Trending News Alerts

ट्रेंडिंग न्यूज़ अलर्ट

    Home »Do You Know »GDP »Trivia» Impact Of Mansoon On Gdp And Production In Last 10 Years

    जानें, 10 सालों में कितनी हुई बारिश और GDP पर क्या हुआ असर


    नई दिल्ली.कमजोर मानसून ने सबकी चिंताएं बढ़ा दी है। मौसम विभाग के मुताबिक पिछले 1 हफ्ते में मानसून की रफ्तार ठहर गई है। मौसम विभाग के आंकड़े के मुताबिक 1 जून से अब तक देश में सामान्य से 41 फीसदी कम बारिश हुई है। वहीं स्काईमेट का आंकड़ा कह रहा है कि पिछले 10 सालों में जून में इतनी कम बारिश नहीं हुई है और देश के कई राज्य सूखे की चपेट में है।

    आइए जानते हैं पिछले 10 सालों में कब कितनी बारिश हुई और वह अनुमान के मुकाबले कैसी रही। साथ ही जानते हैं कि इससे खाद्यान के उत्पादन में कितना बदलाव आया और जीडीपी पर इसका क्या असर पड़ा।
     
    मानसून का खाद्यान के उत्पादन और जीडीपी ग्रोथ पर असर
     
    वर्षवास्तविक वर्षा (मिमी में)अनुमान से कम/ज्यादा(%)खाद्यानों के उत्पादन में बदलाव(%)जीडीपी ग्रोथ  (अप्रैल-मार्च)
    2004774.2(-)14(-)7.07.1
    2005874.3(-) 15.29.5
    2006889.304.29.6
    2007943.066.29.3
    2008877.7(-) 21.66.7
    2009698.2(-)22(-) 7.08.6
    2010911.1212.18.9
    2011901.326.16.7
    2012823.9(-) 7(-) 1.54.5
    2013936.762.84.7

     
    चार्ट से पता चलता है कि सबसे अधिक वर्षा 2007 में 943 मिमी हुई थी, जो अनुमान से 6 प्रतिशत अधिक थी। वहीं दूसरी ओर, सबसे कम बारिश 2004 में 774.2 मिमी हुई, जो अनुमान से 14 प्रतिशत कम थी।
     
    मानसून की वजह से खाद्यान के उत्पादन में बदलाव को देखा जाए तो यह 2004 में सबसे कम -7 रहा, जबकि 2010 में सबसे अधिक 12.1 प्रतिशत रहा। वहीं दूसरी ओर, 2006 में जीडीपी ग्रोथ सबस अधिक 9.6 प्रतिशत और 2012 में सबसे कम 4.5 प्रतिशत रही।

    आगे की स्लाइड में जानें जब 2009 में पड़ा था सूखा-  
     

    और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

    Recommendation

      Don't Miss

      NEXT STORY