Home » Auto » Industry/ TrendsKia Motor's have big plan for india, भारत में Kia मोटर्स की होगी मेगा एंट्री

Exclusive: भारत में Kia मोटर्स की होगी मेगा एंट्री, जल्‍द बनना चाहती है नंबर 3 कार कंपनी

वह जल्‍द से जल्‍द नंबर 3 या 4 कार कंपनी बनना चाहती है।

1 of

नई दि‍ल्‍ली। ऑटो एक्‍सपो 2018 में साउथ कोरि‍या की दूसरी सबसे बड़ी कार कंपनी Kia मोटर्स ने पहली बार अपनी कारों को सबके सामने पेश कि‍या। इन कारों को पेश करने के साथ ही कंपनी ने यह भी बता दि‍या कि‍ भारत के लि‍ए Kia मोटर्स का मेगा प्‍लान है। वह जल्‍द से जल्‍द नंबर 3 या 4 कार कंपनी बनना चाहती है। इस संबंध में Kia मोटर्स इंडि‍या के हेड (सेल्‍स एंड मार्केटिंग ग्रुप) मनोहर भट्ट ने MoneyBhaskar.com के आशुतोष वर्मा से खास बातचीत में बताया कि‍ वह 3 साल में करीब 3 लाख यूनि‍ट्स को बेचना चाहते हैं। उन्‍होंने कहा कि‍ कंपनी ने भारत में 1.1 अरब डॉलर का इन्‍वेस्‍टमेंट करेगी। साथ ही,  करीब 3000 लोगों को सीधे तौर पर नौकरी मि‍लेगी। 

 

3 साल में 3 लाख कारों को बेचने का टारगेट

 

हमारी कैपेसि‍टी डोमेस्‍टि‍क मार्केट के लि‍ए ही है और हम दूसरी कंपनि‍यों की तरह नहीं करने वाले हैं, जहां एक्‍सपोर्ट ज्‍यादा हो और डोमेस्‍टि‍क सेल कम। हमारा फोक्‍स डोमेस्‍टि‍क मार्केट पर है और हम जल्‍द से जल्‍द बड़ा प्‍लेयर बनाना चाहते हैं। हम इंडि‍या की 3 से 4 नंबर की कार कंपनी बनना चाहते हैं। हम अगले 3 साल के भीतर 3 लाख यूनि‍ट्स को बेचने का टारगेट बना रहे हैं। 

 

एसयूवी के साथ होगी एंट्री

 

हमारे पास हैचबैक से लेकर मल्‍टी पर्पस व्‍हीकल्‍स सभी हैं लेकि‍न भारत में हमारी पहली गाड़ी कॉम्‍पैक्‍ट एसयूवी SP कॉन्‍सेप्‍ट रहने वाली है। ऐसा इसलि‍ए क्‍योंकि‍ भारत में यह सेगमेंट तेजी से बढ़ रहा है। हमने इस कार को खासतौर से भारत के लि‍ए बनाया है और फि‍लहाल इसे भारत में ही बेचा जाएगा। SP कॉन्‍सेप्‍ट की एंट्री ह्युंडई क्रेटा और रेनो डस्‍टर के सेगमेंट में रहेगी। 

 

पहले हैचबैक क्‍यों नहीं

 

हम अपनी क्षमता को समझते हैं और इंडि‍यन कस्‍टमर्स का रुझान अब एसयूवी की ओर बढ़ रहा है। अगर आप देखेंगे तो सबसे ज्‍यादा ग्रोथ एसयूवी सेगमेंट में है। हैचबैक और सेडान के बाद अगला बड़ा सेगमेंट कॉम्‍पैक्‍ट एसयूवी या एसयूवी ही है। 

 

2 साल में 4 मॉडल्‍स आने की प्‍लानिंग

 

जब भी नए प्‍लांट की शुरुआत की जाती है तो उसमें एक से ज्‍यादा कार को बनाना मुश्‍कि‍ल होता है। साथ ही, यह हमारा लर्निंग प्रोसेस भी रहेगा। इस मॉडल को लॉन्‍च करने के छह माह बाद हम दूसरा मॉडल कॉम्‍पैक्‍ट एसयूवी लेकर आएंगे जो कि‍ साइज में SP कॉन्‍सेप्‍ट से छोटी होगी। इसके तीसरा मॉडल हैचबैक रहेगा और फि‍र चौथा मॉडल। बीच-बीच में हम सीकेडी मॉडल्‍स को भी ला सकते हैं। हालांकि‍, हम 2 साल में 4 मॉडल्‍स को पेश करने की कोशि‍श करेंगे। ये सारे मॉडल्‍स एक के बाद एक करके आएंगे।

 

पैन इंडि‍या के साथ करेंगे एंट्री

 

मनोहर भट्ट ने बताया कि‍ मैनेजमेंट में काफी बेसि‍क थ्‍योरीज रहती हैं और उसी पर हम काम करने वाले हैं। पहला है प्रोडक्‍ट, हमारे पास काफी बेहतरीन प्रोडक्‍ट्स हैं। हमारे डि‍जाइनर्स ने भारत की यात्रा की और उन्‍होंने पाया कि‍ यहां लोग कई चीजों को काफी भावुक हैं और अपने प्रोडक्‍ट के डि‍जाइन में हर चीजों को ध्‍यान में रख कर बना रहे हैं। साथ ही, कीमतों को ध्‍यान में रखा जाएगा। 

 

दूसरी अहम चीज, हम जब भी आएंगे तो ऐसा नहीं होगा कि‍ केवल 4 से 5 बड़े शहरों में दिखेंगे। हम कस्‍टमर्स के पास रहेंगे। कस्‍टमर्स जहां भी जाएंगा उसे कंपनी के टच प्‍वांइट मि‍लेंगे। लोगों को ऐसा लगेगा कि‍ कंपनी भले ही देर से आई है लेकि‍न वह नेटवर्क के मामले में इसी दूसरी कंपनी से कम नहीं है। 

 

कम कीमत में ज्‍यादा फीचर्स वाली कार     

 

उन्‍होंने कहा कि‍ हम कॉम्‍पीटि‍टव रहने के साथ-साथ कस्‍टमर्स को वैल्‍यू भी देखें। कस्‍टमर्स जि‍तनी  कीमत दे रहा है उससे ज्‍यादा उसे उसकी वैल्‍यू मि‍लेगी। कीमत को कॉम्‍पीटि‍टव रखने के लि‍ए हम प्‍लांट के पास दो वेंडर पार्क बनाए जाएंगे। ऐसे में लोकलाइजेशन का हि‍स्‍सा काफी ज्‍यादा होगा। कारों का डि‍जाइन दूसरों से अलग रहेगा। 

 

आगे पढ़ें...

 

भारत के लि‍ए प्‍लग इन हाइब्रि‍ड बेहतर ऑप्‍शन   

 

भट्ट ने कहा कि‍ इलेक्‍ट्रि‍क व्‍हीकल्‍स को प्रमोट करने के लि‍ए भारत में प्‍लग इन हाइब्रि‍ड व्‍हीकल्‍स एक बेहतर ऑप्‍शन है। क्‍यों कि‍ जब तब इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर नहीं होगा कस्‍टमर्स को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। उन्‍होंने कहा कि‍ इलेक्‍ट्रि‍क व्‍हीकल्‍स में Kia मोटर्स की ग्‍लोबल हि‍स्‍सेदारी 5.6 फीसदी है। 2025 तक हमारा 25 इलेक्‍ट्रि‍क कारों को पेश करने का प्‍लान भी है। हमने ऑटो एक्‍सपो में भी अपनी इलेक्‍ट्रि‍क कार को शोकेस कि‍या था। वैसे भी हमारे पास HEV, हाइब्रि‍ड, प्‍लग इन हाइब्रि‍ड, इलेक्‍ट्रि‍क व्‍हीकल और हाइड्रोजन व्‍हीकल्‍स जैसी सभी टेक्‍नोलॉजीज हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट