बिज़नेस न्यूज़ » Auto » Industry/ TrendsSUV-सेडान ने छोटी कारों के मार्केट में लगाई सेंध, एक साल में घट गई 4% हिस्सेदारी

SUV-सेडान ने छोटी कारों के मार्केट में लगाई सेंध, एक साल में घट गई 4% हिस्सेदारी

इंडि‍यन ऑटोमोबाइल इंडस्‍ट्री और कार बायर्स धीरे-धीरे एंट्री लेवल कारों की जगह प्रीमि‍यम सेगमेंट की ओर बढ़ रहे हैं।

ऑटो एक्सपो 2018 - एसयूवी-सेडान ने छोटी कारों के मार्केट में लगाई सेंध, Auto Expo 2018 - SUV and Sedan Become Buyers Preference
 
नई दि‍ल्‍ली। इंडि‍यन ऑटोमोबाइल इंडस्‍ट्री और कार बायर्स धीरे-धीरे एंट्री लेवल कारों की जगह प्रीमि‍यम सेगमेंट की ओर बढ़ रहे हैं। अब कस्‍टमर्स एंट्री लेवल या स्‍मॉल कारों की जगह कॉम्‍पैक्‍ट स्‍पोर्ट्स यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल (एसयूवी) और एमपीवी को अपनी पहली पसंद बना रहे हैं। बीते एक साल में जहां एक ओर हैचबैक का मार्केट शेयर घटा है, वहीं यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल्‍स सेगमेंट ने अपनी पकड़ मजबूत की है। यही वजह है कि‍ कंपनि‍यों की ओर से मार्केट में एंट्री लेवल की जगह यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल सेगमेंट में ज्‍यादा लॉन्‍चिंग की गई हैं। 
 
कम हो रहा है हैचबैक का मार्केट शेयर  
 
इसमें कोई शक नहीं है कि‍ अब भी हैचबैक सेगमेंट का मार्केट पर कब्‍जा है लेकि‍न इसका मार्केट धीरे-धीरे कम होता जा रहा है। जनवरी 2017 में हैचबैक सेगमेंट का मार्केट करीब 52 फीसदी पर था जोकि‍ अब घटकर 48 फीसदी पर पहुंच गया। वहीं, यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल्‍स सेगमेंट (एसयूवी और एमपीवी) का मार्केट शेयर एक साल पहले 28 फीसदी था जोकि‍ जनवरी 2018 में बढ़कर 33 फीसदी हो गया है। इसमें भी एसयूवी का मार्केट शेयर 20 फीसदी है। 
 
फाइनेंशि‍यल ईयर 2017-18 के पहले नौ महीने के दौरान छोटी कारों जैसे मारुति‍ सुजुकी ऑल्‍टो, ह्युंडई ईयॉन और रेनो क्‍वि‍ड का पैसेंजर व्‍हीकल मार्केट में हि‍स्‍सेदारी 17.9 फीसदी रही जोकि‍ फाइनेंशि‍यल ईयर 2011-12 की तुलना में 6.5 फीसदी कम है। इसकी वजह यह है कि‍ कई नए कार बायर्स के लि‍ए एंट्री लेवल कार का मतलब प्रीमि‍यम हैचबैक या कॉम्‍पैक्‍ट सेडान है। 
 
साल
हैचबैक मार्केट शेयर यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल मार्केट शेयर
जनवरी 2017 52 फीसदी 28 फीसदी
जनवरी 2018 48 फीसदी 33 फीसदी

 

एंट्री लेवल सेगमेंट में नई लॉन्‍चिंग कम 
 
सोसाइटी ऑफ इंडि‍यन ऑटोमोबाइल मैन्‍युफैक्‍चरर्स (सि‍आम) के डीजी वि‍ष्‍णु माथुर ने कहा कि कार सेगमेंट की सेल्‍स फ्लैट रही है क्‍योंकि‍ एंट्री लेवल सेगमेंट में नए मॉडल्‍स की लॉन्‍चिंग नहीं देखी गई है। उन्‍होंने कहा है कि‍ अब कस्‍टमर्स की पसंद क्रॉसओवर और कॉम्‍पैक्‍ट एसयूवी पर शि‍फ्ट हो गई है।
 
यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल्‍स ने संभाली कमान
 
वि‍ष्‍णु माथुर ने कहा कि‍ जनवरी में पैसेंजर व्‍हीकल्‍स की टोटल ग्रोथ उम्‍मीदों के मुताबि‍क है और यह ऑटो एक्‍सपो से पहले के मूड को दर्शाता है। उन्‍होंने कहा कि‍ यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल्‍स लगातार ग्रोथ की कमान को संभाल रहा है क्‍योंकि‍ यह ज्‍यादा से ज्‍यादा कस्‍टमर्स को अपनी ओर आकर्षि‍त कर रहा है।
 
सि‍आम के आंकड़ों के मुताबि‍क, यूटिलि‍टी व्‍हीकल्‍स की सेल्‍स जनवरी 2018 माह के दौरान 85,850 यूनि‍ट्स रही जबकि‍ पि‍छले साल की समान अवधि‍ में यह आंकड़ा 62,263 यूनि‍ट्स थी। माथुर ने कहा कि‍ यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल्‍स की सेल्‍स जनवरी में वॉल्‍यूम के हि‍साब से दूसरे नंबर पर है। बीते साल जुलाई में यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल्‍य सेल्‍स का आंकड़ा 86,874 यूनि‍ट्स था।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट