विज्ञापन
Home » Auto » Discount/ OffersOnline bike sale

ऑनलाइन बाइक खरीदने से पहले कर लें पूरी तहकीकात, कहीं चोरी की तो नहीं

ई-कॉमर्स साइट सस्ते ऑफर में जाना पड़ सकता है जेल 

Online bike sale

Online bike sale: ई-कॉमर्स साइट सस्ते में सेकेंड हैंड बाइक खरीदने का ऑफर देती है। इसके चलते लोग जल्दबाजी में बाइक खरीद लेते हैं। लेकिन यह जल्दबाजी आप पर भारी पड़ सकती है और आपको जेल भी जाना पड़ सकता है।

नई दिल्ली. ई-कॉमर्स साइट सस्ते में सेकेंड हैंड बाइक खरीदने का ऑफर देती है। इसके चलते लोग जल्दबाजी में बाइक खरीद लेते हैं। लेकिन यह जल्दबाजी आप पर भारी पड़ सकती है और आपको जेल भी जाना पड़ सकता है। इसलिए ऑनलाइन बाइक खरीदने वक्त जरा सावधानी बरतें, क्योंकि वह बाइक चोरी की भी हो सकती है। जी हां, दिल्ली में एक ऐसे ही गैंग का भंडाफोड़ हुआ है, जो चोरी की गाड़ी को ऑनलाइन साइट पर जाली दस्तावेजों के जरिए बेच देते थे। 

इस तरह हुआ गैंग का भंडाफोड़

इस गैंग को आउटर उत्तरी जिले के नरेला औद्योगिक इलाके से पकड़ा गया है। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। यह लोग रेकी कर बाइकों को चोरी करने के बाद ई-कॉमर्स साइट के जरिए बेच देते थे। पकड़े गए आरोपियों में एक लॉ का और दूसरा कॉलेज में पढ़ कर रहा है। आरोपियों की पहचान अंशुल राघव और अंशुल कुमार पाल के रूप में हुई है। आरोपियों के कब्जे से छह बाइक जब्त की गई हैं। आरोपियों के जरिए दर्जनों वारदात का खुलासा हुआ है। 

ग्रैजुएशन कर रहे हैं दोनों आरोपी 

पुलिस आरोपी के एक अन्य साथी आकाश की तलाश में जुटी है। डीसीपी गौरव शर्मा के मुताबिक, अंशुल राघव एलएलबी की पढ़ाई कर रहा है, जबकि उसका साथी ग्रेजुएशन कर रहा है। दोनों आरोपियों को सिविल लाइन इलाके से चोरी की बुलेट बाइक के साथ गिरफ्तार किया। ऑनलाइन बाइक खरीदने से पहले उसके कागज को ट्रांसपोर्ट विभाग या फिर अन्य जगह से वेरिफाई करा लें। इससे जालसाजी से बचा जा सकेगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन