पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57107.15-2.87 %
  • NIFTY17026.45-2.91 %
  • GOLD(MCX 10 GM)481531.33 %
  • SILVER(MCX 1 KG)633740.45 %

गुजरात में स्मार्ट टीवी के जरिए कैद किए दंपत्ति के निजी पल, एक्सपर्ट बोले, टीवी के कैमरे पर लगा देना चाहिए स्टीकर

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • हैकरों ने वीडियो बनाकर दंपत्ति को ब्लैकमेल कर बिट क्वाइन की मांग की थी
  • सायबर एक्सपर्ट मुकेश चौधरी ने बताया, ऐसे मामलों से आप कैसे बचें और कौन सी गलतियां न करें

डेटा इंटेलीजेंस डेस्क. मोबाइल ही नहीं अब स्मार्ट टीवी भी हैक हो रहे हैं। गुजरात में हाल ही में स्मार्ट टीवी के जरिए एक दंपत्ति के निजी पलों को कैद कर लिया गया और फिर इसे इंटरनेट पर अपलोड कर दिया गया। दंपत्ति ने साइबर क्राइम ब्रांच में शिकायत दर्ज करवाई, तब मामला सामने आया। हैकरों ने वीडियो बनाकर दंपत्ति को ब्लैकमेल कर बिट क्वाइन की मांग की थी। हमने इस मुद्दे पर सायबर एक्सपर्ट मुकेश चौधरी (जयपुर) से बात कर जाना कि आखिर ये कैसे हुआ होगा और इससे बचने के लिए लोगों को क्या करना जरूरी है। 

 

स्मार्ट टीवी के जरिए कैसे कर लिया निजी पलों को कैद

  • गुजरात में जिस दंपत्ति के साथ यह मामला हुआ, उन्होंने स्मार्ट टीवी अपने बेडरूम में लगा रखा था। 
  • स्मार्ट टीवी में इंटरनेट का कनेक्शन होता है। इंटरनेट के जरिए हैकर ने पहले टीवी के सॉफ्टवेयर का एक्सेस लिया होगा और इसके बाद टीवी में मौजूद किसी ऐप का एक्सेस लिया होगा। 
  • इसके बाद टीवी इंटरनेट से जुड़ी होती है तो इसके फ्रंट कैमरे के जरिए पूरे बेडरूम की रिकॉर्डिंग की जा सकती है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि इस तरह दंपत्ति के निजी पलों को कैद किया गया होगा। 

1) आप इससे कैसे बचें, किन बातों का ध्यान रखना जरूरी?

सायबर एक्सपर्ट चौधरी के मुताबिक, जिस तरह एंड्रॉइड फोन आते हैं उसी तरह एंड्रॉइड टीवी भी आती हैं। जैसे हैकर्स फोन को हैक कर डाटा चुरा लेते हैं, उसी तरह टीवी को भी हैक कर निजी पलों को कैद किया जा सकता है। अधिकतर यह काम ऐप के जरिए किया जाता है। हैकर्स गेमिंग, म्यूजिक जैसे ऐप्स के साथ अपना मालवेयर बाइंड कर देते हैं। ऐसा ऐप डाउनलोड करते ही वे आपकी टीवी का एक्सेस लेने में कामयाब हो जाते हैं। 

टीवी में सिर्फ वही ऐप डाउनलोड करें, जो बहुत जाने-पहचाने हैं और आपके काम के हैं। ऐसे ऐप जिनके बारे में आपको कोई जानकारी नहीं है, उन्हें टीवी में कभी भी डाउनलोड नहीं करें। कोई भी ऐप डाउनलोड करते वक्त उसमें दी गई शर्तों को जरूर पढ़ें। सिर्फ उन्हीं चीजों की परमीशन दें, जिनकी परमीशन देना जरूरी है। कई ऐप बिना वजह के कैमरा, रिकॉर्डिंग की परमीशन ले लेती हैं। इन्हें परमीशन न दें। 

स्मार्ट टीवी के इस्तेमाल में ईमेल आईडी की भी जरूरत होती है। ऐसी आईडी न दें, जिसका आप कभी यूज ही न करते हों। ऐसी आईडी दें, जो आप रोजाना इस्तेमाल करते हैं। वहीं यदि आपको स्मार्ट टीवी की जरूरत नहीं है तो इसे खरीदने से बचें। स्मार्ट टीवी इंटरनेट के इस्तेमाल के लिए खरीदी जाती है। यदि आपको टीवी पर इंटरनेट चलाने का काम नहीं तो फिर स्मार्ट टीवी की परचेसिंग न करें।

  • स्मार्ट टीवी में इनबिल्ट कैमरा है तो सेटिंग में जाकर इसे डिसेबल कर दें। वैसे कैमरे को स्टीकर से ढंकना बेस्ट होता है। 
  • कई टीवी में माइक्रोफोन हमेशा ऑन होता है। सेटिंग में जाकर इसे भी ऑलवेज ऑन की जगह ऑफ कर दें। 
  • कंपनी जब भी कोई अपडेट दे तो उसे इग्नोर न करें। क्योंकि जैसे ही नया वर्जन आता है तो पुराने वर्जन का हैक भी इंटरनेट पर आ जाता है। ऐसे में लेटेस्ट वर्जन का ही इस्तेमाल करें। 
  • थर्ड पार्टी ऐप का इस्तेमाल करने से बचें। साथ ही रिमोट भी जो कंपनी ने दिया है, वही यूज करें। 
  • स्मार्ट टीवी को ओपन वाईफाई से कनेक्ट करने से बचें। ओपन वाईफाई सिक्योर नहीं होता।