विज्ञापन
Home » Auto » Industry/ TrendsTracking Device in Electric vehicles

टू-व्हीलर और कार के लिए नया नियम, गाड़ी में लगवाएं ये खास डिवाइस, सरकार देगी 1.5 लाख रुपए तक की सब्सिडी

देशभर में 1 अप्रैल से लागू होगा नियम

Tracking Device in Electric vehicles

Tracking Device in Electric vehicles: केंद्र सरकार की ओर से देशभर में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए FAME स्कीम शुरू की गई है। इसके दूसरे चरण को सरकार की तरफ से मंजूरी मिल गई है, जो 1 अप्रैल से देशभर में लागू हो रही है।

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की ओर से देशभर में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए FAME स्कीम शुरू की गई है। इसके दूसरे चरण को सरकार की तरफ से मंजूरी मिल गई है, जो 1 अप्रैल से देशभर में लागू हो रही है। इसके तहत इलेक्ट्रिक व्हीकल पर सब्सिडी देने का प्रावधान है। लेकिन इसके लिए व्हीकल में एक खास डिवाइस लगानी होगी। 

ट्रैकिंग डिवाइस लगाने पर मिलेगी सब्सिडी

दरअसल  सरकार फेम-2 के तहत जल्द ही इलेक्ट्रिक गाड़ियों में ट्रैकिंग डिवाइस लगाना अनिवार्य बना सकती है। सीएनबीसी आवाज की खबर के मुताबिक FAME-2 स्कीम के तहत सब्सिडी पाने के लिए गाड़ी में ट्रैकिंग डिवाइस लगवाना होगा। इसके तहत सरकार और ग्राहक दोनों को कार की जानकारी रहेगी। इस योजना के लागू होने से चार्जिंग इंफ्रास्ट्रचर बनाने में मदद होगी। साथ ही ये डिवाइस गाड़ी की फरफॉर्मेंस के बारे में भी बताएगी।

योजना के लिए सरकार ने 10 हजार करोड़ रुपए किए मंजूर

ट्रैकिंग डिवाइस को ऐप की मदद से इलेक्ट्रिक गाड़ियां में जोड़ा जायेगा। योजना के तहत सरकार करीब 10 लाख टू-व्हीलर इलेक्ट्रिक वाहनों पर 20-20 हजार रुपए सब्सिडी देनी की योजना है। साथ ही अन्य इलेक्ट्रिक वाहनों पर 1.5 लाख रुपए की छूट का प्रावधान किया जा सकता है। इस योजना के लिए पिछले हफ्ते कैबिनेट ने 10 हजार करोड़ रुपए मंजूर किए थे। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन