बिज़नेस न्यूज़ » Auto » Industry/ Trendsटाटा मोटर्स ने 2017-18 में होंडा को छोड़ा पीछे, टि‍आगो-नेक्‍सॉन ने पलटी बाजी

टाटा मोटर्स ने 2017-18 में होंडा को छोड़ा पीछे, टि‍आगो-नेक्‍सॉन ने पलटी बाजी

टि‍आगो, टि‍गोर और नेक्‍सॉन की वजह से टाटा मोटर्स ने होंडा कार्स इंडि‍या को सेल्‍स के मामले में पीछे छोड़ दि‍या।

Tata Motors, Honda, Tiago, Nexon, टाटा मोटर्स ने 2017-18 में होंडा को छोड़ा पीछे, टि‍आगो-नेक्‍सॉन ने पलटी बाजी
 
नई दि‍ल्‍ली। फाइनेंशि‍यल ईयर 2017-18  ऑटोमोबाइल इंडस्‍ट्री के लि‍ए बड़े बदलावों से भरा रहा। जहां इंडस्‍ट्री को बढ़ते सेस रेट और इंपोर्ट ड्यूटी में इजाफे जैसी चीजों का सामना करना पड़ा। वहीं, देश भर में जीएसटी रि‍फंड फाइलिंग में दि‍क्‍कतों से एक्‍सपोर्ट प्रभावि‍त हुआ। इस सबके बीच टाटा मोटर्स के लि‍ए 2017-18 काफी खास रहा है। तीन मॉडल्‍स - टि‍आगो, टि‍गोर और नेक्‍सॉन की वजह से टाटा मोटर्स ने होंडा कार्स इंडि‍या को सेल्‍स के मामले में पीछे छोड़ दि‍या। 
 
सेल्‍स की रेस में टाटा ने होंडा को छोड़ा पीछे
 
कंपनि‍यों की ओर से जारी सेल्‍स आंकड़ों के मुताबि‍क, टाटा मोटर्स ने फाइनेंशि‍यल ईयर 2017-18 में होंडा कार्स इंडि‍या को पछाड़ दि‍या है। टाटा मोटर्स ने 2017-18 में 1,87,321 यूनि‍ट्स को बेचा जबकि‍ पि‍छले साल यह आंकड़ा 1,53,151 यूनि‍ट्स था। 
 
वहीं, होंडा कार्स इंडि‍या ने 2017-18 में 1,70,026 यूनि‍ट्स को बेचा जबकि‍ पि‍छले साल यह आंकड़ा 1,57,313 यूनि‍ट्स का था। टाटा मोटर्स की सेल्‍स में सालाना आधार पर 22 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई जोकि‍ पूरी कार इंडस्‍ट्री में सबसे ज्‍यादा है। होंडा की सेल्‍स 8 फीसदी रही है। 
 
टाटा मोटर्स ने कहा कि‍ टि‍आगो और टि‍गोर की बढ़ती डि‍मांड के साथ-साथ नेक्‍सॉन और हेक्‍सा की वजह से यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल सेगमेंट में ग्रोथ बनी हुई है। पैसेंजर कार सेगमेंट में 4 फीसदी की गि‍रावट आई है जबकि‍ यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल सेगमेंट 223 फीसदी की ग्रोथ है, जोकि‍ साफ तौर से दर्शाता है कि‍ यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल सेगमेंट में कस्‍टमर बेस बढ़ रहा है।  
 
मारुति‍ सुजुकी का राज कायम
 
देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने फाइनेंशि‍यल ईयर 2017-18 में डोमेस्‍टि‍क मार्केट में 16,53,500 यूनि‍ट्स को बेचा जबकि‍ पि‍छले साल यह आंकड़ा 14,44,541 यूनि‍ट्स था। इसमें 13.8 फीसदी की सालाना ग्रोथ रही है।  
 
कंपनी की मार्च 2018 में बिक्री 14.9 फीसदी बढ़कर 1,60,598 हो गई, जोकि पिछले साल मार्च में 1,39,763 थी। इस दौरान कंपनी का निर्यात 2.1 फीसदी बढ़कर 12,016 यूनिट हो गया। मारुति की घरेलू बिक्री 16.1 फीसदी बढ़कर 1,48,582 हो गई, जो पिछले साल मार्च 1,27,999 थी। 
 
कार कंपनी 2017-18 2016-17 बदलाव
मारुति‍ सुजुकी 16,53,500 14,43,467 13.8 फीसदी
ह्युंडई मोटर इंडि‍या 5,36,241 5,09,707 5.2 फीसदी
टाटा मोटर्स 1,87,321 1,53,151 22 फीसदी
होंडा कार्स इंडि‍या
1,70,026 1,57,313 8 फीसदी

(डोमेस्‍टि‍क मार्केट में पैसेंजर व्‍हीकल्‍स की सेल्‍स)

 
ह्युंडई मोटर की सेल्‍स में भी ग्रोथ 
 
देश की दूसरी सबसे बड़ी कार कंपनी ह्युंडई मोटर ने पूरे फाइनेंशि‍यल ईयर 2017-18 में 5,36,241 यूनि‍ट्स की सेल्‍स की है जोकि‍ पि‍छले साल से 5.2 फीसदी ज्‍यादा है। पि‍छले साल कंपनी ने 5,09,707 यूनि‍ट्स को बेचा था। कंपनी की डोमेस्‍टि‍क सेल्‍स बीते माह के दौरान 7.3 फीसदी बढ़कर 48,009 यूनि‍ट्स रही जबकि‍ मार्च 2017 में यह आंकड़ा 44,757 यूनि‍ट्स था। वहीं, मार्च 2018 में कंपनी का एक्‍सपोर्ट 15.1 फीसदी बढ़कर 12,498 यूनि‍ट्स रहा जोकि‍ पि‍छले साल की समान अवधि‍ में 10,857 यूनिट्स था।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट