Home » Auto » Industry/ Trendssacrficed his bmw car for lovingRoyal Enfield

Royal Enfield की दीवानगी में बीएमडब्ल्यू को कर दिया कुर्बान

Royal Enfield से साउथ अमेरिका से नॉर्थ अमेरिका तक की यात्रा

1 of

मनी भास्कर, नई दिल्ली।

विदेश में Royal Enfield की बढ़ती दीवनगी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि साउथ कोरिया के एक युवक ने Royal Enfield के लिए अपने बीएमडब्ल्यू कार को बेच डाला। अब वह युवक Royal Enfield से साउथ अमेरिका से नॉर्थ अमेरिका तक की यात्रा कर चुका है। 11 महीने में 51,000 किलोमीटर का सफर उसने तय किया है। रशलेन में छपी खबर के मुताबिक  हन सुंगमिन नामक इस युवक की कहानी 2009 में शुरू होती है जब वह 3 महीने के लिए भारत घूमने आया था। भारत में पहली बार उसने Royal Enfield को देखा और उसकी सवारी का अनुभव लिया। फिर क्या था, वह Royal Enfield का ऐसा दीवाना हुआ कि हर हाल में Royal Enfield को कोरिया ले जाने की ठान ली।

 

Royal Enfield के लिए बीएमडब्ल्यू कुर्बान

साल 2013 में संगमिन किसी तरह से साउथ कोरिया के एक डीलर को भारत से Royal Enfield मंगाने के लिए मना लिया। उस डीलर ने संगमिन को क्लासिक500 मंगाकर दे दिया। लेकिन संगमिन को 6.2 लाख रुपये उसे देने पड़े जो कि काफी महंगा सौदा था। लेकिन Royal Enfield के प्यार को पाने के लिए उसने अपनी बीएमडब्ल्यू कार बेच दी। Royal Enfield हासिल करने के बाद उसे पूरी दुनिया को दिखाने के लिए संगमिन कोरिया से निकल पड़ा अमेरिका की ओर।

 

 

11 महीने तक का लगातार सफर

संगमिन ने अपने अनुभवों का साझा करते हुए कहा कि उनका सफर काफी रोमांचक रहा क्योंकि उनके साथ उनका हमसफर Royal Enfield था। उन्होंने बताया कि वह कोरिया से साउथ अमेरिका के चिली शहर गए। फिर वहां से नार्थ अमेरिका के अलास्का तक का सफर किया। संगमिन ने अनुभवों को साझा करते हुए बताया इस लंबी यात्रा के दौरान उन्होंने कई प्रकार के मौसम, कई प्रकार की सड़कों का सामना किया। कई बार जंगली जानवरों के चंगुल में आते-आते बचे। लेकिन Royal Enfield के साथ ने उनकी सारी परेशानी को किनारा कर दिया। 51,000 किलोमीटर की यात्रा के लिए संगमिन 5 लाख डॉलर खर्च कर चुके हैं। उन्होंने बताया कि अमेरिका व मैक्सिको में Royal Enfield के कुछ डीलरों ने उनकी मदद की।

 

आगे पढ़ें : Royal Enfield को वापस ले जाने की सता रही है चिंता

Royal Enfield को वापस ले जाने की सता रही है चिंता

संगमिन अलास्का पहुंच चुके हैं। लेकिन अब यहां से उन्हें Royal Enfield को वापस ले जाने की चिंता सता रही है। वह अपनी बाइक को कार्गो के माध्यम से कोरिया भेजना चाहते है। लेकिन इस इलाके में कोई कार्गो या शिपिंग सर्विस नहीं होने की वजह से वह ऐसा नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने Royal Enfield  के डीलरों से भी संपर्क किया है, लेकिन उन्हें कोई सहायता नहीं मिली है। Royal Enfield से उन्हें इतना प्यार है कि वे किसी भी कीमत पर अकेले वापस नहीं आना चाहते हैं। इसलिए उन्होंने फैसला किया है कि अलास्का से वे लॉस एंजिल्स जाएंगे और वहां से कोरिया के अपनी बाइक को शिप करेंगे।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट