Trending News Alerts

ट्रेंडिंग न्यूज़ अलर्ट

    Home »Do You Know »Foreign Currency »Trivia» What Is FDI And What Are Its Profit And Loss

    जानें, क्या होता है FDI और इससे आपको क्या होगा फायदा और नुकसान

    नरेन्द्र मोदी सरकार ने इंश्योरेंस सेक्टर में विदेशी निवेश की सीमा बढ़ाने की तैयारी कर ली है। सरकार बीमा क्षेत्र में एफडीआई को 26 फीसदी बढ़ाकर से बढ़ाकर 49 फीसदी करने की तैयारी चल रही है।
     
    एफडीआई
     
    एफडीआई (Foreign Direct Investment) का मतलब होता है प्रत्यक्ष विदेशी निवेश। एफडीआई को 26 फीसदी से बढ़ाकर 49 फीसदी करने की तैयारी चल रही है। जब देश की किसी कंपनी में विदेशी पैसा लगा होता है, तो उसे एफडीआई कहते हैं।
     
    इसे आसान भाषा में ऐसे समझा जा सकता है कि पहले किसी भारतीय कंपनी में कोई विदेशी कंपनी सिर्फ 26 फीसदी तक का निवेश कर सकती थी, लेकिन बीमा में मंजूरी मिलने के बाद भारतीय कंपनी में कोई विदेशी कंपनी 49 फीसदी तक का निवेश कर सकेगी।
     
    भारत में एफडीआई की सीमा बढ़ने से कई सारे फायदे होंगे, तो इसके कुछ नुकसान भी हैं। आइए जानते हैं एफडीआई की सीमा बढ़ाए जाने से कंपनी और आम जनता को क्या हैं फायदे-नुकसान-
     
    आम जनता को फायदा-
     
    ज्यादा कंपनियां, ज्यादा नौकरियां
     
    अधिक विदेशी निवेश होने से बीमा कंपनियां अपना विस्तार करेंगी और नए दफ्तर भी खुलेंगे। इसकी वजह से अधिक नौकरियां पैदा होंगी, जो देश में रोजगार को बढ़ावा देंगी। इतना ही नहीं, इसकी वजह से नए ब्रोकर भी आएंगे, जो बाजार को इंश्योरेंस के बारे में और बेहतर तरीके से बता पाएंगे।
     
    प्रोडक्ट सस्ते होने के साथ अच्छी क्वालिटी
     
    अधिक कंपनियां होने के कारण उनमें प्रतिस्पर्धा का दौर भी चल सकता है, जिसकी वजह से प्रोडक्ट सस्ते हो जाएंगे। हर कंपनी अधिक से अधिक लोगों को अपनी ओर आकर्षित करना चाहेगी, जिसके चलेगी प्रोडक्ट न सिर्फ सस्ते होंगे, बल्कि उनकी क्वालिटी भी सुधरेगी।
     
     
    आगे की स्लाइड में जानें आम जनता और कंपनियों को क्या हो सकता है नुकसान- 
     
     

    और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

    Recommendation

      Don't Miss

      NEXT STORY