बिज़नेस न्यूज़ » Auto » Industry/ Trendsइन शहरों में नहीं चला पाएंगे कार, प्रदूषण से बचाने के लिए टाइमलाइन तय

इन शहरों में नहीं चला पाएंगे कार, प्रदूषण से बचाने के लिए टाइमलाइन तय

दुनिया के कई शहरों में कार्बन उत्सर्जन करने वाली कारों के चलाने पर रोक लगाने के प्रयास किए जा रहे हैं

car free cities of world

 

 

नई दिल्ली. प्रदूषण से लोगों को बचाने के लिए दुनिया के कई शहरों में कार्बन उत्सर्जन करने वाली कारों के चलाने पर रोक लगाने के प्रयास किए जा रहे हैं। कई शहरों के लिए इसकी टाइमलाइन की भी घोषणा कर दी गई है। moneybhaskar बता रहा है कौन से शहर में कब से कार की driving पर रोक लग जाएगी-

 

 

नार्वे की राजधानी में अगले साल से बंद हो जाएगी कार

नार्वे की राजधानी oslo के सिटी सेंटर इलाके में वर्ष 2019 से कार चलाने पर पूरी तरह से प्रतिबंध होगा। नार्वे की सरकार सिटी सेंटर इलाके में पब्लिक ट्रांसपोर्ट की सुविधा पर भारी निवेश कर रही है। नार्वे ने वर्ष 2025 से देश भर में कार्बन उत्सर्जन करने वाली कार पर रोक का फैसला है।

 

 

स्पेन के एक हिस्से में 2020 से बैन हो जाएगी कार 

स्पेन की राजधानी मैड्रिड में 500 एकड़ में फैले सिटी सेंटर में 2020 से कार चलाने पर प्रतिबंध लगाने की योजना है। इसलिए वहां के बिजनेस स्ट्रीट को ड्राइविंग की जगह वाकिंग के हिसाब से रिडिजाइन किया जा रहा है। शहर की अन्य जगहों पर भी कार चलाने को हतोत्साहित करने के लिए नियम बनाए जा रहे हैं। नियम का पालन नहीं करने वालों को कम से कम 7000 रुपये का जुर्माना देना होगा।

 

 

जर्मनी के हैमबर्ग के लिए भी है प्लान

जर्मनी के शहर हैमबर्ग भी कुछ ऐसी ही योजना है। इस शहर में वाकिंग व बाइकिंग पर जोर दिया जा रहा है और शहर को इन बातों को ध्यान में रखते हुए तैयार किया जा रहा है। शहर के कुछ इलाकों में अगले दो साल में सिर्फ बाइकर्स व पैदल चलने वालों को ही जाने की इजाजत होगी।

 

 

डेनमार्क, पेरिस और लंदन के लिए भी है योजना

डेनमार्क की राजधानी कोपेनहगेन में यूरोप के अन्य शहरों के मुकाबले काफी कम कारें चलती हैं। शहर में 200 माइल्स की बाइक  लेन बनाई जा रही है। बाइक के लिए वहां सुपरहाईवे का निर्माण किया जा रहा है। 2025 तक शहर को पूरी तरह से कार्बन मुक्त बनाना है।

फ्रांस की राजधानी पेरिस में भी वर्ष 2020 तक बाइक लेन की संख्या को बढ़ाने और कुछ सड़कों पर सिर्फ इलेक्ट्रिक कारें चलेंगी। पेरिस में वीकडेज पर 20 साल पुरानी कार को चलाने की पूरी मनाही है।

ब्रिटेन की राजधानी लंदन में 2020 से डीजल कार चलाना पूरी तरह से बंद हो जाएगा। वर्तमान में भी लंदन के कुछ इलाकों में डीजल कार ले जाने पर वाहन मालिक को 12.5 पाउंड देना पड़ता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट