पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

SIT मंत्री के बेटे से पूछ रही 15 सवाल:हर जवाब को जस का तस लिख रही है अफसरों की टीम, तफ्तीश का सबसे अहम सवाल- हिंसा के समय कहां था आशीष?

लखनऊ10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लखीमपुर खीरी हिंसा के मुख्य आरोपी और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे ने क्राइम ब्रांच के आगे सरेंडर कर दिया है। मजिस्ट्रेट के सामने SIT आशीष से पूछताछ कर रही है। इसके लिए टीम ने 15 सवालों की लिस्ट बनाई है और उसके बयान को जस का तस लिख रही है। SIT का पहले हिस्सा रहे 2 रिटायर्ड पुलिस अफसरों का कहना है कि सबसे अहम सवाल यह है कि हिंसा के समय आशीष कहां था?

दूसरी अहम बात यह है कि आशीष के पास ऐसे कौन से ठोस और तथ्यपरक साक्ष्य हैं, जिनके आधार पर उसका दावा है कि वह हिंसा के दौरान घटनास्थल पर मौजूद नहीं था। इन्हीं दो बिंदुओं के आधार पर आशीष के खिलाफ दर्ज मुकदमे की तफ्तीश आगे बढ़ेगी। मुकदमे की विवेचना अच्छे से होगी तो हिंसा में आशीष की भूमिका की गुत्थी परत दर परत बेहद आसानी के साथ सुलझ जाएगी और सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा।

आशीष से पूछे जा रहे 15 सवालों की लिस्ट-

1. हिंसा के समय तुम कहां थे?

2. प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि हिंसा के समय तुम घटनास्थल पर ही एक वाहन में थे। तुम्हारे काफिले में कितने वाहन थे?

3. तुम्हारे वाहन में और कौन-कौन लोग बैठे हुए थे?

4. जिस वाहन में तुम थे, वह किसका था?

5. वाहन में तुम किधर बैठे थे? वाहन को कौन चला रहा था?

6. जब तुम्हारा वाहन घटनास्थल पर पहुंचा तो भीड़ कितनी थी?

7. भीड़ सड़क पर क्या कर रही थी? क्या भीड़ तुम्हारे वाहनों का रास्ता रोक रही थी?

8. जब पहला आदमी वाहन से टकराया तो वाहन रोका क्यों नही?

9. तुम्हारे पास लाइसेंसी हथियार है या नहीं है? तुम्हारे साथ वाहन में किस-किस के पास लाइसेंसी हथियार थे?

10. फायरिंग की आवाज वाहनों से कैसे आ रही थी?

11. सोशल मीडिया पर कई वीडियो हैं जो घटनास्थल पर तुम्हारी उपस्थिति साबित कर रहे हैं?

12. यदि घटनास्थल पर नहीं थे तो एफआईआर होने के बाद तुम भूमिगत क्यों हुए? नोटिस जारी होने के बाद भी पेश क्यों नहीं हुए?

13. तुम किस आधार पर दावा करते हो कि हिंसा के दौरान तुम घटनास्थल पर नहीं थे?

14. तुम घटनास्थल पर न होने के दावे के समर्थन में जो वीडियो दिखा रहे हो, उनकी सत्यता का आधार क्या है?

15. तुम्हारे दावे और उपलब्ध कराए गए साक्ष्य पर पुलिस भरोसा क्यों करे, जब तुमने अब तक कोई सहयोग हीं नहीं किया?

आशीष पर IPC की इन धाराओं में दर्ज है केस

  • धारा 120 B - आपराधिक साजिश रचना
  • धारा 147, 148, 149 - दंगों से संबंधित
  • धारा 279 - लापरवाही पूर्वक वाहन चलाना
  • धारा 302 - हत्या
  • धारा 304 A - लापरवाही से हत्या
  • धारा 338 - किसी व्यक्ति को ऐसी चोट पहुंचाना जिससे उसकी जान को खतरा हो
खबरें और भी हैं...