• Home
  • Tech auto
  • Bicycle mechanics are most lacking in India, Striders will give training programs, jobs will be created on a large scale: Rahul Gupta

साइकिल मैकेनिक्स की भारत में सबसे ज्यादा कमी, स्ट्राइडर देगी ट्रेनिंग, बड़े पैमाने पर पैदा होंगी नौकरियां : राहुल गुप्ता

  • कंपनी अगले तीन साल में 10 करोड़ रुपए का भारत में निवेश करेगी।  
  • भारत में नहीं बनते हैं साइकल के गियर, जापान से करना होता है इंपोर्ट 

Saurabh Kumar Verma

Mar 18,2020 04:11:14 PM IST

नई दिल्ली. टाटा इंटरनेशनल की सब्सिडियरी कंपनी स्ट्राइडर साइकिल (stryder cycle) भारत में अपने पोर्टफोलियो का विस्तार कर रही है। इसके लिए कंपनी अगले तीन साल में 10 करोड़ रुपए का निवेश करेगी। योजना के तहत लुधियाना में नया साइकिल प्लांट खोला जाएगा। साथ ही नए रिटेल आउटलेट खोलने की योजना है। स्ट्राइडर साइकिल के बिजनेस हेड राहुल गुप्ता ने मनी भास्कर को बताया कि कंपनी नए साल के अंत तक एक नई साइकिल लॉन्च करने जा रही है।

बनेंगे रोजगार के नए मौके

गुप्ती की मानें, तो भारत साइकिल का बड़ा मार्केट है, जहां प्रीमियम सेगमेंट की साइकिल (गियर वाली साइकिल) में सबसे ज्यादा ग्रोथ देखी जा रही है। लेकिन राहुल गुप्ता बताते हैं कि दिक्कत यह है कि भारत में प्रीमियम बाइक के मैकेनिक्स की सबसे ज्यादा कमी है। जिसे दूर करने के लिए स्ट्राइडर कंपनी भारत में एक ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू करेगी, जिससे बड़ी तादाद में रोजगार के नए मौके बनेंगे।

भारत में नहीं बनते साइकिल के गियर

स्ट्राइडर कंपनी के पोर्टफोलियो में मौजूदा वक्त में करीब 150 साइकिल मॉडल है। इसमे से करीब 10 फीसदी प्रीमियम साइकिल हैं। स्ट्राइडर कंपनी ने भारत में स्ट्राइडर ब्रांड के साथ एंड्री की थी। हालांकि हाल ही में कंपनी ने क्वांटीनो ब्रांड लॉन्च किया है, जिसके अंतर्गत प्रीमियम बाइक को पेश किया जाता है। स्ट्राइडर के सभी ब्रांड मेड इन इंडिया है। मतलब इनकी असेंबलिंग भारत में होती है। गुप्ता की मानें, तो भारत में साइकिल गियर नहीं बनते है। ऐसे में साइकिल गियर का जापान से इंपोर्ट करना होता है। स्ट्राइडर का 50 हजार साइकिल प्रति माह का प्रोडक्शन है। इसे अगले 5 साल में तीन गुना करने की योजना है।

भारत में साइकिल ट्रांसपोर्ट का इंफ्रास्ट्रक्चर मौजूद नहीं

राहुल गुप्ता की मानें, तो भारत में वेस्टर्न देशों के मुकाबले साइकिल के ट्रांसपोर्ट के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर मौजूद नहीं है। यह उस वक्त है, जब भारत का करीब 60 से 70 फीसदी मजदूर वर्ग साइकिल का इस्तेमाल कर रहा है। ऐसे में स्ट्राइडर ने ट्रेडिशनल और प्रीमियम बाइक को मिलाकर नए तरह की साइकिल जंबो लॉन्च की गई। यह ट्रेडिशनल और प्रीमियम साइकिल का मिक्स वेरिएंट है। स्ट्राइडर का भारत में 2 से 3 फीसदी मार्केट शेयर है।

X

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.