Trending News Alerts

ट्रेंडिंग न्यूज़ अलर्ट

    Home »Do You Know »Commodity Market »Trivia» Know About The Kharif Crop

    जानिए, क्या है खरीफ फसलों का शास्त्र


    कमजोर मानसून का असर न सिर्फ बुआई पर पड़ रहा है, बल्कि एग्री वायदा कारोबार भी इससे अछूता नहीं है। मानसून के रफ्तार ने पकड़ने से अनाज, दालें, मसाले और खाने के तेलों की कीमतें में काफी तेजी आ गई है। कपास, ग्वार और कैस्टर जैसी खरीफ फसलों में भी तेजी देखने को मिल रही है। आखिर खरीफ फसलों पर मानसून का ऐसा असर क्यों पड़ता है, इसे जानने के लिए खरीफ फसलों के बारे में जानना जरूरी है।

    आइए जानते हैं क्या है खरीफ फसलों का शास्त्र-
     

    मक्का:
     
    मक्के की खेती राजस्थान, बिहार, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और उत्तर प्रदेश में मुख्य रुप से की की जाती है। आमतौर इसकी बुआई 15 जून से 15 जुलाई तक की जाती है। यह 90 से 100 दिन की फसल है। इसे 8 बार पानी की जरूरत होती है।
     
    अगस्त में इसकी कटाई शुरु हो जाती है और सितंबर के पहले हफ्ते से मंडियों में इसकी आवक शुरु हो जाती है। मानसून कमजोर होने से मक्के का रकबा घटेगा साथ ही अगर फली बनने के समय बारिश होती है तो उत्पादन घट सकता है। सरकारी अनुमान के मुताबिक साल 2013-14 में मक्का का उत्पादन 161.9 लाख टन से बढ़कर 175.1 टन होने का अनुमान है।
     
    आगे की स्लाइड्स में जानें अन्य फसलों के बारे में- 
     

    और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

    Recommendation

      Don't Miss

      NEXT STORY