बिज़नेस न्यूज़ » Auto » Industry/ Trendsनई कार खरीदते वक्‍त कभी न दें ये चार्ज, डीलर्स करते हैं धोखाधड़ी

नई कार खरीदते वक्‍त कभी न दें ये चार्ज, डीलर्स करते हैं धोखाधड़ी

अगर आप नई कार खरीदने जा रहे हैं तो कुछ चीजों का ध्‍यान रखना बेहद जरूरी है।

1 of

नई दि‍ल्‍ली। अगर आप नई कार खरीदने जा रहे हैं तो कुछ चीजों का ध्‍यान रखना बेहद जरूरी है। हो सकता है ऑटो डीलर आपसे कुछ चार्ज वसूलने की बात कहे, खासतौर से हैंडलिंग चार्जेज। हाल ही में पुणे आरटीओ ने हैंडलिंग चार्जेज लेने के   लि‍ए कार और टू-व्‍हीलर डीलर्स को पकड़ना शुरू कि‍या है।

 

इससे पहले भी ऐसा मामला सामने आया था जहां एक बायर ने जब टाटा मोटर्स डीलर से नेक्‍सॉन को खरीदने के लि‍ए कोट मांगा तो उसे हैंडलिंग चार्जेज के साथ कोट दि‍या गया। वि‍भि‍न्‍न मामलों के दौरान यह बताया गया है कि‍ हैंडलिंग चार्जेज वसूलना गैरकानूनी है।

 

आरटीओ ने डीलर्स से क्‍या कहा

 

ऑटोमाबाइल डीलर्स के साथ हुई बैठक में आरटीओ ने सख्‍त नि‍र्देश देते हुए कहा है कि‍ कस्‍टमर्स से हैंडलिंग चार्जेज वसूलना गैरकानूनी है क्‍योंकि‍ बायर को रजि‍स्‍टर्ड व्‍हीकल उपलब्ध कराना डीलर्स की जि‍म्‍मेदारी है। हमने पहले ही सभी डीलर्स से हैंडलिंग चार्जेज के तौर पर पैसे नहीं वसूलने के लि‍ए कहा है क्‍योंकि यह गैरकानूनी है। 

 

डीलर्स ऐसे कहते हैं धोखधड़ी 

 

टाटा नेक्‍सॉन को खरीदने वाले कस्‍टमर को यह पता था कि‍ हैंडलिंग चार्जेज गैरकानूनी है। कस्‍टमर ने जब डीलर से पूछताछ की तो उसे बताया गया कि‍ यह अनि‍वार्य और सभी कस्‍टमर्स को इसका भुगतान करना पड़ता है। इतना ही नहीं, कस्‍टमर को यह भी कहा गया कि‍ वह बि‍ना हैंडलिंग चार्जेज का भुगतान कि‍ए व्‍हीकल नहीं खरीद सकता है। तब कस्‍टमर ने तय कि‍या कि‍ वह इस मामले को टाटा मोटर्स के सामने रखेगा।

 

आगे पढ़ें...

 

टाटा मोटर्स के सामने रखा मामला

 

कस्‍टमर ने इस मामले को टाटा मोटर्स के सामने रखा और कंपनी के सीईओ को इसके बारे में लि‍खा। कस्‍टमर तब हैरान हुआ जब उसे उसी दि‍न कंपनी से जवाब मि‍ला और अगले ही दि‍न उस डीलर ने कस्‍टमर को बताया कि‍ उसका हैंडलिंग चार्जेज हटा दि‍ए गए हैं। 

 

नया नहीं है यह मामला

 

टाटा नेक्‍सॉन के लि‍ए हैंडलिंग चार्जेज  लेने का मामला नया नहीं है। ऐसे कई मामले सामने आए हैं और कई बार कोर्ट ने कस्‍टमर के पक्ष में फैसला लि‍या है और डीलर या मैन्‍युफैक्‍चरर्स को नि‍र्देश दि‍या है कि‍ वह इसे हटाएं और कस्‍टमर्स से एक्‍स-शोरूम कीमत, टैक्‍स, रजि‍स्‍ट्रेशन और इंश्‍योरेंस कॉस्‍ट के अलावा और कुछ न लें।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट