Home » Auto » Industry/ Trendstesla ceo elon musk says car business is hell

फैक्‍ट्री में सोने को मजबूर हुआ ये सीईओ, कहा- 'नरक है कार का कारोबार'

एलन मस्‍क के लि‍ए टेस्‍ला के मॉडल 3 का प्रोडक्‍शन चुनौती बन गया है।

1 of

नई दि‍ल्‍ली। लोगों को चांद पर पहुंचाने का सपना दि‍खाने वाले और इलेक्‍ट्रि‍क कारों की दुनि‍या में सबसे पॉपुलर ऐलन मस्‍क सबसे बूरे वक्‍त से गुजर रहे हैं। स्‍पेस एक्‍स और टेस्‍ला के फाउंडर एंव सीईओ एलन मस्‍क के लि‍ए टेस्‍ला के मॉडल 3 का प्रोडक्‍शन चुनौती बन गया है। हालत यह हो गई है कि‍ उन्‍होंने ट्वीट कर यह भी कह दि‍या कि‍ 'कार का बि‍जनेस नरक' है।  

 

वापस फैक्‍ट्री में सोने पर मजबूर

 

एलन मस्‍क ने लोगों से ट्वि‍टर पर बातचीत के दौरान कहा कि‍ वह मॉडल 3 इलेक्‍ट्रि‍क कार के प्रोडक्‍शन में हो रही देरी को ठीक करने के लि‍ए 'दोबारा फैक्‍ट्री में सो रहे हैं।' यह बात टेस्‍ला के मॉडल X के लॉन्‍च को याद दि‍लाता है जब मस्‍क ने प्रोडक्‍शन लाइन के पास अपना स्‍लि‍पिंग बैग रखा था ताकि‍ वह कि‍सी भी दि‍क्‍कत को तुरंत ठीक कर सकें। 

 

नरक है कार का बि‍जनेस

 

मस्‍क ने कहा कि‍ कार का बि‍जनेस नरक है। ट्वि‍टर पर यह सभी पोस्‍ट उस वक्‍त कि‍ए गए हैं जब इन्‍वेस्‍टर्स टेस्‍ला के पहले क्‍वार्टर के प्रोडक्‍शन नंबर्स का इंतजार कर रहे हैं, जोकि कंपनी के अनुमानों से कम रह सकता है। मस्‍क ने ट्वि‍टर पर यह सब एक टेक और बि‍जनेस न्‍यूज साइट, इंफॉर्मेशन के रि‍पोर्टर के साथ बातचीत के दौरान लि‍खा। यह स्‍टोरी यह सामने आई थी कि‍ मस्‍क ने मॉडल 3 प्रोडक्‍शन की कमान टेस्‍ला के हेड ऑफ इंजीनि‍यरिंग डॉज फील्‍ड से लेकर अपने हाथ में ले ली है। 

 

आगे पढ़ें...

 

मस्‍क ने अपने हाथ में ली कमान

 

बीते साल, दोनों कारों की इंजीनि‍यरिंग को मैनेज करने और उनके प्रोडक्‍शन की जि‍म्‍मेदारी फील्‍ड पर थी। मस्‍क ने कहा कि‍ फील्‍ड को असल में यह काम दि‍या गया था कि वह यह सुनि‍श्‍चि‍त करें कि‍ टेस्‍ला कि‍सी कारों का डि‍जाइन न करे जि‍सको बनाना बेहद मुश्‍कि‍ल हो, लेकि‍न अब टेस्‍ला वापस प्रोडक्‍शन की चुनौती झेल रही है, बेहतर होगा कि‍ इसे वि‍भाजि‍त कि‍या और जीत हासि‍ल की जाए।

 

टेस्‍ला पर नि‍वेशकों का भारी दबाव

 

टेस्‍ला पर पर्याप्‍त कस्‍टमर डि‍मांड पूरा करने के लि‍ए मॉडल 3 का तेजी करने का भारी दबाव है और इसे पेश करने पर खर्च हुए अरबों डॉलर की भरपाई रेवेन्‍यू में की जाए। मस्‍क ने जुलाई 2017 में कहा था कि‍ टेस्‍ला दि‍संबर तक 20 हजार मॉडल 3एस प्रति‍ माह का प्रोडक्‍शन करेगी लेकि‍न कंपनी इन अनुमान को कम कर 2,500 प्रति‍ माह कर दि‍या। वहीं, जैलोपनि‍क ने रि‍पोर्ट दी कि‍ टेस्‍ला पहले क्‍वार्टर के अंत तक प्रति‍ माह 2,000 मॉडल 3 एस को बना रही है।  

 

आगे पढ़ें...

 

पुराने मॉडल में भी हुई थी देरी

 

जब टेस्‍ला ने मॉडल X को 2015 के अंत में पेश कि‍या था, तब भी वह शेड्यूल से एक साल पीछे थी। इस कार के उलझे हुए फॉल्‍कन विंग डोर्स, कस्‍टम मोनो पोस्‍ट रीयर सीट्स और दूसरे अनोखे नए हाई टेक फीचर्स के साथ दि‍क्‍कत का सामना करना पड़ा था। मस्‍क ने 2016 में इन्‍वेस्‍टर्स को बताया कि‍ वह अपने हाथ में स्‍लि‍पिंग बैग को लेकर चल रहे हैं और उन्‍होंने अपना डेस्‍क वहां रख दि‍या जहां फैक्‍ट्री भी ज्‍यादा दि‍क्‍कतें आ रही हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट