बिज़नेस न्यूज़ » Auto » Industry/ Trendsहल्‍के कमर्शि‍यल व्‍हीकल्‍स की डि‍मांड में 27% की तेजी, बेहतर मानसून से मिलेगी ग्रोथ

हल्‍के कमर्शि‍यल व्‍हीकल्‍स की डि‍मांड में 27% की तेजी, बेहतर मानसून से मिलेगी ग्रोथ

ऑटोमोबाइल इंडस्‍ट्री का मानना है कि‍ आने वाले महीने में यह तेजी बरकरार रहेगी।

बेहतर मानसून के दम पर बढ़ेगी LCV-ट्रैक्‍टर्स की सेल्‍स, टाटा और महिंद्रा को मि‍लेगा फायदा

नई दि‍ल्‍ली। देश भर में बेहतर मानसून रहने की संभावना, रूरल डि‍मांड बढ़ने और माइक्रो इकोनॉमी में सुधार आने की वजह से हल्‍के कमर्शि‍यल व्हीकल्‍स और ट्रैक्‍टर्स की सेल्‍स में तेजी दर्ज की गई है। ऑटोमोबाइल इंडस्‍ट्री का मानना है कि‍ आने वाले महीने में यह तेजी बरकरार रहेगी। सोसाइटी ऑफ इंडि‍यन ऑटोमोबाइल मैन्‍युफैक्‍चरर्स (सि‍आम) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबि‍क, लाइट कमर्शि‍यल व्‍हीकल्‍स (LCV) की सेल्‍स ग्रोथ 2017-18 में सालाना आधार 25.42 फीसदी रही है। वहीं, ट्रैक्‍टर्स की सेल्‍स में 10 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई है। 

 

आगे भी बढ़ेगी LCV और ट्रैक्‍टर की सेल्‍स 

 

एमएंडएम के फार्म इक्‍युप्मेंट सेगमेंट के प्रेसि‍डेंट राजेश जेजुरि‍का ने कहा कि‍ सामान्‍य मानसून के अनुमानों के साथ हमें उम्‍मीद है कि‍ पॉजि‍टि‍व सेंटीमेंट आगे भी जारी रहेगा और एग्रीकल्‍चर, एफएमसीजी, ई-कॉमर्स और लॉजि‍स्‍टि‍क्‍स सेक्टर्स में इजाफा होने से ट्रैक्‍टस डि‍मांड को बूस्‍ट मि‍लेगा। जारी आंकड़ों के मुताबि‍क, एमएंडएम की ट्रैक्‍टर सेल्‍स में अप्रैल 2018 में 19 फीसदी की ग्रोथ रही है।

 

टाटा मोटर्स के वरिष्‍ठ अधि‍कारी ने कहा कि‍ वि‍भि‍न्‍न माइक्रो इकोनॉमि‍क फैक्‍टर्स जैसे इंफ्रास्‍ट्रक्चर डेवलपमेंट में इन्‍वेस्‍टमेंट, इंडस्‍ट्रीयल एक्‍टि‍वि‍टी में सुधार और उपभोगता सेक्‍टर में बढ़ती डि‍मांड की वजह से कमर्शि‍यल व्‍हीकल्‍स में तेजी जारी रहने की उम्‍मीद है। 

 

रेटिंग एजेंसी ICRA की रि‍पोर्ट के मुताबि‍क, फाइनेंशि‍यल ईयर 2018-19 में ट्रैक्‍टर इंडस्‍ट्री की ग्रोथ 6 से 7 फीसदी के बीच रह सकती है। एजेंसी के मुताबि‍क, सरकार की ओर से रूरल डेवलपमेंट को बढ़ाने और एग्रीकल्‍चर को प्रमोट करने के लि‍ए लगातार कदम उठाए जा रहे है, जि‍सका असर ट्रैक्‍टर इंडस्‍ट्री पर भी दि‍खेगा। 

 

टाटा मोटर्स को मि‍ला फायदा

 

देश की सबसे बड़ी ट्रैक मैन्‍युफैक्‍चरर टाटा मोटर्स के लाइट ट्रक्‍स सेल्‍स अप्रैल 2018 में सालाना आधार पर 94 फीसदी बढ़कर 3,229 यूनि‍ट्स पर पहुंच गई। कंपनी ने कहा कि‍ नए प्रोडक्‍ट लॉन्‍च करने, कृषि‍ कर्ज माफ होने और फसलों के लि‍ए एमएसपी बढ़ाए जाने की वजह से इस सेगमेंट में ग्रोथ दर्ज की गई है। 

 

इसी दौरान, कंपनी की डोमेस्‍टि‍क कमर्शि‍यल व्‍हीकल्‍स की सेल्‍स डबल होकर 36,276 यूनि‍ट्स हो गई। इसके अलावा, मीडि‍यन और हैवी कमर्शि‍यल व्‍हीकल्‍स सेल्‍स का वॉल्‍यूम सालाना आधार पर 317 फीसदी बढ़कर 14,028 यूनि‍ट्स हो गया।  

 

लगातार बढ़ रही है LCV की सेल्‍स

 

सि‍आम के आंकड़ों के मुताबि‍क, अप्रैल-मार्च 2017-18 के दौरान टोटल LCV की सेल्‍स 5,16,140 यूनि‍ट्स रही है जबकि‍ एक साल पहले यह आंकड़ा 4,11,515 यूनि‍ट्स था। इसकी सेल्‍स में 25 फीसदी से ज्‍यादा की ग्रोथ दर्ज की गई है। वहीं, फाइनेंशि‍यल ईयर 2018-19 के पहले महीने में LCV की सेल्‍स 44,446 यूनि‍ट्स जबकि‍ पि‍छले साल की समान अवधि‍ में यह आंकड़ा 30,882 यूनि‍ट्स का था। इसमें 36.27 फीसदी की ग्रोथ आई है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट