Home » Auto » Industry/ Trendscars become costlier upto rs 60 k after new safety features implementation

60 हजार तक महंगी हो सकती हैं कारें, अप्रैल 2019 से लागू होंगे नए सेफ्टी नॉर्म्‍स

छोटी कारें और कई वेरिएंट के बेस मॉडल की कीमतों में इजाफा हो सकता है। इसके तहत कारें 60 हजार रुपए तक महंगी हो सकती हैं।

1 of
नई दि‍ल्‍ली.    केंद्र सरकार अप्रैल 2019 से कारों के लिए नए सेफ्टी नॉर्म्स लागू करने जा रही है। इसके बाद छोटी कारें और कई वेरिएंट के बेस माॅडल 60 हजार रुपए तक महंगे हो सकते हैं। रोड ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री जल्द ही नोटिफिकेशन जारी कर सकती है। आॅटोमोबाइल इंडस्ट्री का कहना है कि नए फीचर्स लागू होने के बाद कारों की कीमत बढ़ना तय है।  
 
 
 

कीमतों में हो सकता है इजाफा

- PwC (price waterhouse cooper) के ऑटोमोबाइल पार्टनर अब्‍दुल मजीद के मुताबि‍क- अमेरि‍का, ब्रि‍टेन और ज्‍यादातर यूरोपीय देशों में कई सालों से इन सेफ्टी फीचर्स को मैंडेटरी कि‍या गया है। एडि‍शनल फीचर्स को शामि‍ल करने से कारों की कॉस्‍ट में 20 से 60 हजार रुपए तक का इजाफा हो सकता है। 
- सोसाइटी ऑफ इंडि‍यन ऑटोमोबाइल मैन्‍युफैक्‍चरर्स (सिआम) के डीजी वि‍ष्णु माथुर ने कहा-‍ बेस मॉडल में सेफ्टी फीचर्स बढ़ाने से बेशक कीमतों में इजाफा होगा। यह इजाफा रॉ मटीरि‍यल, फॉरेक्‍स रेट और सप्‍लाई चेन में कि‍ए जाने वाले बदलाव पर डिपेंड करता है।
 

एयरबैग प्रोटेक्‍शन से बढ़ सकती है सबसे ज्‍यादा कॉस्‍ट

- वि‍ष्‍णु माथुर ने कहा- अक्‍टूबर 2019 में ऑटोमोबाइल इंडस्‍ट्री को क्रैश टेस्‍ट के नॉर्म्‍स को पूरा करने के लि‍ए एयरबैग्‍स को शामि‍ल करना ही है, लेकि‍न अब इसे छह महीने पहले ही करना पड़ेगा। एडि‍शनल फीचर्स की वजह से बढ़ने वाली कॉस्‍ट पर टैक्‍स लगेगा, जि‍ससे कीमतें ज्‍यादा हो जाएंगी। गौरतलब है कि‍ वॉर्निंग हाॅर्न के साथ एयरबैग फि‍ट करने की कॉस्ट करीब 10 हजार रुपए होती है।
 

मैंडेटरी हो जाएंगे यह सेफ्टी फीचर्स

- कारों को ज्‍यादा सेफ करने के लि‍ए रोड ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री नए रूल्स को मैंडेटरी करने जा रही है। इसके तहत 1 जुलाई 2019 के बाद मैन्‍युफैक्‍चर हुईं सभी कारों में एयरबैग, सीट बेल्‍ट रिमाइंडर, 80 कि‍मी. प्रति‍ घंटा से ज्‍यादा स्‍पीड होने पर अलर्ट सि‍स्‍टम, रिवर्स पार्किंग सेंसर और इमरजेंसी के लि‍ए सेंट्रल लॉकिंग सि‍स्‍टम की जगह मैनुअल ओवर राइड कम्पलसरी हो जाएंगे।
 

BS-6 से भी बढ़ेंगी कीमतें

- सेफ्टी फीचर्स के अलावा कारों की कीमतों में बीएस-6 एमि‍शन नॉर्म्‍स का भी असर पड़ेगा। ऑटोमोबाइल इंडस्‍ट्री को मौजूदा बीएस-4 से सीधे बीएस-6 पर जाना है। रि‍सर्च एजेंसी इकरा के मुताबि‍क, ऐसा होने से पेट्रोल कारों की कीमतें 30 हजार रुपए तक और डीजल कारों की कीमतें 80 हजार रुपए से 1 लाख रुपए तक बढ़ सकती हैं।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट