बिज़नेस न्यूज़ » Auto » Industry/ Trendsमहिंद्रा को नहीं है कि‍सी पॉलि‍सी की जरूरत, EVs में करेगी 900 करोड़ का नि‍वेश

महिंद्रा को नहीं है कि‍सी पॉलि‍सी की जरूरत, EVs में करेगी 900 करोड़ का नि‍वेश

अगले चार साल के दौरान इलेक्‍ट्रि‍क व्‍हीकल्‍स में 900 करोड़ रुपए का इन्‍वेस्‍टमेंट करेगी।

महिंद्रा करेगी इलेक्‍ट्रि‍क व्‍हीकल्‍स में 900 करोड़ का नि‍वेश - Mahindra to invest Rs 900-cr more into Electric vehicles

मुंबई। इलेक्‍ट्रि‍क व्‍हीकल्‍स की पॉलि‍सी को लेकर जारी अनि‍श्‍चि‍तता के बावजूद महिंद्रा ग्रुप ने कहा कि‍ वह अगले चार साल के दौरान इलेक्‍ट्रि‍क व्‍हीकल्‍स में 900 करोड़ रुपए का इन्‍वेस्‍टमेंट करेगी। इससे  पहली इंस्‍टॉल कैपि‍सि‍टी को एक माह में 5,000 यूनि‍ट्स तक कि‍या जा सकेगा। 

 

महिंद्रा ग्रुप ने क्‍या कहा

 

महिंद्रा ग्रुप के एमडी पवन गोयनका ने बताया कि‍ हम पहले ही बीते पांच साल के दौरान इलेक्‍ट्रि‍क व्‍हीकल्‍स में 600 करोड़ रुपए का इन्‍वेस्‍टमेंट कर चुके हैं और अगले चार साल में महाराष्‍ट्र में 500 करोड़ रुपए और कर्नाटक में 400 करोड़ रुपए इन्‍वेस्‍ट करने के फैसले का ऐलान कि‍या गया है। इसका इस्‍तेमाल कैपि‍सि‍टी, टेक्‍नोलॉजी और प्रोडक्‍ट्स के लि‍ए होगा। महाराष्‍ट्र इन्‍वेस्‍टर समि‍ट के मौके पर उन्‍होंने कहा कि‍ हमें आगे बढ़ने के लि‍ए कि‍सी पॉलि‍सी की जरूरत नहीं हैं। मार्ग दर्शक होने के नाते आपको सड़क बनानी है और हमें आगे बढ़ना है। 

 

इलेक्‍ट्रि‍क व्‍हीकल्‍स पर सब्‍सि‍डीज की जरूरत 

 

हालांकि‍, गोयनका ने कहा कि‍ इंडस्‍ट्री की लंबे समय तक ग्रोथ सुनि‍श्‍चि‍त करने के लि‍ए इलेक्‍ट्रि‍क व्‍हीकल्‍स पर सब्‍सि‍डीज की जरूरत है। उन्‍होंने कहा कि‍ एक बार जब यह करीब 2 लाख यूनि‍ट्स प्रति‍ माह पर पहुंच जाएगा, जि‍सकी उम्‍मीद 2022 तक है, तो यह कंवेंशनल इंटरनल कम्‍बशन इंजन बेस्‍ट व्‍हीकल्‍स के बराबर पहुंच जाएगा। 

 

महिंद्रा की कैपि‍सि‍टी

 

मौजूदा समय में महिंद्रा की कैपि‍सि‍टी 400 यूनि‍ट्स प्रति‍ माह है जोकि‍ सि‍तंबर तक 1,500 तक (थ्री व्‍हीकल्‍स भी शामि‍ल) बढ़ जाएगी। गोयनका ने कहा कि‍ अगले दि‍संबर तक यह कैपि‍सि‍टी 4000 यूनि‍ट्स तक होनी चाहि‍ए। उन्‍होंने कहा कि‍ मौजूदा इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान का मकसद कैपि‍सि‍टी को 5,000 यूनि‍ट्स प्रति‍ माह करना है। इसे चुनिंदा अनुमानों जैसे सब्‍सि‍डीज को जारी करने के आधार पर तय कि‍या गया है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट