विज्ञापन
Home » Auto » Industry/ TrendsAutomatic braking system proposal

विश्व के 40 देश के खिलाफ भारत, चीन और अमेरिका, वाहनों में ऑटोमेटिक ब्रेकिंग सिस्टम पर नही बनीं बात

नियम के दायरे में केवल नए वाहन आएंगे।

Automatic braking system proposal

Automatic braking system proposal: भारत,चीन और अमेरिका जैसे देश नए वाहनों में ऑटोमेटिक ब्रेकिंग सिस्टम लगाने की अनिवार्यता के खिलाफ हैं। इस मामले में तीनों देश एक साथ आ गए। इनका मानना है कि जब उद्योग क्षेत्र की बात आती है तो बड़े वाहन निर्माता देश संयुक्तराष्ट्र के नियमों के बजाए अपने राष्ट्रीय नियमों को तरजीही देते हैं। 

नई दिल्ली. भारत,चीन और अमेरिका जैसे देश नए वाहनों में ऑटोमेटिक ब्रेकिंग सिस्टम लगाने की अनिवार्यता के खिलाफ हैं। इस मामले में तीनों देश एक साथ आ गए। इनका मानना है कि जब उद्योग क्षेत्र की बात आती है तो बड़े वाहन निर्माता देश संयुक्तराष्ट्र के नियमों के बजाए अपने राष्ट्रीय नियमों को तरजीही देते हैं। 

 

40 देश इस प्रस्ताव पर आए साथ 

हुआ यूं कि जापान और यूरोपीय संघ की अगुवाई में 40 देशों ने नई कारों और हल्के कमर्शियल वाहनों में ऑटोमेटिक ब्रेकिंग सिस्टम के नियम लागू करने के प्रस्ताव पर सहमति जताई है। हालांकि, भारत, चीन और अमेरिका जैसे प्रमुख बड़े देश अभी इसके पक्ष में नहीं हैं। संयुक्त राष्ट्र (United Nation) की एक एजेंसी ने इस मामले की जानकारी दी। 

 

सिस्टम कैसे करेगा काम 

 सभी वाहनों में ऑटोमेटिक ब्रेकिंग सिस्टम लगाने के लिए नए नियमों की जरूरत होगी। इसके लिए गाड़ियों में सेंसर युक्त कंट्रोल यूनिट लगानी होगी, जो वाहन से किसी पैदल चलने वाले व्यक्ति या कोई चीजी की दूरी के बारे में जानकारी हासिल करके दुर्घटना की स्थिति में ऑटोमेटिक ब्रेक लगा देता है। यह ब्रेकिंग सिस्टम 60 किलोमीटर प्रति घंटे या उससे कम स्पीड की गाड़ियों के लिए होगा। यह पूरी प्रक्रिया नई कारों के लिए होगी। पुरानी कार इस नए नियम के दायरे में नहीं आएगी। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन