Home » Auto » Discount/ OffersGovernment slashed customs duty on high-end brands to 50 per cent

ये शानदार मोटरसाइकिलें होने जा रही हैं सस्‍ती, मोदी सरकार के इस फैसले का असर

मोदी सरकार ने हार्ले डेविड सन और ट्रायम्‍फ जैसी बाइक पर कस्‍टम ड्यूटी घटाकर 50 फीसदी कर दिया है।

1 of

नई दिल्‍ली. यदि आप पावरफुल और महंगी बाइक खरीदने का प्‍लान कर रहे हैं तो आपके लिए अच्‍छी खबर है। मोदी सरकार ने हार्ले डेविड सन और ट्रायम्‍फ जैसी बाइक पर कस्‍टम ड्यूटी घटाकर 50 फीसदी कर दिया है। इससे पहले 800 सीसी या इससे कम इंजन कैपेसिटी मोटरसाइकिल के इम्‍पोर्ट पर कस्‍टम ड्यूटी 60 फीसदी थी। वहीं, 800 सीसी या इससे अधिक इंजन क्षमता वाली मोटरसाइकिल पर कस्‍टम ड्यूटी 75 फीसदी था। 

 
सेंट्रल बोर्ड ऑफ एक्‍साइज एंड कस्‍टम्‍स (सीबीईसी) ने 12 फरवरी को नोटिफिकेशन जारी कर इम्‍पोर्टेड मोटरसाइकिलों (कम्‍प्‍लीटली बिल्‍ड यूनिट्स- सीबीयू) के दोनों वेरिएंट पर कस्‍टम ड्यूटी घटाकर 50 फीसदी कर दिया है। एक्‍ सपर्ट्स का कहना है कि इन मोटरसाइकिलों के लिए इम्‍पोर्ट ड्यूटी को उचित दर पर लाया गया है। 


इंडस्‍ट्री लंबे समय से इसकी डिमांड कर रही थी। अभी इन बाइक्‍स का भारत में प्रोडक्‍शन नहीं होता है। ईएंडवाई के पार्टनर अभिषेक जैन का कहना है कि सरकार ने सीबीयू मोटरसाइकिल्‍स पर बेसिक कस्‍टम ड्यूटी घटाकर 50 फीसदी कर दिया है। इस फैसले से कंपनियों को इन मोटरसाइकिल की कीमतें घटानी चाहिए। 

 

आगे पढ़ें.. . और क्‍या है नोटिफिकेशन में  

 

क्‍या है नोटिफिकेशन? 

 
CBEC के नोटिफिकेशन के अनुसार, प्री-असेम्‍बल्‍ड  इंजन, गीयर बॉक्‍स या ट्रांसमिशन मैकेनिज्‍म जैसी कम्‍प्‍लीटली नॉक्‍सड यूनिट (सीकेडी) किट पर इम्‍पोर्ट ड्यूटी घटाकर 25 फीसदी कर दिया गया है। इन प्री-असेम्‍बल्‍ड पर पहले इम्‍पोर्ट ड्यूटी 30 फीसदी थी। इस बीच, मेक इन इंडिया के तहत लोकल एसेम्‍बलिंग को प्रमोट करने के लिए सीबीईसी ने नॉन प्री-असेम्‍बल्‍ड इंजन, गीयर बॉक्‍स और ट्रांसमिशन मैकेनिज्‍म जैसी सीकेडी किट पर इम्‍पोर्ट ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दिया है। 

 

डेलायट इंडिया के सीनियर डायरेक्‍टर अनुप कलावत का कहना है कि इंजन, गीयर बॉक्‍स और ट्रांसमिशन मैकेनिज्‍म पर कस्‍टम ड्यूी बढ़ाकर सरकार ने घरेलू ऑटोमोबाइल एन्सिलरी इंडस्‍ट्री को प्रोटेक्‍ट करने का सख्‍त संदेश दिया है। इस पॉलिसी से ग्‍लोबल ऑटो एन्सिलरी इडस्‍ट्री दुनिया भर में सप्‍लाई के लिए भारत को मैन्‍युफैक्‍चरिंग बेस बनाने के लिए प्रोत्‍साहित करेगी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट