के निवेश का ऐलान किया था। कंपनी की पहली कार भारत में हेक्टर रही। जिसकी बिक्री जून 2019 में शुरू हुई। कंपनी ने अब तक करीब 30 हजार हेक्टर कार की बिक्री की है। साथ ही कंपनी अगले माह इलेक्ट्रिक एसयूवी जेडएस पेश करने जा रही है। वहीं 2021 तक कंपनी दो अन्य कार लॉन्च करेगी।

एमजी मोटर्स का सालाना 80 हजार कार प्रोडक्शन का लक्ष्य

कंपनी को उम्मीद है कि गुजरात स्थित जनरल मोटर्स फैक्ट्री के अधिग्रहण के बाद कंपनी की सालाना कार मैन्युफैक्चरिंग क्षमता 80 हजार यूनिट हो जाएगी। चाबा को उम्मीद है कि गुजरात का हलोल स्थिक प्लांट अगले दो साल में पूरी क्षमता के साथ काम करना शुरू कर देगा। एमजी मोटर्स ने पिछले तीन माह में एक औसतन हर एक माह 3000 यूनिट कार की बिक्री की। चाबा के मुताबिक अगर एक अप्रैल 2020 को नए उत्सर्जन मानक लागू होने के बाद भी कार की बिक्री में डिमांड जारी रहता है, तो कंपनी कार के प्रोडक्शन बढ़कर 4000 यूनिट प्रतिमाह करेगी साथ ही भारत से हेक्टर का निर्यात भी शुरू करेगी।

X

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.