बिज़नेस न्यूज़ » Auto » Industry/ Trendsभारत में 2-3 साल भी टि‍क नहीं पाईं 7 कारें, होंडा Mobilio से फोर्ड फिएस्‍टा का नाम शामि‍ल

भारत में 2-3 साल भी टि‍क नहीं पाईं 7 कारें, होंडा Mobilio से फोर्ड फिएस्‍टा का नाम शामि‍ल

ज्‍यादा कीमत, खराब मार्केटिंग या मार्केट के अनुकूल नहीं होने की वजह से फ्लॉप हो गईं कारें

1 of

नई दि‍ल्‍ली। कार कंपनियों के लिए भारत का मार्केट लगातार हॉट बनता जा रहा है। बढ़ते कस्टमर को भुनाने के लिए दुनिया भर की प्रमुख कंपनियों ने कई मॉडल लांच किए हैं। लेकिन  सारे मॉडल सफल भी नहीं हो पाए। ऐसी फ्लॉप मॉडल बनाने वाली  कार कंपनियों के लिस्ट में होंडा से लेकर फोर्ड तक शामिल हैं।  इन मॉडल का रिस्पांस इतना ठंडा रहा कि कंपनियों को 2-3 साल में मार्केट से उन्हें वापस लेना पड़ा। जल्‍द बंद होने वाली कारों की लि‍स्‍ट में होंडा Mobilio से लेकर फोर्ड की कारों तक का नाम शामि‍ल हैं। जो कारें बंद की गईं उनके फ्लॉप होने के पीछे कई कारण रहे। इसमें ज्‍यादा कीमत, खराब मार्केटिंग और मार्केट के अनुकूल नहीं होना प्रमुख वजह रहा है।

 

कारों के साथ-साथ वि‍देशी कंपनि‍यां भी फ्लॉप

 

केवल कारें ही नहीं कई वि‍देशी कंपनि‍यां भी भारतीय मार्केट में फ्लॉप साबि‍त हुई हैं। इसमें जनरल मोटर्स, डेवू, ओपल आदि‍ कंपनि‍यों का नाम प्रमुख है। इन कंपनि‍यों की स्‍ट्रैटजी फेल हो गई है और उनको यहां अपना ऑपरेशन बंद करना पड़ा।

 

होंडा Mobilio

 

टाइम लाइन: 2014-2017

 

होंडा मोबिलि‍ओ एक ब्रि‍ओ बेस्‍ड मल्‍टी पर्पस व्‍हीकल (MPV) थी जि‍सका प्रोडक्‍शन और सेल भारत में बंद कर दि‍या गया। मोबि‍लि‍ओ में वहीं इंजन लगा था जो होंडा सि‍टी में था। इसका मतलब है कि‍ इसके पेट्रोल वेरि‍एंट में 1.5 लीटर iVTEC पेट्रोल मोटर थी जोकि‍ मैक्‍सि‍मम 117 बीएचपी पावर जेनरेट करने की क्षमता रखती थी।

 

इसका एक स्‍पोर्टी आरएस वेरि‍एंट भी पेश किया गया था। हालांकि‍, मोबि‍लिओ ज्‍यादा समय तक इंडि‍यन मार्केट में नहीं टि‍क पाई क्‍योंकि‍ मारुति‍ अर्टि‍गा ने इसकी सेल्‍स को घटा दि‍या था।  

 

आगे पढ़ें...

शेवरले ट्रेलब्‍लेजर

 

टाइम लाइन: 2015-2017 

 

शेवरले इंडि‍या की फ्लैगशि‍प कारों में से एक ट्रेलब्‍लेजर थी। ट्रेलब्‍लेजर एक मजबूत और परफॉर्मेस देने वाली कार थी। यह कार मैक्‍सि‍मम 197 बीएचपी पावर और 500 एनएम टॉर्क जेनरेट करने की क्षमता रखती थी। इस कार में काफी स्‍पेस भी मि‍लता था लेकि‍न यह ज्‍यादा समय तक टि‍क नहीं पाई। 


भारत में बंद हो चुका है शेवरले ब्रांड

 

जनरल मोटर्स इंडि‍या ने 18 मई 2017 को ऐलान कि‍या था कि‍ वह इस साल के अंत तक कारों को बेचना बंद कर देगी और केवल एक्‍सपोर्ट ऑपरेशन पर फोकस करेगी। जनरल मोटर्स की ओर से लि‍या गया फैसला जीएम इंडि‍या के भवि‍ष्य की योजना को देखते हुए लि‍या गया। जीएम इंडि‍या यहां शेवरले ब्रांड की कारों को बेच रही थी।

 

आगे पढ़ें...

Peugeot 309

 

टाइम लाइन: 1994-1997  
 
यह कार काफी पसंद की गई थी लेकि‍न खराब सर्वि‍स और  कम डीलर नेटवर्क की वजह से यह ज्‍यादा दि‍नों तक नहीं चल पाई।
 
इंजन : 1.4 लीटर पेट्रोल
पावर : 70 बीएचपी
टॉर्क : 110 एनएम 

 

ओपल वेक्‍ट्रा 

 

टाइम लाइन: 2003-2005  
 
ओपल वेक्‍ट्रा का शानदार लुक होने के बावजूद यह भारत में फेल हो गई। यह कार सीबीयू रूट से भारत में बेची जा रही थी इस वजह से इसकी कीमत काफी ज्‍यादा थी।
 
इंजन : 2.2 लीटर पेट्रोल
पावर : 146 बीएचपी
टॉर्क : 203 एनएम 

 

आगे पढ़ें...

सुजुकी कि‍जाशी 

 

टाइम लाइन: 2011-2014  
 
इंजन : 2.4 लीटर पेट्रोल
पावर : 175 बीएचपी
पावर : 230 एनएम

 

फोर्ड फ्यूजन 

 

टाइम लाइन: 2006-2010  
 

इंजन : 1.6 लीटर पेट्रोल
पावर : 101 बीएचपी
टॉर्क : 146 एनएम

 

फोर्ड फि‍एस्‍टा

 

टाइम लाइन: 2011-2015

 

स्‍पोर्टी लुक वाली फोर्ड फि‍एस्‍टा फेसलि‍फ्ट का फ्रंट एस्‍टन मार्टि‍न जैसा दि‍खता था। लेकि‍न फि‍एस्‍टा की डि‍मांड भारत में काफी कम रही। इस कार में 1.5 लीटर डीजल इंजन लगा था।

 

 

यह भी पढ़ें - 2017 में इन कारों का भारत में खत्‍म हुआ सफर, ये है लि‍स्‍ट

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट