बिज़नेस न्यूज़ » Auto » Industry/ Trendsमोदी के एक SMS पर रतन टाटा ने लगा दि‍या था 2000 करोड़ का दांव, और गुजरात पहुंच गई थी Nano

मोदी के एक SMS पर रतन टाटा ने लगा दि‍या था 2000 करोड़ का दांव, और गुजरात पहुंच गई थी Nano

सिंगुर फैक्‍ट्री के खि‍लाफ चल रहे आंदोलन के बाद टाटा ने 2008 में गुजरात में प्रोजेक्‍ट शि‍फ्ट करने का ऐलान कि‍या था।

1 of

नई दि‍ल्‍ली। टाटा मोटर्स की सबसे छोटी कार और रतन टाटा का ड्रीम प्रोजेक्‍ट Nano का सफर खत्‍म होता नजर आ रहा है। जून 2018 में कंपनी ने नैनो की केवल एक यूनि‍ट का ही प्रोडक्‍शन कि‍या। टाटा नैनो के लॉन्‍च होने से पहले से लेकर अब तक का सफर हंगामे से भरा रहा। नैनो का प्रोजेक्‍ट प.बंगाल के सिंगुर में लगने वाला था लेकि‍न वि‍पक्षी पार्टी के वि‍रोध और उस वक्‍त गुजरात के मुख्‍यमंत्री नरेंद्र मोदी के एक SMS ने इसे गुजरात पहुंचा दि‍या। रतन टाटा ने सिंगुर से प्‍लांट हटाकर गुजरात में लगाया और इस प्रोजेक्‍ट पर करीब 2,000 करोड़ रुपए का इन्‍वेस्‍टमेंट कि‍या।  

 

तीन दि‍न में मोदी ने दी थी जमीन

 

टाटा ग्रुप के पूर्व चेयरमैन रतन टाटा ने सीएनबीसी-टीवी 18 को दि‍ए एक इंटरव्‍यू में कहा था कि‍ नरेंद्र मोदी ने टाटा ग्रुप के नैनो प्रोजेक्‍ट के लि‍ए केवल तीन दि‍न में जमीन देने का वादा कि‍या था और वह पूरा भी कि‍या। टाटा ने कहा कि‍ ऐसा भारत में कभी नहीं होता।  

 

सिंगुर फैक्‍ट्री के खि‍लाफ लगातार चल रहे आंदोलन और राजनीति‍क दांवपेंच के बाद रतन टाटा ने अक्‍टूबर 2008 में गुजरात में प्रोजेक्‍ट शि‍फ्ट करने का ऐलान कि‍या था। टाटा ने इस स्‍थि‍ति‍ को 'हॉस्‍टाइल' बताया था। उस वक्त टाटा मोटर्स को पहले ही नैनो के लि‍ए 3 लाख ऑर्डर्स मि‍ल चुके थे। टाटा ने कहा कि‍ जि‍स तरह से उन्‍होंने कंपनी के लि‍ए सॉल्‍यूशन ढूंढा था उसे मैं कभी नहीं भूल सकता।  

 

1 रुपए के SMS पर करोड़ों का नि‍वेश

 

गुजरात और टाटा ग्रुप के बीच बेहद कम समय के भीतर डील पूरी हो गई थी, टाटा ने कहा इसमें केवल तीन दि‍न ही लगे। इसमें मोदी द्वारा टाटा को गुजरात में आमंत्रण देने वाला SMS भी शामि‍ल है। उस वक्‍त मोदी ने डील का ऐलान होने के बाद कहा था कि‍ उन्‍हें 'वेलकम टू गुजरात' कहने के लि‍ए SMS  भेजने पर मात्र 1 रुपए खर्च करना पड़ा और टाटा ग्रुप से राज्‍य को 2,000 करोड़ रुपए का इन्‍वेस्‍टमेंट मिल गया।  

 

आगे पढ़ें...

 

मोदी ने टाटा से कहा था- मैंने वादा पूरा कि‍या

 

मैंने सार्वजनि‍क रूप से कहा था कि‍ उन्‍होंने गुजरात में फैक्‍ट्री शि‍फ्ट करने का आमंत्रण दि‍या था और मैंने कहा था कि‍ हम जरूर आएंगे अगर उनके पास घर है तो। मोदी ने कहा कि‍ जो जमीन आपको चाहि‍ए उसे मैं आपको तीन दि‍न में दे दूंगा। और उन्‍होंने तीसरे सुबह जमीन दे दी। उन्‍होंने कहा, रतनजी, यह रही जमीन, जि‍सका वादा मैंने कि‍या था। 

 

अब, रतन टाटा का यही नैनो प्रोजेक्‍ट अपने सफर को पूरा करता दि‍ख रहा है। हालांकि‍,  टाटा मोटर्स ने अपना रुख पहले की तरह बरकार रखते हुए कहा कि नैनो का प्रोडक्शन बंद करने को लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं लिया गया है।

 

आगे पढ़ें...

जून में नैनो का नहीं हुआ एक्सपोर्ट

 

दोपहिया रखने वाले परिवारों को सुरक्षित और किफायती विकल्प देने के लिए रतन टाटा की महत्वाकांक्षी योजना के तौर पर शुरू की गई इस एंट्री लेवल की कार की बीते महीने डॉमेस्टिक मार्केट में सिर्फ तीन यूनिट बिकीं। रेग्युलेटरी फाइलिंग में टाटा मोटर्स ने कहा कि इस साल जून में नैनो का कोई एक्सपोर्ट नहीं हुआ, जबकि बीते साल समान महीने में 25 यूनिट का एक्सपोर्ट हुआ था।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट