पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कातिल मांझे ने काट दी जिंदगी की डोर:वाराणसी में चाइनीज मांझे की चपेट में आकर घायल हुए बुजुर्ग की मौत; परिजनों में मचा कोहराम

वाराणसी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वैश अंसारी। (फाइल फोटो) - Money Bhaskar
वैश अंसारी। (फाइल फोटो)

वाराणसी में जानलेवा चाइनीज मांझे से गंभीर रूप से घायल हुए बिजली विभाग के सेवानिवृत्त जूनियर इंजीनियर रामनगर के गोलाघाट निवासी वैश अंसारी (65) की शनिवार को मौत हो गई। परिजनों ने बताया कि बीती 8 जनवरी को सामने घाट पुल पर जानलेवा मांझे से वैश की नाक और गला कट गया था। बीएचयू ट्रॉमा सेंटर में उनका उपचार कराया गया था और उन्हें 8 टांके लगे थे। इसके बाद वह घर आ गए थे।

शनिवार को अचानक उनके सीने में दर्द के साथ ही सांस लेने में तकलीफ हुई तो उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। वैश अंसारी की मौत से उनकी पत्नी बिलकिस बेगम, बेटे तौसीफ और बेटी पुत्री इमा, शमा व आयशा का रो-रोकर बुरा हाल था ।

पुलिस कार्रवाई की, लेकिन नाकाफी साबित हुई

मकर संक्रांति के समय काशी में पतंगबाजी का शौक शबाब पर होता है। आसानी से टूट न पाने वाला चाइनीज मांझा पतंगबाजी के शौकीनों की पहली पसंद होता है। पुलिस देरी से सही लेकिन 13 जनवरी से सक्रिय हुई तो चौक और लालपुर पांडेयपुर क्षेत्र में चाइनीज मंझा बेचने वालों पर कार्रवाई भी हुई। लेकिन, वह नाकाफी साबित हुई और लोग शनिवार को भी चाइनीज मंझे से धड़ल्ले से पतंग उड़ाते नजर आए।

बीते 1 माह में कई लोग घायल हुए

हाल के दिनों में चाइनीज मांझे से शहर में कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। बीती 13 जनवरी की शाम ककरमत्ता फ्लाईओवर पर बाइक सवार BLW कर्मी पंकज पांडेय चाइनीज मांझे की चपेट में आने से गंभीर रूप से घायल हो गए थे। 8 जनवरी को आशापुर निवासी पवन कुमार सिंह मांझे की चपेट में आकर घायल हो गए थे।

21 दिसंबर को सीरगोवर्धनपुर निवासी दिलीप यादव का डाफी में चाइनीज मांझे से हाथ कट गया था। 19 दिसंबर को कपसेठी बाजार में भदोही जिले के चौरी निवासी मोहम्मद कैफ और मोहम्मद सैफ का चाइनीज मांझे से गला कट गया था। 15 दिसंबर को चौबेपुर क्षेत्र के संदहा निवासी अनिल कुमार चौहान का चाइनीज मांझे से नाक और गला कट गया था।

खबरें और भी हैं...