Home » Auto » Industry/ Trendskerala high court says taking on phone not illegal, कार चलाते हुए फोन पर बात करना गैरकानूनी नहीं, केरल हाई कोर्ट ने कहा

कार चलाते हुए फोन पर बात करना गैरकानूनी नहीं, केरल हाई कोर्ट ने कहा

केरल हाई कोर्ट ने अपने हालि‍या आदेश में कहा है कि‍ ड्राइविंग करते हुए फोन पर बात करना गैरकानूनी नहीं है।

kerala high court says taking on phone not illegal, कार चलाते हुए फोन पर बात करना गैरकानूनी नहीं, केरल हाई कोर्ट ने कहा

नई दि‍ल्‍ली। केरल हाई कोर्ट ने अपने हालि‍या आदेश में कहा है कि‍ ड्राइविंग करते हुए फोन पर बात करना गैरकानूनी नहीं है। कोर्ट ने कहा कि‍ ऐसा तब तक गैरकानूनी नहीं है, जब तक ड्राइव की वजह से पब्‍लि‍क सेफ्टी को कोई संकट नहीं होता। लंबे समय से सरकार, कार कंपनि‍यां और दूसरे लोग ड्राइविंग के दौरान मोबाइल फोन के इस्‍तेमाल से होने वाले खतरे को लेकर जागरूकता बढ़ाने को लेकर कैम्‍पेन चला रहे हैं। हालांकि‍, केरल हाई कोर्ट के डि‍वि‍जन बेंच ने कहा है कि‍ मौजूदा कानून में ऐसा कहीं नहीं लि‍खा है कि‍ ड्राइविंग करते वक्‍त फोन पर बात करने के लि‍ए कि‍सी व्‍यक्‍ति‍ को आरोपि‍त बताए जाए। यह अपराध नहीं है।   

 

कैसे उठा मामला

 

कोच्‍चि‍ के एक नि‍वासी एम जी संतोष की ओर से एक याचि‍क दायर करने के बाद यह आदेश दि‍या गया। संतोष को पुलि‍स ने केरल पुलि‍स एक्‍ट के सेक्‍शन 118 (ई) और मोटर व्‍हीकल्‍स एक्‍ट के सेक्‍शन 184 के तहत ड्राइविंग के दौरान फोन पर बात करने के लि‍ए बुक कि‍या था। केस को कि‍सा जुर्माने नहीं लगाते हुए खत्‍म कर दि‍या गया और कोर्ट ने कहा कि‍ जब तक ड्राइव की वजह से पब्‍लि‍क सेफ्टी को खतरा नहीं होता है तब तक इसे अपराध नहीं माना जा सकता। 

 

मोटर व्‍हीकल्‍स एक्‍ट का सेक्‍शन 184

 

1988, मोटर व्‍हीकल्‍स एक्‍ट के सेक्‍शन 184 में कहा गया है कि‍ जो भी मोटर व्‍हीकल को ऐसी स्‍पीड या इस ढंग से चला रहा है जि‍ससे पब्‍लि‍क को खतरा हो सकता है, चाहे कोई परि‍स्‍थि‍ति‍यां हो, चाहे कि‍सी भी तरह के ट्रैरि‍फ में चलाया जा रहा हो या कि‍सी भी कंडीशन में चलाया जा रहा हो, वह दंडनीय है। उस पर तय जुर्माना लगेगा लेकि‍न इसमें वि‍शेष तौर पर मोबाइल फोन के इस्‍तेमाल के बारे में नहीं कहा गया है।

 

क्‍या यह सही है?

 

मोटर व्‍हीकल एक्‍ट और पुलि‍स एक्‍ट के कानून और प्रावधानों का मकसद दुर्घाटना होने वाले कि‍सी भी स्‍थि‍ति‍ को रोकना है। फोन पर बात करने से ड्राइवर का ध्‍यान भटकता है, जि‍ससे बड़ी दुर्घाटना हो भी सकती है। अगर ऐसा हो सकता है तो इस तरह की परि‍स्‍थि‍ति‍यों से बचना ही बेहतर होगा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट