पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्लेसमेंट न होने से परेशान IIT छात्र ने किया सुसाइड:BHU से M. Tech कर रहा था, हॉस्टल में मिला शव;लैपटॉप-मोबाइल जब्त

वाराणसी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

वाराणसी के IIT-BHU में पढ़ने वाले 28 साल के स्टूडेंट भगवान सिंह ने सुसाइड कर लिया। M.Tech में पढ़ने वाला स्टूडेंट विश्वेश्वरैया हॉस्टल में रहता था। हॉस्टल में उसका शव पंखे से फंदे के सहारे लटकता मिला है। शुरुआती जांच में सामने आया है कि भगवान सिंह प्लेसमेंट न होने से परेशान था। पुलिस ने लैपटॉप और मोबाइल जब्त किया है।

पूरी खबर पढ़ने से पहले यहां आप भास्कर पोल का हिस्सा बन सकते हैं...

मैकेनिकल इंजीनियरिंग से कर रहा था M.Tech
स्टूडेंट भगवान सिंह, हाथरस में थाना हसाय क्षेत्र के पिछौती गांव का रहने वाला था। उसके पिता कृष्ण कुमार सिंह खेती करते हैं। दोस्तों और प्रोफेसरों ने बताया कि छात्र भगवान सिंह के दोनों भाई वैज्ञानिक हैं। एक डीआरडीओ और दूसरा भाभा ऑटोमिक रिसर्च सेंटर में है। भगवान IIT-BHU में मैकेनिकल इंजीनियरिंग ब्रांच से M.Tech सेकंड ईयर में पढ़ रहा था। भगवान विश्वेश्वरैया हॉस्टल में पहले मंजिल पर कमरा नंबर 228 में रहता था।

IIT-BHU के हॉस्टल में आत्महत्या करने वाला छात्र भगवान सिंह। (फाइल फोटो)
IIT-BHU के हॉस्टल में आत्महत्या करने वाला छात्र भगवान सिंह। (फाइल फोटो)

शनिवार दिन में ही लगा ली थी फांसी
भगवान ने फांसी शनिवार को दिन में ही लगा ली थी, मगर कमरा बंद होने पता नहीं चल सका। देर रात जब दूसरे छात्रों को अनहोनी का शक हुआ तो किसी तरह गेट खुलवाया तो देखा कि रस्सी के सहारे पंखे से उसका शव लटक रहा है। उन्होंने तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी।

शनिवार देर रात फांसी की सूचना पर लंका थाना समेत कई अधिकारी विश्वश्वरैया हॉस्टल पहुंचे थे।
शनिवार देर रात फांसी की सूचना पर लंका थाना समेत कई अधिकारी विश्वश्वरैया हॉस्टल पहुंचे थे।

पिता बोले- बेटे का सेलेक्शन नहीं हुआ था, इसलिए था परेशान
पिता कृष्ण कुमार सिंह ने बताया, ''दो दिन पहले प्लेसमेंट का रिजल्ट घोषित हुआ था। उसमें बेटे का सेलेक्शन नहीं हुआ था। इस वजह से वह काफी टेंशन में आ गया था। वह काफी परेशान था। इस वजह से उसने इस तरह का कदम उठाया होगा।'' डिपार्टमेंट के छात्रों ने कहा, ''प्लेसमेंट हुआ था, मगर कंपनी और पैकेज मन मुताबिक नहीं मिला।''

मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग के अध्यक्ष प्रो. संतोष कुमार ने कहा, ''यह हमारे विभाग का एक बहुत बड़ा लॉस है। जल्द ही वह अपनी थीसिस विभाग में सबमिट करने वाला था।''

IT-BHU स्थित विश्वश्वरैया हॉस्टल के बाहर पसरा सन्नाटा।
IT-BHU स्थित विश्वश्वरैया हॉस्टल के बाहर पसरा सन्नाटा।

एसपी बोले- मोबाइल और लैपटॉप से खुलेगा राज
एसीपी भेलूपुर प्रवीण कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस जांच में यह बात सामने आई है कि वह प्लेसमेंट न होने से परेशान था। अपने दोस्तों से वह अक्सर इस पर बातचीत करता था। आशंका है कि इसी वजह से उसने यह कदम उठाया होगा। पुलिस इस मामले की हर एंगल से जांच कर रही है। मोबाइल-लैपटॉप की जांच के लिए उसे जब्त किया गया है। उसमें कोई ठोस सबूत मिल सकते हैं। अभी तक उसे छात्र के कमरे से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

ये तस्वीर IIT-BHU के हॉस्टल की है। इसी हॉस्टल में छात्र भगवान रहता था।
ये तस्वीर IIT-BHU के हॉस्टल की है। इसी हॉस्टल में छात्र भगवान रहता था।

BHU प्रशासन ने साधी चुप्पी
फिलहाल, विश्वश्वरैया हॉस्टल के अंदर प्रॉक्टोरियल बोर्ड के अधिकारी और सुरक्षाकर्मी पहुंचे हैं। IIT-BHU की ओर से कोई आधिकारिक बयान अभी नहीं आया है। न ही चीफ प्रॉक्टर और वार्डेन फोन उठा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...