विज्ञापन
Home » Auto » Industry/ TrendsScooter sales India

13 साल में पहली बार घटी स्कूटर सेल, ये बड़ी वजह आई सामने

कार की बिक्री पहुंची 5 साल के सबसे निचले स्तर पर

Scooter sales India

Scooter sales India: भारत में 13 साल बाद पहली बार स्कूटर की बिक्री में कमी दर्ज की गयी है, जबकि कार के पैसेंजर सेगमेंट की सेल्स 5 साल के सबसे निचले पायदान पर पहुंच गई है। भारत के टू-व्हीलर मार्केट में भारत का एक तिहाई पर कब्जा है।

नई दिल्ली. भारत में 13 साल बाद पहली बार स्कूटर की बिक्री में कमी दर्ज की गयी है, जबकि कार के पैसेंजर सेगमेंट की सेल्स 5 साल के सबसे निचले पायदान पर पहुंच गई है। भारत के टू-व्हीलर मार्केट में भारत का एक तिहाई पर कब्जा है। साल में 2018-19 में कुल 67 लाख स्कूटर बिके, जो पिछले साल से 0.27 प्रतिशत कम है। पिछले साल करीहब 67.2 स्कूटर बिके थे। 


ये रही वजह


टीओआई के मुताबिक देश में नौकरियों की कमी एवं ग्रामीण तथा छोटे शहरों कस्बों में बढ़ती आर्थिक परेशानियों की वजह से ऑटो इंडस्ट्री को परेशानी में डाल दिया है। इसका असर ऑटो इंडस्ट्री पर  दिखाना शुरू हो गया है। साथ ही मोटरसाइकिल और कार की बढ़ी कीमते भी एक वजह बन रही हैं। दरअसल डॉलर के मुकाबले रुपए की कमजोरी और इनपुट कास्ट बढ़ने की वजह से कार और टू-व्हीलर निर्माता कंपनी ने दाम में इजाफा किया है।

 

नौकरियों के चलते कार और टू-व्हीलर सेल्स प्रभावित

सियाम के अध्यक्ष राजन वढेरा ने कहा कि देश में नौकरियों की मौजूदा स्थिति के चलते भी पैसेंजर व्हीकल्स इंडस्ट्री की ग्रोथ पर असर पड़ा है। वढेरा महिंद्रा ऐंड महिंद्रा के ऑटोमोटिव बिजनस के भी प्रेजिडेंट हैं। उन्होंने कहा कि चुनावों और इंश्योरेंस के अलावा ईंधन की बढ़ती कीमतों की वजह से व्हीकल की खरीदारी पर असर पड़ा है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन