बिज़नेस न्यूज़ » Auto » Industry/ TrendsICRA: BS-VI के बाद 25% से कम रह जाएंगी डीजल पैसेंजर कारें

ICRA: BS-VI के बाद 25% से कम रह जाएंगी डीजल पैसेंजर कारें

ICRA के मुताबि‍क, अप्रैल 2020 से BSVI एमि‍शन नॉर्म्‍स लागू होने के बाद डीजल पैसेंजर व्‍हीकल्‍स का शेयर कम हो सकता है।

ICRA: BS-VI के बाद 25% से कम रह जाएंगी डीजल पैसेंजर कारें

नई दि‍ल्‍ली। रेटिंग एजेंसी ICRA के मुताबि‍क, अप्रैल 2020 से BS-VI एमि‍शन नॉर्म्‍स लागू होने के बाद डीजल पैसेंजर व्‍हीकल्‍स का शेयर कम हो सकता है। एजेंसी के मुताबि‍क, BS-VI एमि‍शन के बाद डोमेस्‍टि‍क मार्केट में डीजल पैसेंजर व्‍हीकल्‍स का शेयर 25 फीसदी से कम   होने की उम्‍मीद है। एजेंसी ने अपने बयान में कहा कि‍ 2017-18 में डीजल व्‍हीकल्‍स का शेयर गि‍रकर 38 फीसदी पर पहुंच गया जोकि‍ 2018-19 में घटकर 35 से 36 फीसदी हो सकता है। वहीं, BS-VI नॉर्म्‍स लागू होने के बाद यह 25 फीसदी से नीचे आ जाएगा।   

 

बेहद कम हो गया है पेट्रोल-डीजल की कीमतों का अंतर 

 

ICRA के सीनि‍यर ग्रुप वाइस प्रेसि‍डेंट कॉरपोरेट सेक्‍टर रेटिंग्‍स सुब्रत राय ने कहा कि जनवरी 2013 से हर महीने छोटी-छोटी मात्रा में डीजल की रि‍टेल कीमतों में लगातार बढ़ोतरी से पेट्रोल और डीजल फ्यूल की कीमतों का अंतर बेहद कम हो गया है। इसकी वजह से डीजल पैसेंजर व्‍हीकल को चलाना महंगा पड़ रहा। पहले के मुकाबले से यह कम पसंदीदा होते जा रहे है। उन्‍होंने यह भी कहा कि‍ पेट्रोल और डीजल कीमतों के बीच में आई कमी से कस्‍टमर की पसंद डीजल व्‍हीकल्‍स से शि‍फ्ट हो रही है।  

 

75 हजार तक महंगी हो जाएंगी डीजल कारें

 

ICRA के मुताबि‍क, एक बार BS-VI एमि‍शन नॉर्म्‍स आने के बाद डीजल कारों की कीमतों में करीब 75 हजार रुपए तक का इजाफा हो सकता है। वहीं, पेट्रोल कारों की कीमत 20 हजार रुपए महंगी हो सकती हैं। ICRA ने कहा कि‍ मौजूदा समय में पेट्रोल के मुकाबले डीजल कारों की कीमत 90 हजार रुपए से 1 लाख रुपए तक ज्‍यादा होती हैं लेकि‍न BS-VI नॉर्म्‍स के बाद यह अंतर 1.5 लाख से 1.75 लाख रुपए हो जाएगा। ऐसे में ज्‍यादा फ्यूल एफि‍शि‍यंसी का फायदा भी कम हो जाएगा।  

 

एसयूवी में भी कम होगा डीजल की हि‍स्‍सेदारी

 

छोटी कार खरीदने वालों के लि‍ए डीजल कारें ज्‍यादा खर्चीली हो जाएंगी। हालांकि‍, एसयूवी में डीजल का कब्‍जा कायम रहेगा। हालांकि‍, इसका मार्केट शेयर भी कम हो सकता है। एसयूव में डीजल का शेयर 4 साल के दौरान मौजूदा 80 फीसदी से घटकर 60 फीसदी तक पहुंच सकता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट