बिज़नेस न्यूज़ » Auto » Industry/ Trendsमारुति सुजुकी ने 52,686 बलेनो-स्विफ्ट कारें कीं रिकॉल, ब्रेक वैक्यूम में फॉल्ट की आशंका

मारुति सुजुकी ने 52,686 बलेनो-स्विफ्ट कारें कीं रिकॉल, ब्रेक वैक्यूम में फॉल्ट की आशंका

मारुति सुजुकी इंडिया ने सोमवार को अपनी बलेनो हैचबैक और थर्ड जेनरेशन स्विफ्ट की 52,686 यूनिट्स के रिकॉल का ऐलान किया। कंप

1 of

नई दिल्ली. मारुति सुजुकी इंडिया ने सोमवार को अपनी बलेनो हैचबैक और थर्ड जेनरेशन स्विफ्ट की 52,686 यूनिट्स के रिकॉल का ऐलान किया। कंपनी ने ब्रेक वैक्यूम होज में गड़बड़ी की संभावना के मद्देनजर यह कदम उठाया है।
ब्रेक वैक्यूम एक रबड़ पाइप होता है, जो ब्रेक लगने पर वैक्यूम क्रिएट करता है और रिलीज करता है। हालांकि इसका ब्रेकिंग और ब्रेकिंग डिस्टैंस पर कोई असर नहीं होता है।

 

 

कॉम्पैक्ट सेगमेंट की हैं दोनों कारें
ये दोनों कारें मारुति सुजुकी के सबसे ज्यादा बिकने वाले मॉडल्स में शामिल हैं। अप्रैल में कॉम्पैक्ट कार सेगमेंट कंपनी का सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला सेगमेंट रहा, जिसमें स्विफ्ट और बलेनो भी आती है। कंपनी ने अप्रैल में इस सेगमेंट में सालाना आधार पर 31.8 फीसदी की ग्रोथ के साथ 83,834 यूनिट बेची थीं। 

 

 

दिसंबर से मार्च के बीच बनी हैं ये कारें
मारुति सुजुकी ने अपनी वेबसाइट पर जारी एक नोटिफिकेशन में कहा कि कंपनी ने जिन गाड़ियों को रिकॉल किया है, वे 1 दिसंबर, 2017 और 16 मार्च, 2018 के बीच मैन्युफैक्चर की गई थीं। इस रिकॉल में इस साल फरवरी में लॉन्च की गईं स्विफ्ट की 44,982 यूनिट शामिल हैं और बलेनो की 7,704 यूनिट शामिल हैं।

 

 

14 मई से शुरू होगा सर्विस कैंपेन
कंपनी ने कहा, ‘14 मई से इस सर्विस कैंपेन के तहत डीलर्स द्वारा फॉल्टी पार्ट की जांच और रिप्लेसमेंट के लिए इन व्हीकल्स के मालिकों से संपर्क किया जाएगा।’ इस जांच और रिप्लेसमेंट की पूरी लागत की भरपाई कंपनी करेगी। 
कंपनी ने कहा कि ऑटोमोबाइल कंपनियों द्वारा गड़बड़ी को दूर करने के लिए ग्लोबल स्तर पर सर्विस कैंपेन चलाए जाते हैं, जिससे कस्टमर्स को असुविधा हो सकती है। 

 

 

नहीं लिया जाएगा कोई चार्ज
भारत में इंडस्ट्री बॉडी सियाम द्वारा जुलाई, 2012 में स्वीकार की गई वॉल्युंट्री रिकॉल पॉलिसी के तहत ऑटोमोबाइल कंपनियां गड़बड़ी की संभावनाओं वाली कारों का रिकॉल करती हैं। इसके लिए कस्टमर्स से कोई चार्ज वसूल नहीं किया जाता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट