Trending News Alerts

ट्रेंडिंग न्यूज़ अलर्ट

    Home »Personal Finance »Income Tax »Update» There Are A Plethora Worldwide Income Tax Paradise

    विश्व भर में ढेर सारे हैं इनकम टैक्स के स्वर्ग

    विश्व भर में ढेर सारे हैं इनकम टैक्स के स्वर्ग

    कुवैत समेत आठ देशों में कर्मचारियों को नहीं देना पड़ता है कुछ भी आयकर

    आपअगर ज्यादा कमाई के लिए विदेश जाने का मन बना रहे हैं और अपनी आमदनी पर अधिक टैक्स देने से भी बचना चाहते हैं तो ऐसे देशों को जरूर ध्यान में रखें जो आयकर के मामले में स्वर्ग माने जाते हैं। पूरी दुनिया में आठ ऐसे देश हैं जहां के कर्मचारियों को कुछ भी इनकम टैक्स नहीं देना पड़ता है। इन देशों में कुवैत, ओमान, कतर, संयुक्त अरब अमीरात, बहामास, केमैन द्वीप, बहरीन और बरमुडा शामिल हैं।

    अंतरराष्ट्रीय एजेंसी 'केपीएमजी' द्वारा कराए गए एक सर्वेक्षण से ये तथ्य उभर कर सामने आए हैं। केपीएमजी की रिपोर्ट में उन 10 देशों का भी जिक्र किया गया है जहां सर्वाधिक इनकम टैक्स है। मसलन, आयरलैंड में इनकम टैक्स की उच्चतम दर 48 फीसदी है।

    वहीं, दूसरी ओर ब्रिटेन, जापान, बेल्जियम और ऑस्ट्रिया में कर्मचारियों को 50 फीसदी का उच्चतम इनकम टैक्स अदा करना पड़ता है। फिनलैंड में उच्चतम आयकर दर 51.13 फीसदी है। इसी तरह हालैंड और डेनमार्क के कर्मचारियों को क्रमश: 52 फीसदी एवं 55.56 फीसदी इनकम टैक्स देना पड़ता है। स्वीडन के कर्मचारियों को इससे भी ज्यादा 56.6 फीसदी आयकर देना पड़ता है।

    पूरी दुनिया में सर्वाधिक इनकम टैक्स अरुबा में है। अरुबा में इनकम टैक्स की उच्चतम दर 58.95 फीसदी है। अरुबा दक्षिणी कैरेबियन सागर में एक छोटा-सा द्वीप है जो वेनेजुएला के काफी नजदीक है। जहां तक भारत का सवाल है, यहां आयकर की दरें क्रमश: 10, 20 और 30 फीसदी हैं।

    कुवैत एक टैक्स फ्री अरब देश है जिसके तेल उद्योग का वहां के कुल सरकारी राजस्व में 80' योगदान है। इसी तरह ओमान की सरकार अपने देश में विकास की तेज रफ्तार बनाए रखने की खातिर लोगों को इनकम टैक्स से पूरी तरह छूट देती रही है।

    कतर भी एक अरब देश है। संयुक्त अरब अमीरात में भी कर्मचारियों को कोई आयकर नहीं देना पड़ता है। अटलांटिक महासागर के तटीय देश बहामास की सरकार आयकर के बजाय आयात शुल्क और प्रॉपर्टी टैक्स वगैरह से राजस्व जुटाती है। वहीं, पश्चिमी कैरेबियन सागर में स्थित केमैन द्वीप की सरकार की आमदनी का मुख्य स्रोत अप्रत्यक्ष कर है।

    खाड़ी देश बहरीन की इकोनॉमी टैक्स फ्री है। वहां के लोगों को कोई आयकर, कॉरपोरेट टैक्स, विदहोल्डिंग टैक्स और वैट नहीं देना पड़ता है। अमेरिका के पूर्वी तट पर स्थित बरमुडा की सरकार की आय का प्रमुख स्रोत आयात शुल्क है। वहां के कर्मचारियों को भी कोई आयकर नहीं देना पड़ता है।

    Recommendation

      Don't Miss

      NEXT STORY