बिज़नेस न्यूज़ » Auto » Industry/ TrendsRolls-Royce के साथ जीना ही नहीं मरना भी चाहते हैं अमीर, आखिर वक्त पर भी दिखाते हैं अपने पैसे की ताकत

Rolls-Royce के साथ जीना ही नहीं मरना भी चाहते हैं अमीर, आखिर वक्त पर भी दिखाते हैं अपने पैसे की ताकत

अरबपति अपने अंतिम संस्कार के लिए भी कई तरह की प्लानिंग करते हैं

1 of

नई दिल्ली। अमीरों और पावरफुल लोगों को अंतिम संस्कार पर अपने पैसे की ताकत दिखाने का आखिरी मौका मिलता है। दुनिया भर के अरबपति अपने अंतिम संस्कार के लिए भी कई तरह की प्लानिंग करते हैं। यह लोग 48 हजार डॉलर के सोने के ताबूत से लेकर Rolls-Royce तक को अपनी अंतिम सवारी के तौर पर इस्तेमाल करते हैं। कई लोग अपने अंतिम संस्कार के लिए लग्जरी लोकेशन को भी चुनते हैं और अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को वहां आमंत्रित करते हैं। ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कई अरबपति Rolls-Royce को इतना पसंद करते हैं कि वह इसका इस्तेमाल मरने पर भी करते हैं। 

 

मरते दम तक Rolls-Royce का साथ  

 

ए.डब्ल्यू लाएम फ्यूनरल होम के सीईओ निगेल लाएम रोस ने कहा कि जो लोग अपनी पूरी जिंदगी Rolls-Royce में चलते हैं वह चाहते हैं उनका आखिरी सफर भी Rolls-Royce में ही हो। ऐसे लोगों का मकसद यह बताना है कि जिस कार में जीये, उसी कार में मरे। ए.डब्ल्यू लाएम फ्यूनरल होम के पास 25 कस्टम मेड Rolls-Royce हैं। उनकी कारें अमेरिका, रूस और दूसरी जगहों पर भी जाती हैं।   

 

Klontz Consulting ग्रुप के सीईओ Ted Klontz ने कहा कि आप कैसे जाना चाहते हैं, इसे लेकर भी कुछ उम्मीदें होती हैं। यह अपनी ताकत और पैसा दिखाने का आखिरी मौका होता है। कारोबारी और अरबपति अपने जीवन में काफी एग्रेसिव कॉम्पीटिटर रहते हैं और यह मरते वक्त भी दिखाई देता है। 
 
आगे पढ़ें...

 

गाने-बजाने के साथ अंतिम विदाई

 

कुछ लोग बड़े हॉल में गाने-बजाने वाले बैंड को बुलाते हैं तो कुछ प्राइवेट जेट से अपने पसंदीदा फुलों की बारिश चाहते हैं। कई लोग तो ऐसे भी हैं जो अपने चाहने वालों के शरीर को समुंद्र में भेजते हैं और फिर एक योद्धा के समान विदाई देते हैं। फ्रेंक ई. चैपल के जीएम विलियम विलानोवा ने कहा कि हम जो भी करते हैं वह कानून के मुताबिक और हमारे प्रोफेशन की ईमानदारी को ध्यान में रखते हुए करते हैं। हाल ही में एक फैशन डिजाइनर के अंतिम संस्कार में 120 ईसाई धार्मिक शिक्षा का प्रचार करने बैंड ने एक बड़े हॉल में परफॉर्मेंस दिया था।  

 

आगे पढ़ें...

 

 

लग्जरी मौत...

 

प्राइवेट वेल्थ मैनेजर्स और अकाउंटेंट्स अपने अल्ट्रा रिच क्लाइंट्स को अपनी मृत्यु के साथ डील करने की सलाह देते हैं। यह बात अमीर परिवारों और कारोबारियों के लिए अंतिम संस्कार कंसल्टेंट के तौर पर काम करने वाली एलिजाबेथ मेयर ने कही। मेयर ने कहा कि इसे लग्जरी के तौर पर देखना चाहिए मृत्यु के तौर पर नहीं। लेकिन एक निश्चित इकोनॉमिक लेवल पर, अंतिम सफर की प्लानिंग टैक्स का मामला बन जाता है। खासतौर से तब जब इसपर लाखों डॉलर खर्च होते हों।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट