पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57276.94-1 %
  • NIFTY17110.15-0.97 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48432-0.52 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62988-1.1 %

घायल सिपाही की उपचार के दौरान मौत:वाराणसी में ड्यूटी के दौरान तेज रफ्तार ट्रक ने मारी थी टक्कर, साथी हेड कांस्टेबल की हालत नाजुक

वाराणसी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिपाही अजय भान गिरी। (फाइल फोटो) - Money Bhaskar
सिपाही अजय भान गिरी। (फाइल फोटो)

वाराणसी के गणेशपुर तरना में ड्यूटी के दौरान तेज रफ्तार ट्रक की टक्कर से घायल सिपाही अजय भान गिरी (32) की उपचार के दौरान रविवार को मौत हो गई। बड़ागांव थाने की हरहुआ चौकी में तैनात रहे अजय भान की मौत से उनके परिजनों में कोहराम मच गया। वहीं, साथी पुलिसकर्मियों में शोक की लहर व्याप्त है। पोस्टमार्टम के बाद अजय भान के पार्थिव शरीर को पुलिस लाइन में शोक सलामी दी गई और मणिकर्णिका घाट पर उनकी अंत्येष्टि की गई। वहीं, हादसे में अजय भान के साथ घायल हुए हेड कांस्टेबल जय बहादुर यादव की हालत नाजुक बनी हुई है।

वाराणसी ग्रामीण पुलिस लाइन में सिपाही अजय भान गिरी को अंतिम सलामी देते पुलिसकर्मी।
वाराणसी ग्रामीण पुलिस लाइन में सिपाही अजय भान गिरी को अंतिम सलामी देते पुलिसकर्मी।

17 नवंबर की रात ट्रक ने मारी थी टक्कर

मऊ जिले के सरायलखंसी थाना अंतर्गत बकवल गांव निवासी अजय भान गिरी वाराणसी पुलिस लाइन में पत्नी प्रीति गिरी और 6 साल के बेटे अथर्व के साथ रहते थे। बीती 17 नवंबर की रात अजय भान और आजमगढ़ जिले के रानी की सराय थाना अंतर्गत रूदरी गांव के मूल निवासी हेड कांस्टेबल जय बहादुर यादव बड़ागांव थाने की पैंथर ड्यूटी में थे। रात 2 बजे के लगभग गश्त के दौरान गणेशपुर तरना में तेज रफ्तार ट्रक ने अजय भान और जय बहादुर की सरकारी बाइक पर पीछे से जोरदार टक्कर मार दी थी।

भागने के दौरान ट्रक ने शिवपुर थाने के पुलिस रिस्पॉस व्हीकल (PRV) में टक्कर मार कर सिपाही शैलेंद्र चौरसिया को भी घायल कर दिया था। ट्रक की टक्कर से अजय भान और जय बहादुर को सिर सहित शरीर के अन्य हिस्सों में गंभीर चोट लगी थी। उपचार के दौरान अजय भान की मौत हो गई, जबकि जय बहादुर अभी भी कोमा में हैं।

सिपाही अजय भान गिरी के पार्थिव शरीर को कंधा देकर अंत्येष्टि के लिए ले जाते पुलिसकर्मी।
सिपाही अजय भान गिरी के पार्थिव शरीर को कंधा देकर अंत्येष्टि के लिए ले जाते पुलिसकर्मी।

2011 में भर्ती हुए थे पुलिस में

अजय भान गिरी के बड़े भाई और लखनऊ के हजरतगंज थाने में तैनात दरोगा चंद्रभान गिरी ने बताया कि अजय भान 2011 में यूपी पुलिस में भर्ती हुए थे और 2012 में उनकी शादी हुई थी। पिता मेडिकल अफसर के पद से सेवानिवृत्त हो चुके हैं। अजय भान तीन भाइयों में सबसे छोटे थे। उधर, पोस्टमार्टम के बाद सीओ पिंडरा अभिषेक कुमार पांडेय, थानाध्यक्ष बड़ागांव जगदीश कुशवाहा, एसआई सत्य प्रकाश, एसआई प्रदीप यादव सहित अन्य पुलिसकर्मियों और क्षेत्रीय लोगों ने अजय भान को श्रद्धांजलि दी। वहीं, तीनों सिपाहियों को टक्कर मारने वाले ट्रक के चालक का अब तक शिवपुर थाने की पुलिस पता नहीं लगा सकी है।

खबरें और भी हैं...