पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59015.89-0.21 %
  • NIFTY17585.15-0.25 %
  • GOLD(MCX 10 GM)46178-0.54 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61067-1.56 %
  • Business News
  • National
  • More Than 100 Monkeys Clashed On The Beach In Thailand, Traffic Remained Closed For Hours; People In Car

सड़क पर बंदरों के बीच गैंगवार, देखें पूरा VIDEO:थाइलैंड में 100 से ज्यादा बंदर बीच सड़क पर भिड़े, घंटों बंद रहा ट्रैफिक; कार में दुबके लोग

बैंकॉक2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गैंगवार के दौरान बंदरों के झुंड

थाइलैंड में 100 से ज्यादा बंदरों के दो गुटो के बीच लड़ाई का एक वीडियो सामने आया है। वीडियो में बंदरों का एक बड़ा झूुंड सड़कों पर एक-दूसरे से लड़ते हुए दिख रहे हैं। इस दौरान सड़क से गुजर रहे लोग घंटों अपनी जगह पर खड़े हो गए।

इस गैंगवार के दौरान बंदरों के चिल्लाने की आवाज इतनी ज्यादा थी कि सड़क पर कार लिए खड़े लोग डर के मारे अंदर ही दुबक गए। घटना मध्य थाइलैंड के मशहूर टूरिस्ट प्लेस लोपबुरी की है। यह शहर पुराने बौद्ध मंदिरों के प्रसिद्ध है।

पूरा वाक्या लोपबुरी में फ्रा कान मंदिर और प्रांग सैम यॉट के आसपास का है।
पूरा वाक्या लोपबुरी में फ्रा कान मंदिर और प्रांग सैम यॉट के आसपास का है।

कार और बाइक सवार जहां रुके, वहीं खड़े रह गए
घटना का वीडियो रिकॉर्ड करने वाले एक शख्स ने बताया कि पूरा वाक्या लोपबुरी में फ्रा कान मंदिर और प्रांग सैम यॉट के आसपास का है। यह शख्स जब अपने घर के थर्ड फ्लोर पर सफाई कर रहा था, उसी दौरान बंदरों के चिल्लाने की आवाज सुनाई दी।

जब उसने बाहर झांककर देखा तो 100 से ज्यादा बंदरों के दो गुट सड़क पर एक-दूसरे पर झपट रहे थे। यह माजरा करीब एक घंटे से ज्यादा देर तक चला। इस दौरान सड़क से गुजर रहे कार और बाइक पर सवार लोग जहां खड़े थे, वहीं रुके रह गए। बंदरों के इस गैंगवार में घंटों ट्रैफिक जाम रहा।

100 से ज्यादा बंदरों के दो गुट सड़क पर एक-दूसरे पर झपट रहे थे।
100 से ज्यादा बंदरों के दो गुट सड़क पर एक-दूसरे पर झपट रहे थे।

बंदरों का एक गैंग प्राचीन मंदिर के भीतर रहता है, जो एक पॉपुलर टूरिस्ट डेस्टिनेशन है। दूसरे गैंग का बसेरा यहां का एक खाली पड़ा सिनेमाघर है। बंदरों की ऐसी लड़ाई यहां आम है, लेकिन पहली बार उसने इतनी ज्यादा संख्या में बंदरों को लड़ते देखा गया है।

बंदरों का एक गैंग प्राचीन मंदिर के भीतर रहता है, जो एक पॉपुलर टूरिस्ट डेस्टिनेशन है।
बंदरों का एक गैंग प्राचीन मंदिर के भीतर रहता है, जो एक पॉपुलर टूरिस्ट डेस्टिनेशन है।

लॉकडाउन के कारण बंदरों को नहीं मिल रहा था भोजन
स्थानीय लोगों का कहना है कि लोपबुरी के इस टूरिस्ट प्लेस पर भारी तादाद में बंदर रहते हैं। यहां आने वाले टूरिस्ट्स के भरोसे ही इन बंदरों का पेट भरता है। वे उनके लिए मीठा भोजन लाकर खिलाते थे, लेकिन कोरोना के कारण सरकार ने देशभर में लॉकडाउन की घोषणा कर दी।

यहां पर्यटकों का बाहर से आना बंद हो गया। स्थानीय लोगों का रोजगार भी इन्हीं पर्यटकों के भरोसे चल रहा था। लॉकडाउन प्रतिबंधों के बाद स्थानीय लोगों का रोजगार तो प्रभावित हुआ ही, साथ ही बंदरों के पेट भरने पर भी पाबंदी लग गई। इससे पहले मार्च 2020 में भी बंदरों की कुछ ऐसी ही लड़ाई देखने को मिली थी। हालांकि, तब इनकी तादाद इतनी ज्यादा नहीं थी।

सड़क से गुजर रहे कार और बाइक पर सवार लोग जहां खड़े थे, वहीं रुके रह गए।
सड़क से गुजर रहे कार और बाइक पर सवार लोग जहां खड़े थे, वहीं रुके रह गए।

कई लोगों ने तर्क दिया कि पर्यटकों ने इन बंदरों के व्यवहार को बदल दिया है, क्योंकि ये जानवर अब बाहर से आने वाले लोगों से खाना मिलने की अपेक्षा करते हैं। जब यह नहीं मिलता या जरूरत से कम मिलता है तो ये एक-दूसरे से लड़ पड़ते हैं।