बिज़नेस न्यूज़ » Auto » Industry/ Trendsअगर सेकंड हैंड कार का पेंट एक जैसा नहीं है, तो समझ लें धोखा हो रहा है, खरीदने से पहले चेक करें 5 चीजें

अगर सेकंड हैंड कार का पेंट एक जैसा नहीं है, तो समझ लें धोखा हो रहा है, खरीदने से पहले चेक करें 5 चीजें

यहां हम आपको कुछ ऐसी ही Tips के बारे में बता रहे हैं जिससे आप धोखे से बच सकते हैं।

1 of

 

नई दि‍ल्‍ली। जब आप कार डीलर से नई गाड़ी खरीदते हैं तो आपको कंपनी की ओर से क्‍वालि‍टी को लेकर आश्‍वासन और सभी तरह की गारंटी मि‍लती हैं। लेकि‍न अगर आप सेकंड हैंड कार खरीद रहे हैं तो जरूरी नहीं है कि‍ आप उसी तरह की गारंटी पर भरोसा कर सकें। ऐसे में आपको कुछ चीजों पर ध्‍यान देना होगा। आमतौर पर सेकंड हैंड कारों में कुछ न कुछ ऐसी चीजें रहती हैं जो आपको नहीं दि‍ख पातीं। अगर आपको कार का पेंट एक जैसा नहीं दि‍खता या कार चलाते हुए इंजन आवाज कर रहा है तो समझ लें की आपके साथ धोखा हो रहा है। यहां हम आपको कुछ ऐसी ही Tips के बारे में बता रहे हैं जिससे आप धोखे से बच सकते हैं।

 

कार के बाहर का कलर

 

आपको कार के एक्‍सटीरि‍यर लुक को ध्‍यान से देखना होगा। अगर कार पर एक समान पेंट है और पेंट की चमक अच्‍छी है तो आप कह सकते हैं कि‍ कार को सही ढंग से मैनटेन रखा गया है। हमेशा चेक करें कि‍ कार की अलग-अलग बॉडी पैनल के पेंट कलर में कि‍तना फर्क है।

 

अगर आपको किसी भी जगह पर पेंट के कलर में अंतर दि‍खे तो आप समझ जाएं कि‍ इसे स्‍क्रैच या डेंट से छुपाने के लि‍ए ठीक कि‍या गया है। डोर के नीचे और ऊपर में मौजूद गैप के बीच उंगलि‍यों से चेक करें कि‍ कोई गैप या खुर्दुरी जगह तो नहीं है। अगर ऐसा है तो यह दुर्घाटना या रीपेयर पेंट के काम का संकेत देता है।

 

आगे पढ़ें...

 

टायर्स

 

टायर को ध्‍यान से देखें और देखें कि‍ क्‍या टायर्स एक समान घि‍से हुए हैं। टायर के बाहरी और अंदर के हि‍स्‍से को चेक करें। टायर्स थ्रेडिंग पर्याप्‍य है या नहीं, इसे चेक करने के लि‍ए एक सि‍क्‍के को उसमें डालें और देखें कि‍ वह कि‍तना अंदर तक जाता है। अगर वह ज्‍यादा अंदर तक नहीं जाता है तो इसका मतलब है कि‍ कार में नए टायर्स को लगाने की जरूरत है।

 

आगे पढ़ें...

 

इंजन
 

आपको इंजन भी चेक करना होगा। बोनत को खोलें और देखें कि‍ इंजन के आसपास के एरि‍या कि‍तना साफ है। अगर आपको लीक ऑयल दि‍खता है तो इसका मतलब है कि‍ यह अंडर मैनटेनेंस है। चेक करें कि‍ इंजन बेल्‍ट सही ढंग से फि‍ट है और घि‍सी हुई नहीं है। यह भी चेक करें कि‍ फ्यूड्स पर्याप्‍य लेवल पर है या नहीं। इंजन के ऑयल का कलर चेक करें, अगर वह काला और गंदा है तो इसका मतलब है कि‍ कार सही ढंग से मैनटेन नहीं है। गंदा इंजन फ्यूड भी प्रॉब्‍लम की नि‍शानी है। कार के पुराने सर्वि‍स रि‍कॉर्ड को चेक करें कि‍ कहीं कोई इंजन प्रॉब्‍लम थी या नहीं।

 

आगे पढ़ें...

 

इंटीरि‍यर को चेक करें

 

आपको इंटीरि‍यर फि‍टिंग और सभी स्‍वि‍च को भी चेक करना होगा। यह सुनि‍श्‍चि‍त करें कि‍ सभी फीचर्स काम कर रहे हैं। इंफोटेनमेंट सि‍स्‍टम के साथ-साथ स्‍पीकर्स को भी चेक करें।

 

आगे पढ़ें...

 

टेस्‍ट ड्राइव

 

कार को अच्‍छी तरह से देखने के बाद आपका कार की टेस्‍ट ड्राइव करनी चाहि‍ए। चेक करें कि‍ कार आसाम से स्‍टार्ट हो रही है और रूक भी रही है। इंजन की आवाज को ध्‍यान से सुने। चेक करें कि‍ आवाज खराब है या नहीं। कार को चलाते हुए ब्रेक को भी चेक करें। अगर ब्रेक लगाते वक्‍त कार में वाइब्रेशन आ रहा है तो इसका मतलब है कि‍ ब्रेक पैड्स घि‍सने शुरू हो गए हैं। खराब सड़क पर कार चलाकर चेक करेंकि‍ कैबि‍न से ज्‍यादा आवाज तो नहीं आ रही। अगर आवाज ज्‍यादा आ रही है तो इसका मतलब है कि‍ बॉडी पैनल और डोर फि‍टिंग ढीली हो गई है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट