• Home
  • 12 Indians Who Are In Good Position In Global Companies

ये हैं वो 12 भारतीय, जिनके हाथों में है ग्लोबल कंपनियों की कमान

moneybhaskar.com

Jul 19,2014 11:11:00 AM IST
(विशाल सिक्का)
नई दिल्ली. इन्फोसिस के नए सीईओ विशाल सिक्का को सालाना 50.8 लाख डॉलर वेतन मिलेगा। इनता ही नहीं, इसके अलावा उन्हें 20 लाख डॉलर के शेयर भी दिए जाएंगे। 47 साल के सिक्का 1 अगस्त से इन्फोसिस के सीईओ का पदभार संभालेंगे। इन्फोसिस के सीईओ का पद संभालने के बाद विशाल सिक्का उन चंद भारतीयों में शुमार हो जाएंगे, जिनके हाथों में ग्लोबल कंपनियों की कमान है।

आइए, जानते हैं किस-किस के हाथों में है ग्लोबल कंपनियों की कमान-

1- विशाल सिक्का

विशाल सिक्का का जन्म मोदी के राज्य गुजरात के वडोदरा में हुआ था। सिक्का ने अपनी स्कूलिंग वडोदरा के रोजरी हाई स्कूल से की है। वहां उनके पिता भारतीय रेलवे में एक अधिकारी थे। वडोदरा के ही एमएस यूनिवर्सिटी से सिक्का ने कम्प्यूटर इंजीनियरिंग की।
सिक्का ने साइराक्यूज यूनिवर्सिटी (Syracuse University) से कम्प्यूटर साइंस में बीएस किया और स्टैंडफोर्ड यूनिवर्सिटी से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में डॉक्टरेट किया। विशाल सिक्का सिलिकॉन वैली में एक बहुत ही जाने-माने व्यक्ति हैं और सैप के फाउंडर हैसो प्लेटनर (Hasso Plattner) के करीबी भी हैं।

आइए, जानते हैं ऐसे ही कुछ और भारतीयों के बारे में जिनके हाथों में ग्लोबल कंपनियों की कमान है-
(दाएं राजीव सूरी और बाएं सत्य नडेला) 2- सत्य नडेला सत्य नडेला को फरवरी 2014 में माइक्रोसॉफ्ट का सीईओ नियुक्त किया गया है। इन्होंने मैंगलोर यूनिवर्सिटी से ग्रैजुएशन किया है। नडेला ने 1992 में माइक्रोसॉफ्ट ज्वाइन की थी। इससे पहले सत्य नडेला सन माइक्रोसिस्टम्स में भी काम कर चुके हैं। नाम - सत्य नडेला कंपनी- माइक्रोसॉफ्ट पद- सीईओ जन्म- 1967 में अनंतपुर, आंध्र प्रदेश शिक्षा- स्कूली पढ़ाई हैदराबाद पब्लिक स्कूल, मनिपाल यूनिवर्सिटी से इंजीनियरिंग, विस्कॉसिन्स यूनिवर्सिटी से कम्प्यूटर साइंस में मास्टर डिग्री और शिकागो यूनिवर्सिटी से एमबीए 3- राजीव सूरी इस समय राजीव सूरी नोकिया के सीईओ हैं। राजीव 1995 में नोकिया से जुड़े थे। 2009 में राजीव को Nokia Siemens Networks का CEO घोषित किया गया था। फिनिश अखबार हेलसिनगिन सानोमत (Helsingin Sanomat) ने 14 मार्च को एक लेख प्रकाशित किया था, जिसमें नोकिया के अगले CEO के रूप में राजीव सूरी को देखा जा रहा है। राजीव सूरी का जन्म 1967 में हुआ था। राजीव ने भी मनिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से पढ़ाई की है। यहां से माइक्रोसॉफ्ट के CEO सत्या नडेला ने भी पढ़ाई की है।(दाएं इंद्रा नूयी और बाएं अजीत जैन) 4- इंद्रा नूयी इंद्रा नूयी पेप्सिको कंपनी की सीईओ और चेयरपर्सन हैं। इंद्रा ने कोलकाता के आईआईएम से ग्रैजुएशन की शिक्षा पूरी की है। पेप्सिको में सीईओ बनने से पहले इंद्रा कई इंटरनेशनल कंपनियों में काम कर चुकी हैं। 2006 में इंद्रा को पेप्सिको का सीईओ बनाया गया था। 5- अजीत जैन इस समय अजीत जैन बर्कशर हैथवे इन्श्योरेंस ग्रुप के प्रेसिडेंट हैं, जो वारेन बफेट की कंपनी है। अजीत ने आईआईटी, खड़गपुर से अपनी ग्रैजुएशन पूरी की है। अजीत ने बफेट के साथ काम करने के लिए मैकेन्जी कंपनी छोड़ दी और इस समय एक लीडिंग पोजिशन पर कंपनी को अपनी सेवाएं दे रहे हैं।(दाएं अतुल सिंह और बाएं राकेश खुराना) 6- अतुल सिंह अतुल फेयर ऑब्जर्वर (Fair Observer) के एडिटर-इन-चीफ और फाउंडर हैं। यह एक ग्लोबल मीडिया प्लैटफॉर्म है, जिसका काम 360 डिग्री की एनालिसिस करना है। इससे पहले अतुल एक वकील थे। अतुल हफिंगटन पोस्ट के लिए अक्सर ही लिखते रहते हैं और साथ ही अल जजीरा में कॉलमिस्ट भी हैं। 7- राकेश खुराना राकेश को हार्वर्ड यूनिवर्सिटी का डीन नियुक्त किया गया है। वे इसी साल जुलाई से अपनी पोस्ट संभालेंगे। आपको बता दें कि इससे पहले राकेश हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में ही ऑर्गेनाइजेशनल बिहैवियर और पीएचडी प्रोग्राम के स्टूटेंड रह चुके हैं।(दाएं नितिन परांजपे और बाएं राकेश कपूर) 8- नितिन परांजपे इस समय नितिन यूनिलीवर के होम केयर बिजनेस के प्रेसिडेंट हैं। नितिन ने अपनी स्कूलिंग, ग्रैजुएशन और पोस्ट ग्रैजुएशन महाराष्ट्र से की है। वह यूनिलीवर के साथ 1996 से काम कर रहे हैं। 9- राकेश कपूर इस समय राकेश UK-FTSE लिस्टेड कंपनी के हेड हैं। इससे पहले उन्होंने रेकिट बेंकिशर कंपनी में भी काम किया है। इन्होंने भारत के कई इंस्टिट्यूट में पढ़ाई की है।(दाएं अजय बांगा, बाएं अंशु जैन और बीच में पियूष गुप्ता) 10- अजय बांगा अजय बांगा एक आईआईएम ग्रैजुएट हैं। इस समय अजयपाल सिंह बांगा मास्टर कार्ड को हेड कर रहे हैं। इन्होंने जुलाई 2010 में मास्टर कार्ड ज्वाइन किया था। 2007 से लेकर 2012 तक इन्होंने क्राफ्ट फूड्स के बोर्ड ऑफ डायेरक्टर्स में भी अपनी सेवाएं दी हैं। 11- पियूष गुप्ता इस समय पियूष गुप्ता डीबीएस ग्रुप के सीईओ और डायरेक्टर हैं। साथ ही वह डीबीएस ग्रुप की सब्सिडियरी कंपनियों के भी डायरेक्टर हैं। पियूष ने दिल्ली के सेंट स्टीफन कॉलेज से इकोनॉमिक्स ऑनर्स में डिग्री ली है। इससे पहले वह साउथ ईस्ट एशिया, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड सिटीग्रुप के सीईओ थे। 12- अंशु जैन अंशु जैन ने दिल्ली के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से अपनी पढ़ाई पूरी की है। इसके बाद उन्होंने किडर, पीबॉडी कंपनी (Kidder, Peabody Co) में डेरिवेटिव रिसर्च एनालिस्ट के तौर पर अपना करियर शुरू किया था। अंशु 1995 से डायशे बैंक (Deutsche Bank) में कार्यरत हैं और 1 जून, 2012 को इन्हें कंपनी का को-सीईओ बना दिया गया।
X

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.