विज्ञापन
Home » Do You Know » Foreign Currency » FAQWhat is Carry trade

जानें, क्या होता है कैरी ट्रेड और क्या हैं इसके फायदे?

एक ऐसी रणनीति जिसके तहत निवेशक कम ब्याज दरों वाली मुद्रा को बेच कर ऐसी करेंसी की खरीददारी करता है जहां पर ब्याज दरें ज्यादा होती हैं।

What is Carry trade
एक ऐसी रणनीति जिसके तहत निवेशक कम ब्याज दरों वाली मुद्रा को बेच कर ऐसी करेंसी की खरीददारी करता है जहां पर ब्याज दरें ज्यादा होती हैं। इस रणनीति को कैरी ट्रेड कहते हैं। इस रणनीति में निवेशक दो देशों के बीच ब्याज दरों के अंतर का फायदा उठाता है।
 
उदाहरण के तौर पर जापान में ब्याज दरें शून्य फीसदी हैं और अमेरिका में बांड 2 फीसदी का ब्याज दे रहा है तो निवेशक जापान के बैंक से पैसा उठाता है और इसका इस्तेमाल अमेरिका में बांड खरीदने के लिए करता है तो उसे 2 फीसदी का फायदा हुआ। जिन देशों में  प्रोत्साहन के तौर पर ब्याज दरों में कमी का सिलसिला ज्यादा देर तक जारी रहता है वहां कैरी ट्रेड का प्रचलन ज्यादा देखा गया है। सबसे पहले 1995 में येन में ये सिलसिला शुरू हुआ। 
 
1998 तक जापान में इतना कैरी ट्रेड किया गया कि जापानी मुद्रा अमेरिकी डालर के मुकाबले तीन सालों में 80 फीसदी तक कमजोर हो गई। लेकिन जैसे ही कैरी ट्रेड की वापसी होती है मुद्रा उतनी ही तेजी से मजबूत होना शुरु हो जाती है। इसकी वजह से येन सिर्फ तीन माह में 25 फीसदी बढ़ गया। 2008 के बाद अमेरिका में कैरी ट्रेड होना शुरू हो गया क्योंकिं वहां पर ब्याज दरें 0.25 फीसदी पर आ गई जिनकी अब बढ़ने की संभावना जताई जा रही है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन