Home » Auto » Industry/ TrendsChina plan to allow full foreign ownership in auto industry

वि‍देशी कार कंपनि‍यों ने लि‍ए दरवाजा खोलने के लि‍ए तैयार चीन, पेश कि‍या प्‍लान

चीने ने वि‍देशी ऑटोमोबाइल कंपनि‍यों के लि‍ए अपने दरवाजे खोलने का प्‍लान बनाया है।

China plan to allow full foreign ownership in auto industry

बीजिंग। चीने ने वि‍देशी ऑटोमोबाइल कंपनि‍यों के लि‍ए अपने दरवाजे खोलने का प्‍लान बनाया है। चीन ने ऐलान कि‍या है कि‍ वह पांच साल में वि‍देशी ऑटोमोबाइल कंपनि‍यों को पूरा मालि‍काना हक देने की योजना बना रहे हैं। माना जा रहा है कि‍ इससे अमेरि‍की राष्‍ट्रपति‍ डोनाल्‍ड ट्रंप के साथ बढ़ रहे वि‍वाद को कम करने में काम आएगी। साथ ही, दूसरे ट्रेडिंग पार्टनर्स के साथ भी तनावपूर्ण रि‍श्‍ते कम होंगे।  

 

क्‍या है प्‍लान

 

इस बदलाव से चीन उन नि‍यमों को खत्‍म कर देगा जहां ग्‍लोबल ऑटोमोबाइल कंपनि‍यों को स्‍थानीय राज्‍य स्‍वामि‍त्‍व पार्टनर्स के जरि‍ए काम करना अनि‍वार्य है। कंपनि‍यों को अपने संभावि‍त कॉम्‍पीटि‍टर्स के साथ टेक्‍नोलॉजी बांटने के लि‍ए एग्रीमेंट करना पड़ता था। हालांकि‍, यह साफ नहीं है कि‍ इससे ट्रंप शांत होंगे या नहीं। ट्रंप ने 150 अरब डॉलर का लागत वाले चीन के समान पर टैरि‍फ बढ़ाने की धमकी दी है।

 

चीन के राष्‍ट्रपति‍ ने क्‍या कहा

 

बीते हफ्ते चीन के राष्‍ट्रपति‍ शी जिनपिंग ने एक ऐलान में कहा कि‍ बीजिंग ओनरशि‍प की सीमा को आसान करेगा और ऑटो इंपोर्ट ड्यूटीज को घटाएगा। हालांकि‍, उन्‍होंने यह नहीं कहा कि‍ इन सीमाओं का पूरी तरह से कब तक खत्‍म होगा। कैबि‍नेट की प्‍लानिंग एजेंसी ने कहा है कि‍ इलेक्‍ट्रि‍क व्‍हीकल बनाने वालों की फॉरेन ओनरशि‍प पर लगी सीमा को इस साल खत्‍म कर दि‍या जाएगा। यही दूसरे कमर्शि‍यल व्‍हीकल्‍स बनाने वालों के लि‍ए कि‍या जाएगा। कमर्शि‍यल व्‍हीकल के लि‍ए यह सीमा 2020 तक खत्‍म हो सकती है और पैसेंजर व्‍हीकल्‍स के लि‍ए 2022 तक। 

 

इन कंपनि‍यों को होगा फायदा

 

नेशनल डेवलपमेंट एंड रि‍फॉर्म कमि‍शन ने ऐलान में कहा है कि‍ आने वाले पांच साल के दौरान सभी ओनरशि‍प सीमाओं को हटा दि‍या जाएगा। अब तक, ग्‍लोबल कार कंपनि‍यों जैसे जनरल मोटर्स कॉर्प. और फॉक्‍सवैगन एजी को चीन पार्टनर के साथ ज्‍वाइंट वेंचर में 50 फीसदी से ज्‍यादा हि‍स्‍सा लेने की मंजूरी नहीं है। साथ ही, वह दो ज्‍वाइंट वेंचर्स से ज्‍यादा में इन्‍वेस्‍ट नहीं कर सकते हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट