पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59015.89-0.21 %
  • NIFTY17585.15-0.25 %
  • GOLD(MCX 10 GM)46178-0.54 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61067-1.56 %

BSF के कार्यक्रम में गृह मंत्री:शाह बोले- ड्रोन और सुरंगों के जरिए देश के खिलाफ साजिश की जा रही; हम हर चुनौती के लिए तैयार

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (BSF) के 18वें अलंकरण समारोह में शिरकत की। इस मौके पर गृह सचिव अजय भल्ला और इंटेलिजेंस ब्यूरो के डायरेक्टर अरविंद कुमार भी मौजूद रहे। इस दौरान शाह ने बिना नाम लिए पाकिस्तान को कड़ा संदेश दिया।

उन्होंने कहा कि जिस देश की सीमाएं सुरक्षित हों, वह देश सुरक्षित है। आपने देखा ड्रोन भेजे जा रहे। सुरंगे बनाई गईं, लेकिन हम इन चुनौतियों के लिए तैयार हैं। देश के खिलाफ की जा रही हर साजिश का जवाब दिया जा रहा है। BSF चीफ राकेश अस्थाना यहां बैठे हैं। उनकी टीम सुरंगे ढूंढकर सारा एनालिसिस करके कि सुरंग कितने दिन पहले बनी होगी? कितने लोग घुसे होंगे? इसका पता लगाकर जल्द से जल्द समस्या का निदान करती है।

शाह के संबोधन की अहम बातें
1. जवानों के बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता

गृह मंत्री शाह ने कहा कि मैं उन लोगों को सलाम करता हूं जिन्होंने सर्वोच्च बलिदान दिया है। पूरा देश जानता है कि आप सजग बनकर देश की सीमाओं की सुरक्षा कर रहे हैं, इसी कारण आज देश लोकतंत्र के अपनाए हुए विकास के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। उन बलिदानियों को कभी भुलाया नहीं जा सकता।

2. बॉर्डर सिक्योरिटी राष्ट्रीय सुरक्षा है
सीमा सुरक्षा के काम में लगे BSF और सभी पैरामिलिट्री फोर्स की वजह से ही आज भारत दुनिया के नक्शे पर अपना गौरवमय स्थान दर्ज करा रहा है। सीमा सुरक्षा राष्ट्रीय सुरक्षा है। हमारे सामने कई चुनौतियां हैं। मुझे अपने अर्धसैनिक बलों पर पूरा भरोसा है।

3. हमारी एक स्वतंत्र रक्षा नीति
पीएम मोदी की लीडरशिप में हमारी एक स्वतंत्र रक्षा नीति है। इसके तहत जिसने हमारी संप्रभुता को ललकारा उसे उसी की भाषा में जवाब दिया जाता है। आज भारत किसी के सामने झुकता नहीं है, बल्कि राष्ट्रीय सुरक्षा को सर्वोपरि मानते हुए चुनौतियों का डटकर सामना करता है।

4. एंटी ड्रोन तकनीक जल्द
ड्रोन के खिलाफ हमारी मुहिम बेहद जरूरी है। DRDO और दूसरी स्वदेशी संस्थाएं इस पर काम कर रही है। ड्रोन विरोधी स्वदेशी प्रणाली जल्द सीमा पर तैनाती होंगी। ऐसा मेरा विश्वास है। इसी के साथ 2022 तक सभी सीमाओं पर जितनी भी फैंसिंग में गैप्स हैं, वे सभी भर दी जाएंगी।

5. अटल जी ने सीमा सुरक्षा पर फोकस किया
आजादी के बाद हमें 15 हजार किलोमीटर का लैंड बॉर्डर और करीब 7 हजार किलोमीटर लंबी समुद्री सीमा मिली थी। ऐसे में बहुत जरूरी था कि सीमा सुरक्षा नीति बनाई जाती, लेकिन एक लंबे समय तक इसकी अनदेखी की गई। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के समय में एक स्ट्रक्चर सीमा-नीति बनी, जिसके तहत वन बॉर्डर वन फोर्स को लागू किया गया।

2003 से हर साल हो रहा समारोह

  • BSF का अलंकरण समारोह 2003 से हर साल BSF के पहले महानिदेशक और पद्म विभूषण से सम्मानित केएफ रूस्तमजी के जन्मदिन के मौके पर आयोजित किया जाता है। इस साल कोरोना महामारी के चलते इसका आयोजन आज किया जा रहा है।
  • इस साल 27 जवानों को सम्मानित किया गया। इनमें 14 को वीरता के लिए पुलिस पदक और 3 रिटायर्ड सहित 13 को सराहनीय सेवा के लिए पुलिस पदक से सम्मानित किया गया।
खबरें और भी हैं...