Trending News Alerts

ट्रेंडिंग न्यूज़ अलर्ट

    Home »Do You Know »Budget »Trivia» Secrecy Maintained By The Government Officials While Making Budget

    जानिए, बजट बनाने वालों को कैसे मिलती है गोपनीयता की 'कैद'

    नई दिल्ली.जरा सोचिए, जब एक घर के बजट को बनाने के लिए इतनी माथा-पच्ची की जाती है, तो पूरे देश का बजट बनाने में कितनी प्रक्रियाओं से गुजरना पड़ता होगा।  

    भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के अधीन एक संस्था है- इकोनॉमिक अफेयर्स डिपार्टमेंट और इसके अंदर एक विभाग है - बजट डिविजन। यह बजट डिविजन ही है जो हर साल भारत सरकार के लिए बजट बनाता है। बजट बनाने की प्रक्रिया प्रति वर्ष अगस्त-सितंबर माह में शुरू हो जाती है।
     
    बजट के प्रारूप को और इस प्रक्रिया को बहुत ही गोपनीय रखा जाता है। यहां तक कि इसे बनाने वालों को भी गोपनीयता की 'कैद' झेलनी पड़ती है। वित्त मंत्रालय के बेसमेंट में बजट डॉक्युमेंट की प्रिंटिंग की जाती है। लगभग 100 लोगों को बजट से एक सप्ताह पहले पूरी जांच-पड़ताल करके भेजा जाता है और बजट प्रिंट होने तक इन लोगों को वहीं रुकना होता है। 

    बजट की सुरक्षा और गोपनीयता का हर कदम पर ध्यान दिया जाता है, चाहे वह बजट का ड्राफ्ट बनाने की प्रक्रिया हो, या फिर उसके बाद की। बजट प्रिंटिंग का कागज वित्त मंत्रालय के प्रिंटिंग प्रेस तक पहुंचने तक का सफर हो। उसके बाद प्रिंटिंग, पैकेजिंग और इसके संसद पहुंचने तक सुरक्षा व्यवस्था उसी मुस्तैदी के साथ कायम रखी जाती है।

    आगे की स्लाइड में जानें क्या-क्या किया जाता है बजट की गोपनीयता के लिए-
     
     
    (फोटो - बजट डॉक्युमेंट्स की जांच करते सुरक्षा गार्ड)

    और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

    Recommendation

      Don't Miss

      NEXT STORY